हो गया फैसला: साल में सिर्फ एक बार ही होगा NEET Exam

NEET Exam: मेडिकल शिक्षण संस्थानों में एमबीबीएस (MBBS) और बीडीएस (BDS) जैसे पाठ्यक्रमों में एडमिशन के लिए होने वाली परीक्षा NEET (राष्ट्रीय पात्रता व प्रवेश परीक्षा) को लेकर चल रही सभी कयासबाजियों पर अब विराम लग गया। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने लोक सभा यह स्पष्ट कहा कि चिकित्सा शिक्षा संस्थानों और मेडिकल कॉलेज (Medical College) में दाखिले के लिए होने वाली NEET परीक्षा का आयोजन NTA की ओर से साल में सिर्फ एक बार ही किया जाएगा। 

दरअसल, इंजीनियरिंग, आर्किटेक्चर और तकनीकी स्नातक पाठ्यक्रमों के प्रवेश के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JEE Mains) के लिए इस साल चार बार प्रयास के मौके दिए जाने की घोषणा के बाद से ही छात्रों द्वारा अपील की जा रही थी कि NEET UG 2021 के लिए भी अतिरिक्त प्रयास के मौके मिलने चाहिए। इसे लेकर कई अटकलें भी जारी थी। कहा जा रहा था कि NTA की ओर से UG NEET परीक्षा वर्ष में दो बार आयोजित की सकती है। 

अब इन अटकलों पर विराम लगाते हुए केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने रविवार को कहा कि NTA द्वारा NEET (UG) परीक्षा का आयोजन वर्ष में केवल एक बार किया जाएगा। निशंक ने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित जवाब में यह बात कही। 

उन्होंने कहा, शिक्षा मंत्रालय के तहत राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) स्वास्थ्य विज्ञान और परिवार कल्याण मंत्रालय के परामर्श से चिकित्सा विज्ञान में स्नातक कार्यक्रम के लिए पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET) आयोजित करती है। 

दो डिग्री कोर्स अब एक साथ कर सकेंगे, UGC ने दी मंजूरी

NEET Exam को आमतौर पर राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) द्वारा वर्ष में एक बार मई के पहले रविवार को आयोजित किया जाता है। इस बार Medical Entrance Exam NEET का आयोजन एक अगस्त को किया जाएगा। नीट परीक्षा का आयोजन 11 भाषाओं में होगा। अभ्यर्थी आवेदन फॉर्म भरते वक्त परीक्षा की भाषा चुन सकते हैं। यह परीक्षा 720 अंकों की होती है। गौरतलब है कि NEET UG प्रवेश परीक्षा का आयोजन मेडिकल व डेंटल पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए होता है। इसके जरिए अभ्यर्थियों को MBBS और BDS पाठ्यक्रमों में दाखिला मिलता है। पिछले साल 15 लाख छात्रों ने इस प्रवेश परीक्षा को दिया था। 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *