Champions Portal Msme : बिज़नेस करने के लिए बैंक लोन ना दे तो यहाँ करे शिकायत

Champions Portal : भारत सरकार की ओर से 20 लाख करोड़ रुपए के आत्मनिर्भर भारत पैकेज का ऐलान किया गया जिससे कोरोना संकट से सुस्त पड़ी अर्थव्यवस्था को गति दिया जा सके इस पैकेज का ऐलान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने किया था जिसके उन्होंने अलग अलग चरणों में बताया की 20 लाख करोड़ रुपए के पैकेज में से किस सेक्टर को कितने रुपए की मदद दी जायगी।

केंद्रीय कैबिनेट ने सोमवार को कई अहम फैसलों पर अपनी मुहर लगायी इन फैसलों से जहां अन्नदाताओं, मजदूरों व श्रमिकों के जीवन में बड़े सकारात्मक बदलाव आने की उम्मीद है. वहीं, समस्याओं से जूझ रहे सूक्ष्म, लघु व मझोले उद्यमियों को आत्मनिर्भर बनने में बड़ी सहायता मिलेगी।

एमएसएमई के लिए :

एमएसएमई को बिना गारंटी के तीन लाख करोड़ रुपये का लोन दिया जाएगा जिससे 45 लाख एमएसएमई को इसके तहत फायदा होगा। जिस MSME का टर्नओवर 100 करोड़ है वे 25 करोड़ तक लोन ले सकते हैं। जो लोन दिया जाएगा उसे चार सालों में चुकाना होगा। 31 अक्तूबर 2020 से एमएसएमई को लोन की सुविधा मिलेगी। 

  • माइक्रो यूनिट में 25 हजार रुपये तक का निवेश माना जाता था। इसे बदलकर 1 करोड़ रुपये किया गया है। साथ ही अगर टर्नओवर 5 करोड़ तक का है, तब भी आप माइक्रो यूनिट के अंदर ही आएंगे।
  • संकट में फंसे एमएसएमइ को मदद के लिए 50,000 करोड़ रुपये की इक्विटी पूंजी डालने को मंजूरी दी गई है वही ऋण नहीं लौटा सके एमएसएमइ के लिए 20,000 करोड़ रुपये का कर्ज उपलब्ध कराने को मंजूरी दी गई है।
  • मझौले उद्यमों के लिए कारोबार सीमा संशोधित कर 250 करोड़ रुपये किया गया है साथ ही 10,000 करोड़ रुपये का फंड ऑफ फंड’ का भी गठन होगा।

फुटपाथ विक्रेता व रेहड़ी वालों के लिए:

  1. रेहड़ी पटरीवालों के लिए विशेष ऋण योजना को मिली मंजूरी दी गई है
  2. फुटपाथ विक्रेताओं और रेहड़ी पटरी वालों को 10 हजार रुपये तक कर्ज मिलेगा
  3. रेहड़ी पटरी वालों के लिए प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडरआत्मनिर्भर निधि का गठन गया गया है
  4. कर्ज को मासिक किस्तों में एक साल में लौटा सकते हैं
  5. समय से भुगतान में सात प्रतिशत वार्षिक ब्याज सब्सिडी के रूप में लाभार्थी के खाते में डाले जायेंगे

किसानों के लिए:

  • 14 फसलों पर किसानों को आने वाली लागत का डेढ़ गुना तक ज्यादा कीमत मिलेगी
  • किसानों को खेती से जुड़ी अन्य गतविधियों को भी वित्तीय मदद दी जायेगी
  • धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य अब 1868 रुपये प्रति क्विंटल किया गया है
  • मक्के का प्रति क्विंटल 1,850 रुपये कर दिया गया है .
  • उड़द का एमएसपी प्रति क्विंटल 300 रुपये बढ़ा कर 600 रुपये कर दिया गया है
  • अरहर का भी 200 रुपये बढ़ा कर 6000 रुपये किया गया है.

चैंपियन पोर्टल क्या है? | (what is champions portal?)

प्रधानमंत्री ने सोमवार को सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों (MSME) के लिए ‘चैंपियन’ पोर्टल (Champions Portal) लांच किया। इसके जरिये छोटे और मझोले उद्योगों की समस्याएं एक ही जगह पर निपट सकेंगी। यह Champions Portal एमएसएमई कारोबारियों को प्रोत्साहित करेगा। इस चैंपियन पोर्टल (Champions Portal) की मदद से शिकायतों को सुलझाया जाएगा और इस पोर्टल पर मिलने वाली शिकायतों को तय समय सीमा के अंदर निवारण भी किया जाएगा।

Labour Registration Bihar – बिहार लेबर रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन शुरू- श्रम संसाधन विभाग बिहार

इस चैंपियन पोर्टल (Champions Portal) से शिकायतों के हल के अलावा व्यापारियों को प्रोत्साहित करने, समर्थन करने, मदद करने और व्यापार को बड़ा करने में मदद करेगा साथ ही उनके द्वारा बनाये गई प्रोडक्ट को नेशनल और इंटरनेशनल मार्केट्स में आपूर्ति करना शामिल है चैंपियन पोर्टल के जरिए व्यापारियों की शिकायतों का समाधान सात दिन के भीतर किया जाएगा।

champions-portal

चैंपियन पोर्टल (Champions Portal) का फुल फॉर्म “Creation and Harmonium Applications of Modern Processes for Increasing the Output and National Strength” है

चैंपियन पोर्टल से किसी भी प्रकार का शिकायत करने के लिए सबसे पहले चैंपियन पोर्टल के ऑफिसियल वेबसाइट https://www.champions.gov.in/ पर जाना होगा इस पोर्टल पर ऊपर में ही REGISTER GRIEVANCE का ऑप्शन देखेगा जिस पर क्लिक करना होगा जहाँ सभी जानकारी भर प्रकिर्या को पूर्ण करना होगा.

champions-portal-msme-launched-by-pm-modi

शिकायत करने का सभी स्टेप देखने के लिए नीचे दिए गए वीडियो को देखे जिससे आपको पता चल जायेगा की चैंपियन पोर्टल से कैसे शिकायत कर सकते है

20 लाख करोड़ रुपए पैकेज का गणित जाने कहां कितना खर्च

Part 1

SNITEM(Rs. Cr.)
1Emergency W/CFacility ror Busbiessts, incl MSMEs3,00,000
2Subordinate Debt ror Stressed MSMEs20,000
3Fund or Funds ror MSME50,000
4.EPF Support for Busilless & Workers2800
5.Reduction in EPF rates6750
6.Specialliquidity Scbeme ror NBFC/HFC/MFIs30,000
7.Panlal credlt guarantee Scheme 2.0 for Liabilities or NBFCs/MFIs45,000
8.LlquJdlty lajectlon for DISCOMs90,000
9.Reduction illTDSITCSrates50,000
Sub Total5,94,550

Part 2

SNITEM(Rs. Cr.)
I.Free Food grain Supply to Migrant Workers for 2 months3500
2.Interest Subvention for Mudra Shishu Loans1500
3Special Credit Faclllty to Street Vendors5000
4Housing CLSS-MIG70,000
5Additional Emergency Working Capital through NABARD30,000
6Additional credit thought KCC2,00.000
Sub-Total3,10,000

Part 3

Sl’iITEM(Rs.Cr.)
I.Food Micro enterprises10,000
2.Prabhan Mantri Matsya Sampada Yojna20,000
3.TOP to TOTAL: Operation Greens500
4.Agri Infrastructure Fund1,00,000
s.Animal Husbandry lnfrastructure Development Fund15,000
6Promotion of Herbal Cultivation4,000
7Beekeeping Initiatlve500
Sub-Total1,50,000

Part 4 & 5

SNITEM(RJ. Cr.)
IViability Gap Funding8,100
:Additional MGNREGS allocation40,000
Sub-Total48,100

GRAND TOTAL

SNITEM (Rs.Cr.)
1Part 1 5.94.550
2Part 2 3,10.000
3Part 3 1,50,000
4Part 4 & 5 48.100
Sub-Total11,02,650
5Earlier Measuresilld PMGKP(etirlier slide)1.92.800
6RBI Measures (Actual) 8.01.603
Sub Total9,94,403
GRAND TOTAL20,97,053

ओबीसी नॉन क्रीमी लेयर सर्टिफिकेट ऑनलाइन आवेदन करे

2 thoughts on “Champions Portal Msme : बिज़नेस करने के लिए बैंक लोन ना दे तो यहाँ करे शिकायत”

  1. Pingback: पीएम स्वनिधि योजना (PM SVANidhi) 2022 ऑनलाइन आवेदन

  2. Pingback: SFURTI Yojana 2022 Registration Online Apply - Vijay Solutions

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *