प्रोडक्ट डिजाइनिंग कोर्स कर प्रोडक्ट डिज़ाइनर कैसे बनें | Product Designing Courses

पूरी दुनिया के लोग प्रत्येक दिन अपने जरुरत के सामान के लिए कई तरह के प्रोडक्ट्स का उपयोग करते हैं. उस प्रोडक्ट को बाजार में उतारने से पहले कंपनी की ओर उसकी डिजाइनिंग पर काफी रिसर्च और प्रयोग किए जाते हैं। ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि प्रोडक्ट की लोकप्रियता डिजाइन से भी होती है डिजाइनिंग के माध्यम से ही कम्पनी किसी भी प्रोडक्ट को दर्शनीय और उपयोग में आसान बनाती है। इसीलिए प्रोडक्ट डिजाइनिंग (Product Designing) का करियर रचनात्मकता के साथ ही गहन शोधपरक भी है। ऐसे में अगर आप प्रोडक्ट डिजाइनिंग कोर्स (Product Designing Courses) कर प्रोडक्ट डिज़ाइनर (product designer) के रूप में अपना करियर बनाना चाहते है तो देश से लेकर विदेश तक आशाजनक ग्रोथ के साथ अवसर मौजूद है

किसी भी प्रोडक्ट को खरीदने में ग्राहकों के लिए आकर्षक डिजाइन आज के समय में जरूरी होता जा रहा है। जिसके कारण बड़ी-बड़ी कंपनियां प्रोडक्ट की डिजाइनिंग पर खास ध्यान देने लगी हैं। जिसके लिए प्रोडक्ट डिजाइनिंग (Product Designing) करने वाले प्रोफेशनल को हायर करते है

product-design-courses-in-india
product-design-courses-in-india

कपड़ा, ज्वेलरी, बच्चों के खिलौने, स्मार्टफोन, कंप्यूटर, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, एप्लाइंसेस से लेकर ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री तक में प्रोडक्ट डिजाइनिंग को जरूरी पहलू होता जा रहा है। ऐसे में प्रोडक्ट डिजाइनिंग तेजी से इंडस्ट्री में अपनी जगह बनाता हुआ करियर है। अगर आपको उत्पादों की डिजाइनिंग में रुचि है तो इस क्षेत्र में अपनी क्रिएटिविटी का इस्तेमाल कर अपना सफल करियर बना सकते हैं।

प्रोडक्ट डिज़ाइनर (Product Designer) क्या होता है?

एक प्रोडक्ट डिज़ाइनर (Product Designer) डिज़ाइन विशेषज्ञ होता है, जो लोगो के रोजमर्रा के उपयोग में आने वाले उत्पादों के डिज़ाइन करने और विकसित करने का काम करता है। एक प्रोडक्ट डिज़ाइनर का काम उत्पाद की रूप रेखा , उसकी कार्यप्रणाली, सामग्री, निर्माण प्रक्रिया और उसके प्रयोग के महत्त्व पर ध्यान केंद्रित कारण होता है। प्रोडक्ट डिज़ाइनर का उद्देश्य डिज़ाइन के माध्यम से समस्याओं को हल करना है। जिसके कारण आप देखेंगे कि प्रत्येक वर्ष वही उत्पाद बेहतर डिज़ाइन के साथ आते हैं , क्योंकि उन्हें उपभोक्ताओं से प्राप्त फीडबैक के आधार पर बेहतर प्रोडक्ट डिज़ाइनर द्वारा बनाया जाता है।

प्रोडक्ट डिज़ाइनर का काम क्या होता है ?

प्रोडक्ट डिज़ाइनर सबसे पहले प्रोडक्ट में इस्तेमाल होने वाली सामग्री का चयन करते हैं और शुरुआती डिजाइनों को ड्रॉ करते हैं। किसी भी चीज को डिजाइन करते समय उसकी बनावट और उपयोग पर विशेष ध्यान दिया जाता है। प्रोडक्ट डिजाइनर इस बात पर भी विचार करते हैं कि बाजार में उस उत्पाद की कितने समय तक मांग बनी रहेगी। साथ ही उन्हें संस्थान के दूसरे विभागों की जरूरत के साथ तालमेल बनाकर ही अपना काम करना होता है।

product-designing-courses-after-12th
product-designing-courses-after-12th

नए उत्पादों की माँग बढ़ने के साथ – साथ  कला और डिज़ाइन व्यवसाय के लिए नौकरी के अवसर, उच्च दर से बढ़ने की उम्मीद है। मटेरियल साइंस  एक नया उभरता हुआ क्षेत्र है, अतः यह इंडस्ट्रियल प्रोडक्ट डिज़ाइनरों के लिए भी एक उच्च संभावनाएँ प्रदान करता है। साथ ही, उपभोक्ता उत्पादों, गैजेट्स और चिकित्सा उपकरणों की माँग बढ़ रही है, जिससे इन प्रोडक्ट डिज़ाइनर की माँग बढ़ेगी। यदि आपके पास 2 डी और 3 डी सीएडी और सीएआईडी की मज़बूत पृष्ठभूमि है, तो आपको भविष्य में अधिक अवसर मिलेंगे। 

प्रोडक्ट डिजाइनिंग कोर्स के लिए जरूरी कौशल

प्रोडक्ट डिजाइनिंग कोर्स (product designing courses) करने वाले उम्मीदवारों को ड्राइंग में अच्छा होना चाहिए और ग्राहक की जरूरतों को समझने की क्षमता भी होनी चाहिए। कलात्मकता, रचनात्मकता, तार्किक सोच के साथ-साथ संचार व दूरदर्शिता, किसी प्रोडक्ट डिजाइनर के लिए जरूरी कौशल हैं। साथ ही वर्तमान में चल रहे ट्रेंड्स से अपडेट रहने के साथ साथ उपभोक्ताओं की पसंद-नापसंद की समझ भी जरूरी है। एक प्रोडक्ट डिज़ाइनर को टीम वर्क करने की अच्छी समझ होनी चाहिए क्योकि ग्राफिक डिजाइनरों, एडवरटाइजिंग और प्रोडक्शन टीम के साथ-साथ मार्केटिंग टीम के साथ काम करना होता है।

सबसे मुख्य काम ड्रॉइंग के जरिये अपने विचारों को अभिव्यक्त करने का हुनर आना चाहिए। तकनीकी जानकारी, विभिन्न तरह के मैटीरियल्स की जानकारी और तुलनात्मक ढंग से सोचने-समझने का कौशल होना भी जरूरी है। 2 डी और 3 डी कंप्यूटर एडेड डिज़ाइन्स (सीएडी) और कंप्यूटर एडेड इंडस्ट्रियल डिज़ाइन (सीएआईडी) बनाने के लिए सॉफ्टवेयर का उपयोग करना आना चाहिए ताकि मैन्युफैक्चरर्स और प्रोडक्शन डिपार्टमेंट को मदद मिल सके।

Product Designing Courses Education Qualification | प्रोडक्ट डिजाइनिंग योग्यता

प्रोडक्ट डिज़ाइनर बनने के लिए प्रोडक्ट डिजाइनिंग कोर्स (Product Designing Courses) करना होगा. जो कि 12 वीं के बाद बैचलर्स, पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा, सर्टिफिकेट या मास्टर्स कोर्स कर सकते है। अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट स्तर पर संस्थानों में दाखिले के लिए कई प्रवेश परीक्षाओं का आयोजन भी किया जाता है। जिसमे प्रमुख इस प्रकार हैं।

  • अंडरग्रेजुएट कॉमन एंट्रेंस एग्जामिनेशन ऑफ डिजाइन (यूसीईईडी)
  • ऑल इंडिया एंट्रेंस एग्जाम फॉर डिजाइन (एआईईईडी)
  • कॉमन एंट्रेस एग्जामिनेशन फॉर डिजाइन (सीईईडी)

सीईईडी परीक्षा आईआईटी, मुंबई द्वारा की जाती है। ये सभी प्रवेश परीक्षाएं ऑनलाइन आयोजित की जाती हैं जो की बारहवीं पास करने के बाद कोई भी छात्र यह प्रवेश परीक्षा दे सकता हैं। परीक्षा के जरिये उम्मीदवार के जनरल एप्टीट्यूड टेस्ट और क्रिएटिव एप्टीट्यूड की परख भी की जाती है। कई प्राइवेट संस्थान अपनी अलग से प्रवेश परीक्षाएं भी आयोजित करते हैं।

यदि आपके पास आर्किटेक्चर या इंजीनियरिंग में डिग्री है और आप प्रोडक्ट डिजाइनिंग में जाने के इच्छुक हैं तो भी आईआईटी या नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन (एनआईडी) आदि संस्थानों से प्रॉडक्ट डिजाइन/इंडस्ट्रियल डिजाइनिंग में मास्टर की पढ़ाई करके इस क्षेत्र में करियर बना सकते हैं।

प्रोडक्ट डिजाइनिंग प्रमुख कॉलेज और यूनिवर्सिटीज़

  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन, गुजरात
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन, अहमदाबाद
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ आर्ट्स एंड डिजाइन, नई दिल्ली 
  • सिम्बायोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन,पुणे 
  • एमआइटी इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन, पुणे
  • श्याम यूनिवर्सिटी, दौसा, राजस्थान
  • इंडस्ट्रियल डिजाइन सेंटर, आइआइटी बॉम्बे
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस, बेंगलुरु
  • एमिटी यूनिवर्सिटी, नोएडा 
  • जीडी गोयनका यूनिवर्सिटी, गुरुग्राम 
  • आईडीसी, स्कूल ऑफ डिजाइन, पोवई, मुंबई
  • आईआईएलएम स्कूल ऑफ डिजाइन, गुरुग्राम 
  • डीएसके इंटरनेशनल स्कूल ऑफ डिजाइन, पुणे

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन, अहमदाबाद में चलाये जाने वाले कोर्स

कोर्स का नामयोग्यताअवधि
ग्रैजुएट डिप्लोमा प्रोग्राम इन फर्नीचर एंड इंटीरियर डिजाइन12वीं पास4 साल
पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा प्रोग्राम इन फर्नीचर एंड इंटीरियर डिजाइनडिग्री इन डिजाइन, इंजीनियरिंग,
टेक्नोलॉजी और आर्किटेक्चर या
डिप्लोमा इन इंटीरियर डिजाइन और क्राफ्ट डिजाइन
2.5 साल

नौकरी के अवसर-प्रोडक्ट डिजाइनिंग में

एक प्रोडक्ट डिज़ाइनर टेक्सटाइल इंडस्ट्री से लेकर मैन्युफैक्चरिंग फर्मों, डिजिटल मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक्स इंडस्ट्री, सेरामिक, फर्नीचर, फूड एंड पैकेजिंग इंडस्ट्री, कंस्ट्रक्शन, हार्डवेयर/ सॉफ्टवेयर,डिज़ाइनिंग कंसल्टेंसी फर्मों कारखानों, उद्योगों, आरएंडडी क्षेत्र, निजी सलाहकारों, सरकारी विभागों, कॉलेजों / विश्वविद्यालयों आदि तमाम कंपनियों में अपने लिए मौके तलाश कर सकते हैं।

स्टूडियो, कारख़ानों, उद्योगों, बिक्री और मार्केटिंग फर्मों में काम करने वाले डिजाइनरों से फुलटाइम काम करने की उम्मीद होगी। यदि आप एक सेल्फ एम्प्लॉयड या स्वतंत्र डिज़ाइनर हैं, तो आपके काम के घंटे फ्लेक्सिबल होंगे। कभी-कभी आपको डेडलाइन और टारगेट को पूरा करने के लिए सप्ताहांत और छुट्टियों पर काम करने की आवश्यकता होगी। 

Also Read.

बिजनेस एनालिस्ट ( Business Analysis ) कोर्स क्या है और कैसे करें

एप डेवलपमेंट क्या है? और एप डेवलपर कैसे बने? App Developer Course

प्रोडक्ट डिज़ाइनर सैलेरी | Product Designer Salary

सैलरी पैकेज इस पर भी निर्भर करता है कि उम्मीदवार ने पढ़ाई कहां से की है, उसकी दक्षता कैसी है और किस कंपनी में नौकरी मिली है। अनुभव के साथ मौके और वेतन दोनों बढ़ते जाते हैं।

  • ट्रेनी के रूप में प्रवेश स्तर पर, आपको लगभग  25,000 – 50,000 रूपए प्रति माह मिलेंगे। हालाँकि, यदि आप आईआईटी या अन्य प्रतिष्ठित कॉलेजों से स्नातक हैं, तो आप  50,000 – 1,00,000 रूपए प्रति माह तक कमा सकते हैं।  
  • 2-6 साल के अनुभव के साथ एक प्रोडक्ट डिज़ाइनर, लगभग  25,000 – 50,000 रूपए प्रति माह कमा सकते हैं, हालांकि अगर आप एक प्रतिष्ठित फर्म (या आईआईटी से) में काम करते हैं, तो आप लगभग  50,000 – 1,50,000 रूपए प्रति माह कमा सकते हैं।
  • 6-12 साल के अनुभव के साथ एक वरिष्ठ प्रोडक्ट डिज़ाइनर प्रति माह लगभग 50,000-2,00,000 रुपये तक कमा सकता है।
  • 15 से अधिक वर्षों के अनुभव के साथ वरिष्ठ स्तर पर, आप लगभग  1,00,000 – 3,00,000 रूपए प्रति माह तक कमा सकने की उम्मीद कर सकते हैं।
  • शैक्षणिक पक्ष में, एक सहायक प्रोफ़ेसर  के रूप में आप लगभग 25,000 से 60,000 रूपए प्रति माह और एसोसिएट प्रोफ़ेसर बनने के बाद, आप लगभग 1,00,000 से 1,50,000 रुपये प्रति माह अपने अनुभव के अनुसार और उच्च पदों पर जाने के बाद आप 2,00,000 – 2,50,000 रूपए प्रति माह कमाने की उम्मीद कर सकते हैं।

इस पोस्ट में हमने आपको बताया की प्रोडक्ट डिजाइनिंग कोर्स कैसे करें और प्रोडक्ट डिजाइनिंग (business analytics) करने के बाद कौन सी नौकरी मिल सकती है? हमें उम्मीद है की प्रोडक्ट डिज़ाइनर के बारे में आपको सभी जानकारी मिल गया होगा अगर प्रोडक्ट डिजाइनिंग कोर्स पोस्ट से सम्बंधित आपके पास कोई प्रश्न है तो कृपया कमेंट कर के पूछे हम उसका जबाब जल्द से जल्द देने के कोशिश करेंगे।

2 thoughts on “प्रोडक्ट डिजाइनिंग कोर्स कर प्रोडक्ट डिज़ाइनर कैसे बनें | Product Designing Courses”

  1. Pingback: बिहार बोर्ड किताब डाउनलोड करें पहली से 12वीं कक्षा तक के

  2. Pingback: निफ्ट प्रवेश परीक्षा (NIFT Entrance Exam) क्या है सभी जानकारी जानें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!