भारत में जब भी पहलवानी की बात होती है तो गामा पहलवान का जिक्र जरूर होता है.

भारत में जब भी पहलवानी की बात होती है तो गामा पहलवान का जिक्र जरूर होता है.

Gama Pehalwan एक ऐसा पहलवान जो कभी कोई कुश्ती नहीं हारा

Gama Pehalwan एक ऐसा पहलवान जो कभी कोई कुश्ती नहीं हारा

Gama Pehalwan के जन्मदिन के मौके पर गूगल ने इनका डूडल (Google doodle ) बनाकर इन्हें याद किया है

गामा पहलवान की लंबाई 5 फीट 7 इंच और वजन लगभग 113 किलो था.

गामा पहलवान की लंबाई 5 फीट 7 इंच और वजन लगभग 113 किलो था.

उनके पिता का नाम मुहम्मद अजीज बक्श था और पहलवानी के शुरुआती गुर गामा पहलवान को उनके पिताजी ने ही सिखाए थे.  

गामा पहलवान का असली नाम गुलाम मोहम्मद बख्श भट्ट था. 22 मई 1878 को अमृतसर के जब्बोवाल गांव में जन्म हुआ था

हालांकि, इनके जन्मस्थान को लेकर इतिहासकारों में मतभेद रहा है. कुछ इतिहासकारों का कहना है, इनका जन्म मध्य प्रदेश के दतिया में हुआ.

भारत में सभी पहलवानों को धूल चटाने के बाद उन्होंने 1910 में लंदन का रुख किया.

1910 में वे  इंटरनेशन कुश्ती चैंपियनशिप में हाइट केवल 5 फीट और 7 इंच की हाइट होने के कारण चैंपियनशिप में शामिल नहीं किया

गामा ने 1910 मेंवर्ल्ड हैवीवेट चैम्पियनशिप और 1927 में वर्ल्ड कुश्ती चैम्पियनशिप जीती 

रोजाना 6 देसी मुर्गे, 10 लीटर दूध, 200 ग्राम को पीसकर बनाए गए खास पेय का सेवन करते थे

वह रोजाना अपने 40 साथियों के साथ कुश्ती करते थे, इसके अलावा 5 हजार बैठक और 3 हजार पुशअप्स उनके वर्कआउट रूटीन का अहम हिस्सा था.