पटना विश्वविद्यालय नामांकन 2022 अंक के आधार पर नामांकन

पटना विश्वविद्यालय नामांकन 2022: पटना विश्वविद्यालय की एकेडमिक काउंसिल ने विशेष एडमिशन ऑर्डिनेंस को मिली मंजरी दे दी है जिससे शैक्षणिक सत्र 2022-23 में होने वाले सभी स्नातक पाठ्यक्रमों की नामांकन प्रक्रिया अंकों के आधार पर होगा। वहीं पूर्व की तरह स्नातकोत्तर के सभी पाठ्यक्रमों में नामांकन स्नातक के प्राप्तांक के आधार पर लिया जायेगा।

पहली बार पटना विवि प्रशासन में वोकेशनल कोर्स में भी नामांकन प्रक्रिया को प्रवेश परीक्षा के आधार पर नहीं लेकर प्राप्तांक के आधार पर ही होगा। हालांकि इंटरव्यू लेने पर विचार कियाजा सकता है। यह सभी फैसला पटना विश्वविद्यालय में सोमवार को एकेडमिक काउंसिल की बैठक में यह लिया गया।

पीयू मतलब पटना विश्वविद्यालय के द्वारा इस बार कोरोना के प्रकोप व छात्रों की स्वास्थ्य की सुरक्षा के मद्देनजर नामांकन टेस्ट नहीं कराने का निर्णय लिया है. इंटर (बारहवीं) में अच्छे अंक पटना विश्वविद्यालय में एंट्री दिला सकते हैं. पहले जब एंट्रेंस टेस्ट होते थे, तब इंटर में सिर्फ पास होना अनिवार्य था.

एंट्रेंस टेस्ट का परफॉर्मेस मायने रखता था. इस बार इंटर के मार्क्स मायने रखेंगे.जिनका अंक अधिक होगा उनका नामांकन विवि में होगा. सारी प्रक्रिया ऑनलाइन ही होगी. सिर्फ बीएड, एलएलबी व बिलिब में यह प्रक्रिया नहीं रहेगी.

UP Election 2022 – यूपी विधानसभा सभा चुनाव तिथि नॉमिनेशन ओपिनियन पोल

पटना विश्वविद्यालय नामांकन 2022 कोर्सेज के नाम में हुए है बदलाव

ऑनलाइन एकेडमिक काउंसिल की बैठक में बीए इन कम्प्यूटर एप्लीकेशन, बीएससी इन कम्प्यूटर एप्लीकेशन जैसे कुछ पाठ्यक्रमों के नाम में बदलाव का भी प्रस्ताव आया, जिसे मंजूरी मिल गई।

पटना विश्वविद्यालय के पिछले सत्र में MA In क्रिमिनोलॉजी के लिए जो भी आवेदन आये थे उन सभी आवेदन करने वाले छात्रों को फॉर्म की फीस के साथ वापस करने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गई है, क्योंकि उसमें निर्धारित सीटों की संख्या के आधे आवेदन नहीं आए तो पटना विवि के नियमों के अनुसार उस कोर्स में जीरो सेशन लागू कर दिया गया। बैठक में सभी एकेडेमिक काउंसिल के सदस्य मौजूद रहे सभी ने इस फैसले की सराहना की। इस फैसले के बाद अब कुछ दिनों में जो ही अनुमति मिलेगी एडमिशन के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू कर दिया जायेगा।

Also Read. डेयरी टेक्नोलॉजी कोर्स कर डेयरी टेक्नोलॉजिस्ट कैसे बनें

स्नातक में इलेक्टिव पेपर के रूप में पढ़ सकेंगे एनसीसी:

एकेडमिक काउंसिल की बैठक में एनसीसी को इलेक्टिव पेपर के रूप में चुने जाने को लेकर स्वीकृति प्रदान कर दी गयी है. अब स्नातक के छात्र न सिर्फ एनसीसी में भाग ले सकते हैं बल्कि उसे एक इलेक्टिव पेपर के रूप में चयन भी कर सकते हैं. कॉलेज उसे पढ़वाने का इंतजाम करेंगे.

एमए इन पर्सनल मैनेजमेंट एंड इंडस्ट्रीयल रिलेशन, रूरल स्टडीज, सोशल वर्क, संगीत, क्रिमिनिलॉजी से अब एमए शब्द को हटा दिया गया है. अब उसकी जगह मास्टर शब्द का प्रयोग होगा.

इसी तरह बीए इन कंप्यूटर व बीएससी इन कंप्यूटर से बीए व बीएससी शब्द को हटा दिया है. अब कोर्स का नाम सिर्फ बैचलर इन कंप्यूटर रहेगा. बीएससी इन इंवायरमेंट साइंस कोर्स से वोकेशनल शब्द को हटा दिया गया है. किसी भी डिग्री सर्टिफिकेट में वोकेशनल या सेल्फ फाइनेंसिंग शब्द का प्रयोग नहीं होगा.

नामांकन प्रक्रिया के संबंध में कुलपति प्रो. गिरीश कुमार चौधरी ने बताया कि प्रवेश परीक्षा का आयोजन नहीं कराने का निर्णय सिर्फ मौजूदा हालात के कारण लिया गया है। प्रो. चौधरी ने बताया कि एकेडेमिक काउंसिल में इसे सर्वसम्मति से पारित किया गया है और अब दो जून को इसे सिंडिकेट की बैठक में प्रस्तुत किया जाएगा। वहां से पारित होने के बाद इसे राजभवन में भेजा जाएगा। वहां से अनुमति मिलते ही नामांकन प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

बिहार खतियान की जानकारी निकाले और डाउनलोड करे

पटना विश्वविद्यालय नामांकन 2022- पहली मेधा सूची में 2500 विद्यार्थियों का नामांकन

पटना विश्वविद्यालय में स्नातक बीए, बीएससी, बीकॉम सहित वोकेशनल कोर्स में पहली मेधा सूची के आधार पर 2500 विद्यार्थियों का नामांकन हुआ। विश्वविद्यालय की ओर से जारी पहली मेधा सूची के आधार पर 14 से 18 सितंबर तक नामांकन लिया गया।

इस दौरान नामांकन के लिए 2749 छात्रों ने काउंसिलिंग के लिए फीस जमा की थी। जिसमें 2500 विद्यार्थियों ने ही नामांकन कराया। शेष छात्र नामांकन कराने से वंचित रह गए। ऐसे लगभग 250 छात्रों को एक बार फिर से मौका दिया गया है। जिन्होंने काउंसलिंग की फीस जमा कर दी पर नामांकन नहीं ले सके। इनका नामांकन पटना कॉलेज में काउंसिलिंग सेंटर पर 20 सितंबर को नामांकन लिया जाएगा। इन्हें साढ़े दस बजे से शाम साढ़े चार बजे तक दाखिला लेना होगा। इसके बाद कोई मौका नहीं दिया जाएगा।

छात्र-छात्राओं को सब्सिडियरी विषय कॉलेज में चुनना होगा

काउंसिलिंग के बाद नामांकन प्रक्रिया पूरी होने पर छात्र-छात्राएं जिस कॉलेज के ऑनर्स विषय में नामांकित हुए हैं उसी कॉलेज द्वारा उन्हें दो सब्सिडियरी विषय आवंटित किया जाएगा। जिसकी सूचना छात्र-छात्राएं उस कॉलेज में जा कर प्राप्त कर लेंगे।

पहली राउंड की काउंसिलिंग के बाद बची हुई सीटों के लिए दूसरी मेधा सूची 21 सितंबर को जारी की जाएगी। वहीं वैसे अभ्यर्थी जो नामांकन से छूट गए हैं। उन्हें 20 सितम्बर को दाखिले के लिए एक मौका दिया गया है। इनकी काउंसिलिंग पटना कॉलेज में होगी। -गिरीश कुमार चौधरी,कुलपति,पीयू

पटना विश्वविद्यालय नामांकन 2022 दूसरी काउंसिलिंग 22 से 24 सितम्बर तक होगी

पीयू के डीन सह मीडिया प्रभारी प्रो. अनिल कुमार ने बताया कि पहली काउंसिलिंग के बाद 1500 सीटें रिक्त हैं। दूसरी काउंसिलिंग का रिजल्ट एवं कट ऑफ 21 सितम्बर को पीयू की वेबसाइट पर जारी किया जाएगा। जिससे चयनित अभ्यर्थी अपने एप्लीकेशन आईडी और पासवर्ड की मदद से अलॉटमेंट लेटर निकाल पाएंगे। दूसरी काउंसिलिंग 22 से 24 सितम्बर तक होगी। जिन अभ्यर्थियों की दूसरी काउंसिलिंग के लिए चयन होगा, वे सभी प्रमाणपत्रों की मूल प्रति और ़फोटोकॉपी के साथ काउंसलिंग में भाग लेंगे।

अपग्रेडेशन का ऑप्शन 652 विद्यार्थियों ने दिया

पहली मेधा सूची के आधार पर जिनका नामांकन हुआ है। उनका दाखिला पीयू के अलग-अलग कॉलेजों के अलग-अलग ऑनर्स विषयों में हुआ है। वैसे विद्यार्थियों जिनका नामांकन हो चुका है, इनमें से 652 ने अपग्रेडेशन का ऑप्शन दिया है। जिससे अगली काउंसिलिंग में उनके द्वारा भरे गए च्वॉइस फिलिंग में जो च्वॉइस मिला है उसके ऊपर का च्वॉइस खाली रहने पर स्लाइडिंग ऑप्शन द्वारा यदि उनका ऑप्शन अपग्रेड होता है तो उन्हें काउंसिलिंग सेंटर पर नया नामांकन पत्र प्राप्त करना अनिवार्य होगा।

4 thoughts on “पटना विश्वविद्यालय नामांकन 2022 अंक के आधार पर नामांकन”

  1. Pingback: बीआरए बिहार विश्वविद्यालय वोकेशनल कोर्स में एडमिशन के लिए आवेदन शुरू

  2. Pingback: Munger University: मंगेर विश्वविद्यालय स्नातक पार्ट-1 में एडमिशन 10 जून 2021 से

  3. Pingback: MP Bhulekh Khasra Khatauni 2021 - PROPERTY KEN

  4. Pingback: MP Bhulekh Khasra Khatauni 2021 » VIJAY SOLUTIONS

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *