नर्स कैसे बने 2022 कोर्स कॉलेज- become nurse in India

नर्स कैसे बने: नर्सिंग मेडिकल क्षेत्र में एक लोकप्रिय पेशा है Nurse किसी भी हॉस्पिटल की एक महिला कर्मचारी होती है जो हॉस्पिटल के मरीजों की दवा, आदि का ख्याल रखती हैं आप कठिन समय में लोगों की मदद करने में अच्छे हैं तो नर्स कैसे बने के इस पोस्ट में आपको बताऊँगा की नर्स कैसे बने पूरी जानकरी के साथ.

नर्स कैसे बने (Nurse kaise bane) | Nursing course | नर्स क्या क्या कार्य करती है? (What is the nurse’s job) नर्स बनने के लिए क्या करना चाहिए? (What are the things one should do to become a nurse?) नर्स बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है? (What are the studies required to become a nurse?) नर्स का कोर्स कितने साल का होता है? How old is the nurse’s course? नर्सिंग कोर्स करने के लिए शैक्षिक योग्यता क्या आवश्यक है ​(What is educational qualification required to do nursing course) और बीएससी नर्सिंग के बाद डॉक्टर कैसे बने? इस सभी सवालो का जबाब इस पोस्ट में मिलेगा.

नर्स कैसे बने?

मेडिकल क्षेत्र में नर्स एक महत्पूर्ण पद है जिसमे नर्स द्वारा मरीज़ों की देखभाल करनी होती है जो किसी बीमारी से पीड़ित हैं, या किसी दुर्घटना के कारण चोट में हैं। किसी भी मरीज़ का इलाज डॉक्टर करता है लेकिन उस मरीज़ की देखभाल नर्स करती है एक नर्स को यह सुनिश्चित करना कर्तव्य होता है कि मरीज़ों के लिए डॉक्टरों द्वारा लिखी गई उपचार योजना का पालन किया जाए। एवं पूरी रिकवरी प्रक्रिया के दौरान मरीज़ों की मदद करें, और जरुरत पड़ने पर उनके परिवार को भावनात्मक सहायता और सांत्वना भी दे। अगर आप बीमारियों या चोटों से पीड़ित लोगों की देखभाल कर पाएंगे तो आप एक नर्स बन सकती है.

नर्स क्या क्या कार्य करती है?

आमतौर पर, नर्सें एक टीम के हिस्से के रूप में काम करते हैं और डॉक्टर, थेरेपिस्ट आदि सहित अन्य मेडिकल पेशेवरों और स्टाफ के साथ मिलकर काम करते हैं। वह मरीज़ों के Diagnostic ​​​और उपचार प्रक्रिया के दौरान चिकित्सकों की सहायता करते हैं और उनके ठीक होने तक उन्हें नर्सिंग सेवाएं देती हैं।

BSC-Nursing-course-salary-syllabus नर्स कैसे बने
BSC-Nursing-course-salary-syllabus

एक नर्स के रूप में आपको मरीज़ों की स्वास्थ्य स्थिति और लक्षणों का निरीक्षण, जाँच, रिकॉर्ड रखना और चिकित्सकों / सर्जनों को रिपोर्ट करना होता है। इसके अलावा, आपको अन्य काम भी करेंगे जैसे कि मरीज़ों के मेडिकल हिस्ट्री और रिपोर्ट के सटीक रिकॉर्ड को बनाए रखना, समय पर ढंग से मरीज़ों को दवा/इंजेक्शन देना, Diagnostic ​​परीक्षणों के लिए मरीज़ों को तैयार करना, विभिन्न परीक्षाओं और उपचार प्रक्रियाओं के लिए मरीज़ों को तैयार करना और जूनियर नर्सों को ट्रेन और सुपरवाइज़ करना, आदि।

मुख्य काम और जिम्मेदारियाँ

  • अपनी विशिष्ट ज़रूरतों/ शर्तों के अनुसार मरीज़ों की स्वास्थ्य संबंधी दिनचर्या का आकलन करना और योजना बनाना।
  • यह सुनिश्चित करना कि मरीज़ों के लिए डॉक्टर द्वारा दिया गया ट्रीटमेंट प्लान पूरी तरह से लागू किया जाए।
  • समय-समय पर से सावधानी से मरीज़ों को दवा / IV तरल पदार्थ की निर्धारित खुराक देना।
  • नैदानिक ​​परीक्षणों के लिए मरीज़ों का ब्लड सैंपल लेना, पल्स, तापमान और ब्लड प्रेशर चेक करना।
  • ड्रिप, ब्लड ट्रांसफ्यूश़न या खारे उपकरण को अच्छी तरह स्थापित करना।
  • मरीज़ की आपात (एमरजेंसी) स्थितियों पर तुरंत प्रतिक्रिया देना और ज़रूरी प्रक्रियाओं को पूरा करने में फ़िज़िशियन/ डाक्टर की मदद करना।
  • सभी ज़रूरी औपचारिकताओं को पूरा करके सर्जिकल प्रक्रियाओं से पहले मरीज़ों को तैयार करना और ऑपरेशन के बाद उनकी देखभाल करना।
  • मरीज़ों की स्थिति का निरीक्षण, जाँच और रिकॉर्ड करना और जब भी ज़रूरत हो, डॉक्टर-इन-चार्ज को रिपोर्ट करना/बताना।
  • मेडिकल / टेस्ट रिपोर्ट के साथ-साथ मरीज़ों की मेडिकल हिस्ट्री का भी सटीक रिकॉर्ड बनाए रखना।
  • मरीज़ों और उनके परिवार / रिश्तेदारों को भावनात्मक सहायता और स्वास्थ्य संबंधी सलाह देना।
  • स्टाफ को व्यवस्थित करने और कार्यभार को प्राथमिकता देना।
  •  सुपरवाइज़ करना।
  • थेराप्यूटिक और मेडिकल स्टैंडर्ड (मानकों) और नियमों का पालन करके मरीज़ की देखभाल करना।
  • स्टैंडर्ड मेडिकल प्रक्रियाओं, नियमों और विनियमों (रूल्स एंड रेगुलेशन) का पालन करके एक सुरक्षित और स्वच्छ कार्य वातावरण बनाए रखना।
  • प्रासंगिक प्रोफेशनल पब्लिकेशन्स, मेडिकल पत्रिकाओं, आदि को पढ़कर और नियमित रूप से एजुकेशनल वर्कशॉप और सेमिनारों में भाग लेकर मेडिकल और तकनीकी ज्ञान को अपडेट रखना।

नर्स बनने के लिए जरुरी skills

एक सफल नर्स बनने के लिए जरूरी शिक्षा के साथ कुछ निश्चित कौशल भी होने चाहिए जो इस प्रकार हैं:

  • चुकि नर्सों को रोगियों और चिकित्सक कर्मचारियों के साथ लगातार काम करना होता है, इसलिए एक नर्स के लिए अच्छा communication skills होना जरूरी है।
  • नर्स का काम बीमार और घायलों की देखभाल करना होता है इसलिए नर्स को दूसरों के दुख और दर्द को समझने की समझ होनी चाहिए।

नर्स बनने का कोर्स कब कर सकते है?

Nurse बनने का कोर्स 12वी के बाद कर सकते है जिसको नर्सिंग कोर्स कहते है इस नर्सिंग कोर्स में एडमिशन लेने के लिए सबसे पहले प्रवेश परीक्षा देना होगा. इस नर्सिंग प्रवेश परीक्षा में जितना अच्छा रैंक आएगा, उसी आधार पर उतना अच्छा कॉलेज/इंस्टिट्यूट में एडमिशन हो पायेगा. और आप उतने अच्छे नर्स बन पाएंगे।

Also Read…

  • पत्रकार कैसे बनें
  • खेल पत्रकार ​कैसे बने?
  • BDO Officer kaise bane?
  • डॉक्टर कैसे बने?
  • इंजीनियर कैसे बने?
  • एनर्जी मैनेजमेंट कोर्स कैसे करे?
  • कोडिंग क्या होता है?
  • एक्टर एक्ट्रेसेस कैसे बने?

नर्स बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है?

नर्स बनने के लिए नर्सिंग क्षेत्र में डिप्लोमा या डिग्री कोर्स कर सकते है नर्सिंग के लिए काफी प्रकार के कोर्स कॉलेज/इंस्टिट्यूट के द्वारा कराये जाते हैं छात्र/छात्रा अपनी योग्यता और रुचि के अनुसार किसी भी नर्सिंग कोर्स का चयन कर सकते है, नर्सिंग से सम्बंधित डिप्लोमा और डिग्री कोर्स कुछ इस प्रकार है:-

  • Auxiliary Nurse Midwife (ANM)
  • General Nursing & Midwifery (GNM)
  • Bachelor of Science in Nursing – BSC Nursing
  • Post Basic B.Sc Nursing
  • MSC Nursing

Indian Nursing Council के द्वारा 26 नवंबर 2020 को एक नई Notification जारी किया जिसके अनुसार से “Indian Nursing Council द्वारा लिए गए सिंगल एंट्री लेवल नर्सिंग के बारे में सभी निर्णय और पिछले नोटिस को वापस लेती है।” इसका मतलब साफ़ है कि GNM कोर्स हमेशा की तरह जारी रहेगा और छात्र इस कोर्स में प्रवेश ले सकते हैं। जीएनएम कोर्स अब बंद नहीं होगा।

नोटिफिकेशन देखने या डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Auxiliary Nurse Midwife (ANM) course

ANM का full फॉर्म Auxiliary Nurse Midwifery होता है। ANM नर्सिंग दो साल का डिप्लोमा कार्यक्रम है। इस दो वर्ष के कोर्स में छह महीने का अनिवार्य इंटर्नशिप शामिल है इंटर्नशिप पूरी होने के बाद ANM कोर्स का सर्टिफिकेट दे दिया जाता है। वैसे इच्छुक उम्मीदवार जो अंग्रेजी विषय के साथ Arts, commerce या Science Stream से कक्षा 12 की परीक्षा उत्तीर्ण किया हो वो इस ANM Diploma कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं नर्सिंग क्षेत्र में करियर बनाने के लिए ANM डिप्लोमा पहला कदम के रूप में चुना जा सकता है।

ANM Nursing course Eligibility Criteria

प्रवेश के लिए न्यूनतम आयु 17 वर्ष और अधिकतम आयु 35 वर्ष होनी चाहिए और 10+2 में न्यूनतम अंक प्रत्येक विषय में 50% होना जरुरी है। ANM कोर्स में प्रवेश Common Entrance Exams में उम्मीदवारों के प्रदर्शन के आधार पर होता है। कुछ कॉलेज/इंस्टिट्यूट में 12वीं कक्षा में प्राप्त अंको के आधार पर सीधे Admission भी हो जाता हैं।

ANM का कोर्स करने के बाद Home Nurse, Community Health Worker, Health Visitor, Basic Health Worker & Rural Health Worker के रूप में काम कर सकते है।

General Nursing & Midwifery (GNA) course

GNM का full फॉर्म General Nursing and Midwifery होता है यह तीन साल छह महीने का डिप्लोमा कोर्स है जिसमे 3 साल पढ़ाई और 6 महीने का इंटर्नशिप करना होता है इंटर्नशिप पूरा होने के बाद GNM कोर्स का सर्टिफिकेट दे दिया जाता है। वैसे इच्छुक उम्मीदवार जो अंग्रेजी विषय के साथ Arts, commerce या Science Stream से कक्षा 12 की परीक्षा उत्तीर्ण किया हो वो इस GNM Diploma कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं।

