DU Admission 2021 – Documents Required for UG/ PG/ MPhil/ PhD

नीचे सूचीबद्ध सभी दस्तावेजों की फोटोकॉपी।

प्रत्येक दस्तावेज़ की फोटोकॉपी पर, आवेदक को “स्व-सत्यापित” हस्ताक्षर और लिखना होगा

इन सभी स्व-सत्यापित प्रतियों को स्कैन करें और उन्हें डिवाइस (लैपटॉप या मोबाइल डिवाइस) पर सहेज कर रखें, जिस पर आप ऑनलाइन पंजीकरण करेंगे। ऑनलाइन पंजीकरण पूरा करने के लिए आपको इन सभी स्कैन की गई, स्व-सत्यापित प्रतियों को अपलोड करने की आवश्यकता होगी।

सभी डाक्यूमेंट्स जेपीजी / जेपीईजी या पीएनजी फॉर्मेट में होना चाहिए

आवेदक आवेदन का पूर्वावलोकन करने, शुल्क का भुगतान करने या अनिवार्य दस्तावेजों को अपलोड किए बिना आवेदन जमा करने में सक्षम नहीं होगा।

Documents required for du registration 2021

आवेदक का पासपोर्ट आकार का फोटो 10-50 केबी के बीच होना चाहिए

आवेदक के स्कैन किए गए हस्ताक्षर 10-50 केबी के बीच होना चाहिए

सेल्फ-अटेस्टेड दसवीं कक्षा का सर्टिफिकेट / मार्कशीट जिसमें डेट ऑफ बर्थ लिखा हो 100-500 केबी के बीच होना चाहिए

यदि परिणाम घोषित किए गए हैं तो स्व-अधिकृत कक्षा बारहवीं की अंकतालिका होना चाहिए

ये भी पढ़े : मोबाइल से स्कैन कर मोबाइल से ही पीडीऍफ़ फाइल बनाये

यदि बोर्ड द्वारा मार्कशीट जारी नहीं की गई है, तो संबंधित बोर्ड की वेबसाइट से डाउनलोड की गई मार्कशीट की एक स्व-सत्यापित प्रति अपलोड की जानी चाहिए जो की 100-500 kb केबी के बीच होना चाहिए

एससी / एसटी / पीडब्ल्यूडी / सीडब्ल्यू / केएम सर्टिफिकेट (आवेदक के नाम पर) सक्षम प्राधिकारी द्वारा जारी होना चाहिए जो 100-500 केबी के बीच होना चाहिए

ओबीसी (नॉन-क्रीमी लेयर) प्रमाण पत्र (आवेदक के नाम पर) ओबीसी जाति को भारत सरकार द्वारा जारी केंद्रीय सूची में शामिल किया जाना चाहिए।

जो की http://ncbc.nic.इन पर दिए गए जानकारी के अनुसार होना चाहिए 100-500 केबी के बीच होना चाहिए

आवेदक को प्रमाणित करने वाले एसडीएम द्वारा जारी ईडब्ल्यूएस प्रमाण पत्र इस श्रेणी के तहत आरक्षण का दावा कर सकते हैं, 100-500 केबी के बीच होना चाहिए

यदि आप स्पोर्ट्स और / या ईसीए श्रेणियों के के तहत आवेदन देते है तो प्रमाणपत्रों की स्व-सत्यापित प्रतियाँ। 100-500 केबी केबी के बीच होना चाहिए

दिल्ली यूनिवर्सिटी में एडमिशन के लिए जरुरी जानकारी

उप-ग्रेडिंग 3/4/5 में उल्लिखित श्रेणियों के तहत प्रस्तुत किसी भी प्रमाण पत्र को उन नामों के साथ मेल खाना चाहिए जो उनके संबंधित स्कूल बोर्ड योग्यता प्रमाण पत्र पर दिखाई देते हैं

इसी तरह उनके माता-पिता के नाम प्रमाणपत्रों के दोनों सेटों में मेल खाने चाहिए। यदि आवेदकों के पास आवेदन के समय ये प्रमाण पत्र नहीं हैं, तो वे आवेदन की पावती पर्ची / रसीद अपलोड कर सकते हैं और प्रवेश के समय मूल प्रमाण पत्र का उत्पादन कर सकते हैं।

अपलोड किए गए दस्तावेजों को प्रवेश के समय कॉलेजों में ऑनलाइन और / या फॉरेंसिक सत्यापन के लिए प्रस्तुत करना होगा। यदि कोई गलत सत्यापन / गलत रिकॉर्ड पाया जाता है, तो आवेदक को विश्वविद्यालय और / या उसके कॉलेजों से डिबार कर दिया जाएगा और आवेदक के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

एजुकेशन से संबंधित सभी Important News पाने के लिए ग्रुप को JOIN कर पेज को LIKE करें

Whatsapp GroupClick Here
Telegram GroupJOIN Now
Facebook PageClick Here

DU Admission 2021 का नोटिफिकेशन देखें के लिए यहां क्लिक करे

ज्यादा जानकारी के लिए नीचे दिए गए वीडियो को दिखे और लेटेस्ट वीडियो देखने के लिए हमारा YouTube चैनल Subscribe जरूर करे , अगर इस पोस्ट से सम्बंधित आपके पास कोई प्रश्न है तो कृपया कमेंट कर के पूछे | हम उसका जबाब जल्द से जल्द देने के कोशिश करेंगे

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *