डीयू कटऑफ 2021 – आठ कॉलेज में पहली कटऑफ 100 तक गई

दिल्ली विश्वविद्यालय ने स्नातक प्रवेश के लिए शुक्रवार को पहली डीयू कटऑफ 2021 जारी की। पहली बार रिकार्ड आठ कॉलेजों ने सामान्य वर्ग के लिए 100 फीसदी कटऑफ निकाली है। हालांकि, सर्वश्रेष्ठ रैकिंग वाले मिरांडा हाउस कॉलेज तथा विगत वर्ष तीन विषयों में 100 फीसद कटऑफ निकालने वाले लेडी श्रीराम कॉलेज फॉर वुमन ने अपनी कटऑफ 100 फीसदी नहीं रखी है।

शत प्रतिशत कटऑफ वाले कॉलेजों में एसआरसीसी,हंसराज, हिंदू, रामजस व एसजीटीबी खालसा कॉलेज डीयू नार्थ कैंपस के हैं बाकी शहीद सुखदेव कॉलेज ऑफ बिजनेस स्टडीज, दीन दयाल उपाध्याय कॉलेज तथा जीजस एंड मेरी कॉलेज हैं। साइंस, आर्ट और कॉमर्स के अलावा बीए प्रोग्राम विषयों में भी कटऑफ में विगत वर्ष की अपेक्षा कई कॉलेजों ने एक से तीन फीसद तक बढोतरी की है। काफी विषयों में यह बढोतरी बहुत ज्यादा है।

इन कॉलेजों में शत प्रतिशत

  1. हिंदू कॉलेज राजनीति विज्ञान
  2. रामजस कॉलेज राजनीति विज्ञान
  3. एसआरसीसी कॉलेज बीए इकोनोमिक्स ऑनर्स
  4. एसआरसीसी कॉलेज बीकॉम ऑनर्स
  5. एसजीटीबी खालसा कॉलेज बीकाम
  6. डीडीयू कॉलेज कंप्यूटर साइंस
  7. हंसराज कॉलेज कंप्यूटर साइंस
  8. रामजस कॉलेज बीएससी ऑनर्स फिजिक्स
  9. सुखदेव कॉलेज ऑफ बिजनेस स्टडीज कंप्यूटर साइंस
  10. जीजस एंड मेरी कॉलेज साइकोलॉजी
  11. रामजस कॉलेज बीए प्रोग्राम

du cut off 2021 pdf download

डीयू कटऑफ 2021प्रमुख विषयों में 98 फीसदी से अधिक कटऑफ

दिल्ली यूनिवर्सिटी के कॉलेजों के द्वारा सत्र 2021-22 में एडमिशन के लिए पहली डीयू कटऑफ लिस्ट 2021 जारी कर दी है जिससे काफी वृद्धि की गई है डीयू के लगभग सभी कॉलेजों ने पिछले साल से तुलना में अपने सभी विषयो में एक से पांच प्रतिशत तक की वृद्धि की है। काफी ऐसे कॉलेज है जिसने अपने मुख्य विषय में कटऑफ 98 प्रतिशत तक रखा है यही नहीं जिन कॉलेज में 100 प्रतिशत कटऑफ नहीं रखी गई है उस कॉलेज में भी मुख्य विषय की कटऑफ 100% रखी गई है.

Simultala online form 2022-23 for Class 6th Admission

अभी तक के इतिहास में पहली बार देखा गया है की किसी कॉलेज ने बीए में भी कटऑफ 100% राखी है साथ ही 70 से ज्यादा ऐसे विषय है जिसमे बीए में 99 परसेंट या उससे ज्यादा है पहले बीए के रेगुलर कोर्स में कटऑफ कम ही होता था मोतीलाल नेहरू कॉलेज ने बीए इंग्लिश और पोलिटिकल साइंस के कंबीनेशन में 99.25% कटऑफ रखा है

डीयू कटऑफ 2021

डीयू कटऑफ 2021 साइंस, कामर्स और आर्ट के विषयों में भी कटऑफ में काफी बढोतरी

साइंस, कामर्स और आर्ट विषयों में दिल्ली यूनिवर्सिटी के द्वारा कटऑफ में काफी बढोतरी की गई है हंसराज कॉलेज के द्वारा 16 विषयों में 98% से लेकर 99.75% के बीच कटऑफ रखी है। ऐसा पहली बार हुआ है जब हंसराज कॉलेज द्वारा साइंस और आर्ट विषयों में ऐसे कटऑफ रखी गई है इसी तरह, किरोड़ीमल कॉलेज के द्वारा 100% कटऑफ तो नहीं रखी है, लेकिन राजनीति विज्ञान, बीकाम ऑनर्स व बीकाम में 99.75 फीसदी कटऑफ रखी है। यह पूर्व की पहली कटऑफ की अपेक्षा .25 से 2 फीसदी तक अधिक है।

जिस तरह सीबीएसई सहित अन्य बोर्ड में छात्रों के 100 फीसदी अंक आए हैं, उससे यह अनुमान लगाया जा रहा था कि कॉलेज पहली कटऑफ अधिक रखेंगे। कॉलेजों ने अपने यहां मूलभूत सुविधाएं और सीटों की संख्या को देखते हुए कटऑफ रखी है।