GNM Nursing course Eligibility Criteria

इस GNM प्रवेश के लिए न्यूनतम आयु 17 वर्ष और अधिकतम आयु 35 वर्ष होनी चाहिए और 10+2 में PCB से बारहवीं उत्तीर्ण होना चाहिए तथा English में कम से कम 40% अंक होना अनिवार्य है। GNM कोर्स में प्रवेश Common Entrance Exams में उम्मीदवारों के प्रदर्शन के आधार पर होता है। कुछ कॉलेज/इंस्टिट्यूट में 12वीं कक्षा में प्राप्त अंको के आधार पर सीधे Admission भी हो जाता हैं।

Bachelor of Science in Nursing – BSC Nursing

बी.एससी Nursing course एक बैचलर कोर्स है यह चार साल का कोर्स होता है इसके बाद, आप आॅकसिलरी नर्सिंग, नियोनैटल नर्सिंग, पीडियाट्रिक नर्सिंग, ऑन्कोलॉजी नर्सिंग और ऊपर बतायी गयी बाकी स्पेशलाइज़ेशन में से किसी भी विशिष्ट क्षेत्र में एम.एसस कर सकते हैं। बी.एससी नर्सिंग के बाद, ये 2 साल कोर्स है। फिर, आपको रजिस्टर्ड नर्स बनने और प्रैक्टिस करने के लिए किसी भी स्टेट लेवल नर्सिंग कौंसिल के अंतर्गत रजिस्टर करवाना पड़ेगा।

BSC Nursing course Eligibility Criteria

BSC Nursing course में प्रवेश के लिए न्यूनतम आयु 17 वर्ष और अधिकतम आयु 35 वर्ष होनी चाहिए और 10+2 में PCB से बारहवीं उत्तीर्ण होना चाहिए और 10+2 में PCB से बारहवीं उत्तीर्ण होना चाहिए तथा English में कम से कम 40% अंक होना अनिवार्य है। GNM कोर्स में प्रवेश Common Entrance Exams में उम्मीदवारों के प्रदर्शन के आधार पर होता है। कुछ कॉलेज/इंस्टिट्यूट में 12वीं कक्षा में प्राप्त अंको के आधार पर सीधे Admission भी हो जाता हैं।

Best Nursing Colleges in India :-

  • AIIMS Delhi ( AIIMS DELHI) , Delhi
  • Armed Forces Medical College ( AFMC) , Pune
  • Jawaharlal Institute Of Postgraduate Medical Education & Research ( JIPMER) , Puducherry
  • Guru Gobind Singh Indraprastha University ( GGSIP) , New Delhi
  • Kle University , Belgaum
  • Govt Medical College ( GMC) , Nagpur
  • Government Medical College ( GMC PATIALA) , Patiala
  • Govt Medical College & Hospital ( GMCH) , Chandigarh
  • Government T.D. Medical College ( GTDMC) , Alappuzha
  • Government Medical College ( GMC JAMMU) , Jammu
  • Govt. College Of Nursing ( GCN) , Kottayam
  • Govt. College Of Nursing ( GCN) , Kozhikode
  • Govt.College Of Nursing ( GCN) , Thiruvananthapuram
  • Raipur Institute Of Medical Science ( RIMS) , Raipur

इस पोस्ट में हमने बताया की नर्स कैसे बने और नर्सिंग कोर्स कैसे कर सकते हैं हमें उम्मीद है की आपको सभी जानकारी मिल गया होगा अगर नर्स कैसे बने पोस्ट से सम्बंधित आपके पास कोई प्रश्न है तो कृपया कमेंट कर के पूछे हम उसका जबाब जल्द से जल्द देने के कोशिश करेंगे।

4 thoughts on “नर्स कैसे बने 2022 कोर्स कॉलेज- become nurse in India”

  1. Pingback: Cyber Law Course in Hindi: साइबर लॉ क्या है? और साइबर लॉयर कैसे बनें?

  2. Pingback: पैरामेडिकल क्या है और पैरामेडिकल कोर्स कैसे करे? - Career Moka

  3. Pingback: BCA Course Details in Hindi syllabus- बीसीए कोर्स करने के फायदे और पात्रता

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!