Unique Health card 2021 Apply: हेल्थ आईडी कार्ड ऑनलाइन आवेदन / सुधार

Unique Health ID Card 2021: केंद्र की मोदी सरकार के द्वारा अब देश में हर नागरिक का यूनिक हेल्थ आइडी बनाया जाएगा. इस आइडी में व्यक्ति के स्वास्थ्य संबंधी पूरा रिकॉर्ड उपलब्ध रहेगा. इसका मकसद देश की स्वास्थ्य सेवा को बेहतर बनाना है. इस योजना के तहत नेशनल डिजिटल हेल्थ इकोसिस्टम बनाया जायेगा. यह पूरी तरह से डिजिटल होगी और इसमें 14 अंकों वाला एक कार्ड दिया जायेगा. इसी नंबर के जरिये डॉक्टर उस व्यक्ति की स्वास्थ्य संबंधी रिकॉर्ड जान पायेंगे. यूनिक हेल्थ आइडी बनाने के लिए आधार नंबर और मोबाइल नंबर जरुरी होगा.

Contents show

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 27 सितंबर को प्रधानमंत्री डिजिटल स्वास्थ्य मिशन लॉन्च करेंगे. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने यह जानकारी दी है यूनिक हेल्थ आइडी कार्ड आधार कार्ड जैसा यूनिक हेल्थ कार्ड होगा इसमें आपका पूरा मेडिकल रिकॉर्ड होगा, आप देश के किसी भी अस्पताल में जाएं, पिछली सभी रिपोटर्स वहीं मिल जाएंगी। जिससे दूसरे राज्य या शहर में इलाज कराने पर भी अपनी मेडिकल रिपोटर्स साथ ले जाने की जरूरत नहीं होगी। क्योंकि, आपकी पूरी मेडिकल हिस्ट्री हेल्थ कार्ड में दर्ज होगी।

Unique Health card (uhid) Importent point

SchemeUnique Health Id (UHID)
Launch By Prime Minister Narendra Modi
Launch Date27 September
health card beneficiaryAll Indian Resident
official website www.healthid.ndhm.gov.in
Health Id Apply Linkwww.healthid.ndhm.gov.in/register
Helpline Email[email protected]
Health card Helpline Number1800-11-4477 / 14477

क्या है यूनिक हेल्थ आईडी कार्ड योजना

  • हर व्यक्ति को 14 अंक का स्वास्थ्य खाता नंबर और हेल्थ कार्ड मिलेगा
  • इसमें पुराना ब्योरा खुद अपलोड करना होगा तथा नए रिकॉर्ड बाद में अपने आप अपलोड होते रहेंगे
  • डॉक्टर के पास जाएंगे तो आईडी लेकर वह आपका पिछला रिकॉर्ड देख लेंगे और इलाज करेंगे
  • आपके मोबाइल पर ओटीपी आएगा, उसके जरिए ही रिकॉर्ड देख सकेंगे
  • डिजिटल डेल्थ मिशन के पोर्टल पर अस्पतालों, क्लीनिक,स्वास्थ्य केंद्रों, डॉक्टरों, लैब, दवा की दुकान आदि का भी ब्योरा उपलब्ध होगा
  •  हेल्थ अकाउंट नंबर या आईडी बनाना सबके लिए अनिवार्य नहीं है

छह राज्यों में पहले से लागू है यूनिक हेल्थ आइडी योजना

पायलट प्रोजेक्ट के तहत पहले ही छह केंद्र शासित प्रदेशों अंडमान और निकोबार, चंडीगढ़, दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव, लद्दाख, लक्षद्वीप और पुडुचेरी में लागू किया जा चुका है और अब पूरे देश में यूनिक हेल्थ आइडी योजना लागू करने की तैयारी है. इन राज्यों में यूनिक कार्ड बनने शुरू हो चुकी हैं। अब यह देशभर में लॉन्च की जाएगी।

यूनिक आइडी कार्ड का लाभ – Unique Health Id card benefits

नेशनल डिजिटल हेल्‍थ मिशन (NDHM) के तहत यूनिक आइडी कार्ड धारक बनाया जायेगा. जिसमे पूरा हेल्थ रिकॉर्ड होगा, और यह सेंट्रल सर्वर से जुड़ा रहेगा देश में कहीं भी कार्ड से डॉक्टर को संबंधित व्यक्ति की पूरी जानकारी मिल जायेग।

मरीज का डाटा उसकी इजाजत के बिना डॉक्टर नहीं देख पायेंगे कार्ड का इस्तेमाल करने पर मरीज के मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आयेगा, इस ओटीपी को डालने के बाद ही डॉक्टर मरीज की जानकारी देख पायेंगे. नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन में डॉक्टर्स, अस्पताल, लैब और केमिस्ट तक की जानकारी दर्ज होंगी।

  • बार-बार पैथोलॉजी,रेडियोलॉजी तथा अन्य टेस्ट की जरूरत नहीं होगी, पुरानी रिपोर्ट देखकर डॉक्टर बीमारी की जानकारी ले पाएंगे
  • पुरानी बीमारियों,अब तक हुए उपचार आदि का पूरा ब्योरा एक जगह होगा कागजात लेकर घूमना जरूरी नहीं
  • पोर्टल पर हर डॉक्टर-अस्पताल की जानकारी होगी,देश में कहीं भी आप अपनी भाषा और सुविधा के हिसाब से डॉक्टर का चयन कर सकेंगे
  • नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन पोर्टल पर जाकर आईडी बना सकते हैं। आधार या किसी अन्य दस्तावेज के जरिये मोबाइल एप से पंजीकरण होगा। सभी अस्पताल भी बनाएंगे।

e shramik registration 2021 Apply : ई श्रम कार्ड ऑनलाइन आवेदन UAN Card

हेल्थ कार्ड 2021 ऑनलाइन कैसे आवेदन करें ?

इस यूनिक हेल्थ आइडी कार्ड बनवाने के लिए किसी हॉस्पिटल या सरकारी दफ्तर के चक्कर नहीं काटने होंगे बल्कि खुद से ऑनलाइन बना सकते है जो खुद से नहीं बना सकते वो CSC सेंटर से बनवा सकता है.

हेल्थ आईडी बनाने के लिए सबसे पहले नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन की ऑफिसियल वेबसाइट https://healthid.ndhm.gov.in/register पर जाना होगा। इस वेबसाइट पर जाने के बाद Generate your Health ID के नीचे Generate via Aadhaar पर क्लिक करना होगा।

Create-your-Health-ID-हेल्थ कार्ड

Create-your-Health-ID

जिसके बाद आधार नंबर माँगा जायेगा जिसको देने के बाद Submit पर क्लिक करना होगा। जिसके बाद OTP रजिस्टर मोबाइल पर भेजा जायेगा जिसको दे कर Submit पर क्लिक करते ही एक फॉर्म खुलेगा, जिसमे सभी जानकारी भर कर फिर से सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा।

Unique-health-ID-card-form-online
health-card-form-online

सबमिट पर क्लिक करते ही आपका हेल्थ आईडी कार्ड बन कर आ जायेगा, जिसको डाउनलोड कर प्रिंट लिया जा सकता है और इस तरह से आपका हेल्थ कार्ड बन कर तैयार हो जायेगा।

Unique-Health-Id-Donwload-हेल्थ कार्ड
health-card-download

 

Unique Health Id (uhid) Online Apply 2021 Important links
For online registration Click Here 
Official website Click Here 

corona vaccine registration online – कोविड वैक्सीन रजिस्ट्रेशन जाने सभी अपडेट

यूनिक हेल्थ आइडी कार्ड (Health Card) में सुधार कैसे करें?

यूनिक हेल्थ आइडी में Correction / सुधार के लिए सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट https://healthid.ndhm.gov.in/login पर जाना होगा जहाँ Health ID या PHR Address में से कोई एक दे कर लॉगिन करना होगा।

health-card-correction-online

health-card-correction-online

लॉगिन करने के बाद हेल्थ कार्ड दिखेगा, जिसके नीचे Edit Profile का ऑप्शन मिलेगा जिस पर क्लिक करने के बाद जो भी जानकारी में सुधार करना चाहते है वो करके सबमिट करते ही सुधार किया हुआ हेल्थ आईडी कार्ड डाउनलोड करने को मिल जायेगा।

health-card-name-correction-in-Unique Health Id
health-card-name-correction

GeM Seller Login – GeM Seller registration Process 2021 In Hindi

FAQ

हेल्थ कार्ड कैसे बनेगा?

यूनिक हेल्थ आइडी एनडीएचएम के वेबसाइट से आवेदन करना होगा। आवेदन करने के बाद यूनिक आईडी कार्ड बन जायेगा जिस पर 14 डिजिट का नंबर मिल जायेगा ।

जिनके पास स्मार्टफोन नहीं, वो हैल्थ कार्ड कैसे और कहां बनवा सकेंगे?

रजिस्टर्ड सरकारी-निजी अस्पताल, कम्युनिटी हेल्थ सेंटर, प्राइमरी हेल्थ सेंटर, वेलनेस सेंटर, कॉमन सर्विस सेंटर आदि पर कार्ड बनेंगे। वहां सामान्य सी जानकारियां पूछी जाएंगी। जैसे नाम, जन्म की तारीख, मोबाइल नंबर आदि।

यूनिक हेल्थ कार्ड का फायदा क्या?

कार्ड में आपके स्वास्थ्य से संबंधित पूरी जानकारी डिजिटल फॉर्मेट में दर्ज होती रहेगी। पूरी मेडिकल हिस्ट्री अपडेट होगी। ऐसे में जब आप किसी अस्पताल में इलाज कराने जाएंगे, तो आपको पुराने सभी रिकॉर्ड वहीं डिजिटल फॉर्मेट में मिल जाएंगी। यही नहीं, अगर आप किसी दूसरे शहर के अस्पताल भी जाए तो वहां भी यूनिक कार्ड के जरिए डेटा देखा जा सकेगा। इससे डॉक्टरों को इलाज में आसानी होगी।

हेल्थ कार्ड में जानकारियां दर्ज कैसे होंगी?

कार्ड बनने के बाद पिछली सभी रिपोर्ट्स आपको खुद ही स्कैन करके अपलोड करनी होंगी। लेकिन, आगे की सभी रिपोट्स अपने आप अपलोड होती रहेंगी।

उदाहरण के लिए जब किसी डिस्पेंसरी या अस्पताल में आपकी जांच आदि होगी तो यह आपके यूनिक आईडी कार्ड में दर्ज 14 डिजिट के यूनिक नंबर के जरिए ये रिपोर्ट्स कार्ड से लिंक हो जाएंगी। अस्पताल में एनडीएचएम कर्मी इसमें आपकी मदद करने के लिए मौजूद रहेंगे।

कार्ड में कौन-कौन सी जानकारियां होंगी?

आपके मेडिकल रिकॉर्ड से जुड़ी हरेक जानकारी यूनिक आइडी कार्ड में उपलब्ध होगी। इसका अलावा पिछली बार कौन कौन दवा ली थी और उसका क्या असर हुआ था ये सभी जानकारी उपलब्ध होगी इससे इलाज के दौरान डॉक्टर को केस समझने में काफी सहूलियत होगी।

दूसरे शहर में Unique Health Id डेटा कैसे मिलेगा?

डेटा अस्पताल में नहीं, बल्कि डेटा सेंटर में होगा, जो कार्ड के जरिए देखा जा सकेगा। यूं समझ लीजिए कि अगर आप कहीं इलाज कराने जाते हैं तो यह आपके लिए आधार कार्ड जैसा अहम होगा।

क्या हेल्प कार्ड कोई भी देख सकेगा?

नहीं, इस कार्ड में मौजूद जानकारी तभी देखा जा सकता है जब रजिस्टर मोबाइल नंबर पर प्राप्त ओटीपी नंबर दिया जायेगा। जब कार्ड का 14 डिजिट का नंबर रजिस्टर्ड अस्पताल के कंप्यूटर में दर्ज किया जाएगा। उसके बाद जब ओटीपी भरा जाएगा तो डेटा स्क्रीन पर दिखेगा। जब दुसरा मरीज का डेटा अस्पताल द्वारा देखा जायेगा तो पहले मरीज का डेटा आटोमेटिक बंद जो जायेगा जिसको देखने के लिए फिर से ओटीपी देना होगा।

क्या हेल्थ कार्ड बनवाना अनिवार्य होगा?

यह अनिवार्य नहीं होगा। यह आपकी इच्छा पर निर्भर करेगा कि आप कार्ड बनवाना चाहते हैं या नहीं।

क्या तुरंत जन्मे बच्चों का भी Unique Health Id बनेगा ?

हां. बिलकुल इसके लिए तुरंत जन्मे बच्चों का जन्म प्रमाण पत्र देना होगा. इसके अलावा मोबाइल नंबर अभिभावक का देना होगा.

1 thought on “Unique Health card 2021 Apply: हेल्थ आईडी कार्ड ऑनलाइन आवेदन / सुधार”

  1. Pingback: GST Certificate registration download pdf online application [जीएसटी]

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!