– प्रो.राजीव गुप्ता, अध्यक्ष, दाखिला समिति

एलएसआर कॉलेज ने अपने यहां प्रमुख विषयों में मात्र .25 फीसद कटऑफ में कमी की

एलएसआर कॉलेज के द्वारा प्रमुख विषयों में पिछले साल से मात्र .25 फीसद कटऑफ में कमी की है। आपके जानकारी के लिए बता दू पिछले साल तीन विषयों में 100 फीसदी कटऑफ रखी थी। इस बार भी आर कॉलेज ने 8 विषयों में 99% या उससे अधिक कटऑफ रखी है। तीन विषय राजनीति विज्ञान, साइकोलॉजी व बीकाम ऑनर्स में कॉलेज ने 99.75 फीसदी कटऑफ रखी है। वहीं, इकोनोमिक्स ऑनर्स में 99.50 फीसदी, स्टैटिस्टिक्स 99.25 फीसदी, अंग्रेजी व जर्नलिज्म में 99 फीसदी और हिस्ट्री ऑनर्स में 99.25 फीसदी कटऑफ कॉलेज ने रखी है।

वहीं, साउथ कैंपस के ही एआरएसडी कॉलेज ने 20 विषयों में से 10 विषयों में 98 या उससे अधिक कटऑफ निकाला है। बीकाम ऑनर्स व कंप्यूटर साइंस में 99 फीसदी कॉलेज ने कटऑफ निकाला है। साउथ कैंपस के कई ऐसे कॉलेज और हैं जिन्होंने अपनी कटऑफ काफी बढ़ाई है।

इस साल 12वीं में 100 फीसदी अंक पाने वाले छात्रों की संख्या में इजाफा हुआ है। यदि कटऑफ कम रखी जाती है तो सीटों पर निर्धारित संख्या से अधिक छात्र आ जाएंगे। हमारे यहां तीन विषयों में 100 फीसदी रखने का यह प्रमुख कारण है।

प्रो. मनोज खन्ना, प्रिंसिपल, रामजस कॉलेज

10 हजार से अधिक छात्रों के 12वीं में 100 फीसदी अंक

डीयू में 10 हजार से अधिक उन छात्रों ने आवेदन किया है जिनके 100 फीसदी अंक 12वीं में हैं। इस साल रिकॉर्ड स्तर पर सीबीएसई से 12वीं में छात्रों ने 95 फीसदी से अधिक अंक अर्जित किए हैं। सीबीएसई के मुताबिक 70,000 से अधिक छात्रों ने 95 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त किए। वहीं, करीब डेढ़ लाख छात्रों ने 90 प्रतिशत अंक प्राप्त किए है। डीयू मेंजो आवेदन आए हैं उसमें से 2.29 लाख छात्र सीबीएसई से सबद्ध स्कूलों के हैं। इसके बाद हरियाणा स्कूल शिक्षा बोर्ड (9,918), काउंसिल फॉर इंडियन स्कूल सर्टिफिकेशन एग्जामिनेशन (9,659) और यूपी बोर्ड (8007) के छात्रों का स्थान है।

कंप्यूटर साइंस में 100 फीसदी कटऑफ रखने की सबसे बड़ी वजह यह है कि डीयू में आवेदन करने वाले छात्रों में 1200 ऐसे हैं, जिनके इस विषय में 100 फीसदी अंक हैं। यदि कटऑफ कम रखी जाती है तो परेशानी बढ़ेगी। पूर्व में भी हमारे यहां कंप्यूटर साइंस की बेहतर शिक्षा होने के कारण सीटें जल्द भर जाती रही हैं।

– डॉ. हेमचंद जैन,
प्रिंसिपल, दीन दयाल उपाध्याय कॉलेज

एक दशक बाद एसआरसीसी ने इतिहास दोहराया

डीयू के श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स (एसआरसीसी) में वर्ष 2011 में बीकाम ऑनर्स में 100 फीसदी कटऑफ गई थी। उसके एक दशक बाद फिर उस कॉलेज ने इतिहास दोहराया है। हालांकि, इस बार उसके यहां संचालित दोनों विषयों में 100 फीसदी कटऑफ सामान्य वर्ग में कॉलेज ने निर्धारित की है। एसआरसीसी की प्रिंसिपल प्रो. सिमरित कौर का कहना है बड़ी संख्या में ऐसे छात्र हैं जिनके 100 फीसदी अंक हैं और यह पता नहीं है कि वह किस कोर्स का चुनाव करेंगे।

इससे पहले, दिल्ली विश्वविद्यालय के फॉर्म में एक कॉलम होता था जहां छात्र अपने पाठ्यक्रम और कॉलेज की वरीयता के बारे में बताते थे, लेकिन कुछ वर्षों से इसे बंद कर दिया गया है। इससे हमें अनुमान लगाने में मदद मिलती थी। ज्ञात हो कि वर्ष 2015 में डीयू से संबद्ध कॉलेज ऑफ वोकेशनल स्टडीज और इंद्रप्रस्थ कॉलेज फॉर वूमेन ने बीएससी ऑनर्स कम्प्यूटर साइंस में दाखिला के लिए 100 फीसदी कटऑफ जारी की थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!