Pharmacy Course details in Hindi – फार्मेसी कोर्स कर करियर कैसे बनायें?

Pharmacy Course details in Hindi : फार्मेसी में करियर बनाना युवा के लिए हमेशा से अच्छा विकल्प रहा है खास कर कोरोना वायरस के इस दौर में दवाओं की खोज एवं विकास से जुड़ा फार्मेसी सेक्टर करियर की नयी आकर्षक संभावनाओं से भरा और तेजी से उभरता हुआ क्षेत्र बन गया है। यही नहीं भारत सरकार जल्द ही नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन शुरू करने की योजना बना रही है जिसमे इ-फार्मेसी और टेलीमेडिसिन सेवा को भी शामिल किया जायेगा. जिसके कारण फार्मा सेक्टर में नौकरी एवं स्वरोजगार के नये अवसर बनेंगे. ऐसे में फार्मेसी कोर्स कर करियर बनना एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

फार्मेसी के इस क्षेत्र में नई-नई दवाइयों की खोज और उसके विकास का कार्य किया जाता हैं। इसके अलावा फार्मेसी के इस क्षेत्र में दवाओं के बनाने से लेकर, पैकेजिंग,मार्केटिंग ,वितरण और मैनेजमेंट तक के सभी काम किए जाते हैं। आज के इस पोस्ट में बताऊंगा की फार्मासिस्ट कोर्स क्या है, 12 वीं के बाद फार्मेसी के लिए प्रवेश परीक्षा कौन कौन सी है, फार्मेसी कोर्स सब्जेक्ट्स क्या है और फार्मा करने के बाद कौन सी नौकरी मिल सकती है? साथ ही बताऊंगा की बी फार्मा करने के बाद सैलरी कितनी मिलेगी, और डी फार्मेसी करियर स्कोप क्या है. इस सभी सवालो का जबाब इस पोस्ट में पढ़ने को मिल जायेगा।

Pharmacy Course शैक्षिक योग्यताएं :

फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथमेटिक्स/ बायोलॉजी विषयों के साथ बारहवीं पास करने के बाद फार्मा में दो साल का डिप्लोमा (डीफार्मा) या चार साल का बैचलर डिग्री (बीफार्मा) कोर्स कर सकते हैं. बी फार्मा के बाद फार्माकोग्नॉसी, फार्मास्यूटिकल इंजीनियरिंग, बायो केमिस्ट्री जैसे स्पेशलाइजेशन के साथ एम फार्मा कर इस क्षेत्र में अच्छा करियर बना सकते हैं.

b-pharmacy-course-information-in-hindi

Also Read… होटल मैनेजमेंट क्या है और Hotel Management course कैसे करे?

मास्टर लेवल फार्मेसी प्रोग्राम में प्रवेश के लिए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) द्वारा अखिल भारतीय स्तर पर आयोजित ग्रेजुएट फार्मेसी एप्टिट्यूड टेस्ट (जीपैट) पास करना होगा. इसके अलावा पीजी डिप्लोमा इन फार्मास्यूटिकल एवं हेल्थ केयर मार्केटिंग, डिप्लोमा इन फार्मा मार्केटिंग, एडवांस डिप्लोमा इन फार्मा मार्केटिंग एवं पीजी डिप्लोमा इन फार्मा मार्केटिंग जैसे कोर्स का विकल्प भी है.

Diploma Courses in Pharmacy

Course NameDuration
डिप्लोमा इन फार्मेसी (D. Pharma)2 Years
डिप्लोमा इन वेटरनरी फार्मेसी2 Years
डिप्लोमा इन फार्मास्यूटिकल मैनेजमेंट2 Years
पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन हर्बल प्रोडक्ट्स1 to 3 years
पाठ्यक्रम और संस्थान पर निर्भर करता है
पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन फार्मास्यूटिकल केमिस्ट्री1 to 3 years
पाठ्यक्रम और संस्थान पर निर्भर करता है
पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन फार्मास्यूटिकल रेगुलेटरी अफेयर्स1 to 3 years
पाठ्यक्रम और संस्थान पर निर्भर करता है
पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन फार्मास्यूटिकल मैनेजमेंट2 Years
पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन टेक्निकल एंड एनालिटिकल केमिस्ट्री2 Years
Pharmacy Diploma Courses list

Bachelor’s Degree in Pharmacy

Course NameDuration
बैचलर ऑफ़ फार्मेसी (B.Pharma)4-Years
बैचलर ऑफ़ फार्मेसी इन होनोर्स (B.Pharm. (Hons.)4-Years
बैचलर ऑफ़ फार्मेसी इन फार्मास्यूटिकल केमिस्ट्री4-Years
बैचलर ऑफ़ फार्मेसी इन आयुर्वेदिक4-Years
बैचलर ऑफ़ फार्मेसी + मास्टर ऑफ़ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन
B.Pharm + M.B.A. (Dual Degree)
5-Years

Postgraduate Courses in pharmacy

Course NameDuration
मास्टर ऑफ़ फार्मेसी (M. Pharma)2-Years
एम फार्मा इन बिओफॉर्मासुटिक्स एंड फार्माकोकिनेटिक्स2-Years
एम फार्मा इन बायोटेक्नोलॉजी2-Years
एम फार्मा इन क्लीनिकल फार्मेसी2-Years

PhD (Doctoral) course in Pharmacy

Course NameDuration
PhD इन फार्मेसी3-Years
PhD इन फार्मसूटिक्स3-Years
PhD इन फार्मास्यूटिकल मेडिसिन3-Years
PhD इन फार्मास्यूटिकल बायोटेक्नोलॉजी3-Years

Best Pharmacy Course institute/college

फार्मेसी कोर्स फीस – Pharmacy Course fees

फार्मा कोर्स करने की फीस सरकारी और प्राइवेट कॉलेज में अलग अलग होता है जो की 20 हजार से 1,25,000 रूपये प्रति साल होता है सरकारी कॉलेज में फीस बिलकुल कम होता है और उसकी मान्यता भी अधिक होता है

फार्मेसी में करियर स्कोप

पूरी दुनिया में भारत अकेला एक ऐसा देश है जिसके पास अमेरिकी दवा नियामक यूएसएफडीए के मानकों के अनुरूप अमेरिका से बाहर सबसे अधिक संख्या में दवा बनाने के प्लांट हैं। जिसके कारण भारतीय फार्मा उद्योग मात्रा के आधार पर दुनिया का तीसरा सवसे बड़ा बाजार बन गया है। 2024 तक देश का फार्मा उद्योग 65 अरव डॉलर की ऊंचाई तक पहुंचने का अनुमान है। जाहिर है जैसे-जैसे फार्मा सेक्टर बढ़ेगा वैसे वैसे करियर के मौके भी तेजी से बढ़ेंगे.

Also Read… पैरामेडिकल क्या है और पैरामेडिकल कोर्स कैसे करे?

12-वीं-के-बाद-फार्मेसी-के-लिए-प्रवेश-परीक्षा

अगर आप 12th में विज्ञान विषय का छात्र हैं और विभिन्न रोगों में लाभ पहुंचानेवाली दवाओं की खोज एवं निर्माण में रुचि रखते हैं, तो फार्मेसी के इस क्षेत्र में करियर की बेहतरीन संभावनाएं प्राप्त कर सकते हैं फार्मेसी कोर्स करने के बाद ड्रग मैन्युफैक्चरिंग, ड्रग रिसर्च, डग मार्केटिंग, फार्माकोविजिलेंस, हॉस्पिटल फार्मेसी और रिसोर्स मैनेजमेंट आदि क्षेत्रों में अपना करियर बना सकते है। ड्रग मैन्युफैक्चरिंग के क्षेत्र में मॉलिक्युलर बायोलॉजिस्ट, फार्मेकोलॉजिस्ट, टॉक्सिकोलॉजिस्ट या मेडिकल इनवेस्टिगेटर जैसे कार्य होते हैं। जहाँ नई-नई दवाओं की खोज व विकास संबंधी कार्य किए जाते हैं वहाँ रिसर्च ऐंड डेवलपमेंट का काम कर सकते है ।

कुछ और भी करियर विकल्प है जो नीचे दिए गए है:

ड्रग मैन्युफैक्चरिंग:

फार्मेसी कोर्स करने के बाद ड्रग मैन्युफैक्चरिंग कंपनी में आप मॉलिक्युलर बायॉलजिस्ट, फार्मेकॉलजिस्ट, टॉक्सिकॉलजिस्ट , मेडिकल इंवेस्टिगेटर, पैकेजिंग, क्वालिटी कंट्रोल, प्रोडक्ट मैनेजर, मार्केटिंग मैनेजर आदि के तौर पर काम कर सकते है. मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव बनकर फार्मा मार्केटिंग में भी जॉब के अवसर प्राप्त कर सकते हैं.

  • मॉलिक्युलर बायॉलजिस्ट का काम जीन संरचना और मेडिकल व ड्रग रिसर्च में प्रोटीन के इस्तेमाल का अध्ययन करना होता है।
  • फार्मेकॉलजिस्ट इंसान के बॉडी पार्ट्स और Tissues पर ड्रग के प्रभाव का जांच कारण होता है।
  • टॉक्सिकॉलजिस्ट इनका काम किसी भी दवा से होने वाले नेगेटिव इफेक्ट को चेक कर टेस्टिंग करना होता है।
  • मेडिकल इंवेस्टिगेटर ये नई दवाओं के डेवलपमेंट और उसके टेस्टिंग की पर्किर्या को देखते है।

Also Read.. न्यूट्रिशन एंड डाइटेटिक्स कोर्स कैसे करें

फार्मासिस्ट:

अस्पतालों एवं स्वास्थ्य केंद्रों में मेडिकल परीक्षणों के संदर्भ में फार्मासिस्ट की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण होती है. इन पर दवाइयों और चिकित्सा संबंधी अन्य सहायक सामग्रियों के भंडारण, स्टॉकिंग और वितरण की जिम्मेदारी होती है. वही रिटेल सेक्टर में फार्मासिस्ट को एक बिजनेस मैनेजर की तरह काम करना होता है

Also Read… फुटवियर डिजाइनर कैसे बनें? और फुटवियर (footwear) डिजाइनिंग कोर्स कैसे करें?

क्लिनिकल रिसर्च:

इसके तहत नयी दवाइयों पर रिसर्च की जाती है कि वह कितनी सुरक्षित और असरदार हैं. दवाइयों की स्क्रीनिंग संबंधी काम में नयी दवाओं या फॉर्मुलेशन का पशु मॉडलों पर परीक्षण करना या क्लिनिकल रिसर्च करना शामिल है.

क्वालिटी कंट्रोल:

फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्री में क्वालिटी ङ्केफंट्रोलार का काम काफी अहम होता है। ये यह सुनिश्चित करते हैं कि किसी दवा को लेकर कंपनी द्वारा जो नतीजे बताये जा रहे हैं, वे सुरक्षित व असरदायी हैं या नहीं.

फार्मा टीचिंग करियर :

एम फार्मा या पीएचडी करने के बाद किसी भी निजी या सरकारी संस्थान में शिक्षक की रूप में अपना करियर बना सकते हैं।

अनुसंधान क्षेत्र:

सरकारी शोध संस्थान और निजी कंपनियां नयी दवाइओं की खोज व पुरानी दवाइओं की क्षमता वृद्धि के लिए लगातार अनुसंधान करती रहती हैं. आप चाहें तो अपनी क्षमता और ज्ञान का इस्तेमाल नये उत्पादों के विकास में करने के लिए किसी निजी या सार्वजनिक अनुसंधान संगठनों से जुड़ सकते हैं.

खुद का मेडिकल स्टोर :

डी फार्मा या बी फार्मा कोर्स करने के बाद अगर आप नौकरी नहीं करना चाहते हैं, तो आप खुद का मेडिकल स्टोर मतलब दवा दुकान भी खोल सकते हैं। आपके जानकारी की लिए बता दू की दवा दुकान खोलने की लिए लाइसेंस की जरूरत होती है जिसे सिर्फ डी फार्मा या बी फार्मा डिग्री धारक ही प्राप्त कर सकता है.

फार्मेसी कोर्स सब्जेक्ट्स | B. Pharma Syllabus

पहला साल:

Pharmaceutical Analysis 1Pharmaceutical Chemistry
Computer ApplicationsBiology
Organic ChemistryPharmacognosy 1
Advanced MathematicsBasic Electronics
Anatomy & Physiology

दूसरा साल:

Pharmacognosy 2Pharmaceutical Chemistry 2
Pharmaceutical Analysis 2AP HE-1
PharmaceuticsOrganic Chemistry 2
Pharmacognosy 3AP HE- 2
Dispensing & Community Pharmacy

तीसरा साल:

BiochemistryPharmacology 2
BiopharmaceuticsMedicinal Chemistry 1
Pharmaceutical Jurisprudence EthicsMedicinal Chemistry 2
Pharmacology 1Hospital Pharmacy
Chemistry of Natural Products

चौथा साल:

Pharmaceutical BiotechnologyPharmaceutics
ElectivesClinical Pharmacy
Projected Related to ElectivePharmacognosy
Medicinal Chemistry 3Drug Interactions
Chemistry of Natural Products

इस पोस्ट में हमने आपको बताया की फार्मेसी कोर्स कोर्स कैसे करें और फार्मा करने के बाद कौन सी नौकरी मिल सकती है? हमें उम्मीद है की pharmacy course के बारे में आपको सभी जानकारी मिल गया होगा अगर B. Pharma या D. Pharma या pharmacy कोर्स पोस्ट से सम्बंधित आपके पास कोई प्रश्न है तो कृपया कमेंट कर के पूछे हम उसका जबाब जल्द से जल्द देने के कोशिश करेंगे।

2 thoughts on “Pharmacy Course details in Hindi – फार्मेसी कोर्स कर करियर कैसे बनायें?”

  1. Pingback: बिजनेस एनालिस्ट ( Business Analysis ) कोर्स क्या है और कैसे करें - Career Moka

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!