प्रोडक्ट डिज़ाइनर कैसे बनें

किसी भी प्रोडक्ट को खरीदने में ग्राहकों के लिए आकर्षक डिजाइन आज के समय में जरूरी होता जा रहा है। जिसके लिए Product Designing करने वाले प्रोफेशनल को हायर करते है

एक प्रोडक्ट डिज़ाइनर का काम उत्पाद की रूप रेखा , उसकी कार्यप्रणाली, सामग्री, निर्माण प्रक्रिया और उसके प्रयोग के महत्त्व पर ध्यान केंद्रित कारण होता है। 

प्रोडक्ट डिज़ाइनर सबसे पहले प्रोडक्ट में इस्तेमाल होने वाली सामग्री का चयन करते हैं और शुरुआती डिजाइनों को ड्रॉ करते हैं।  

product designing courses करने वाले उम्मीदवारों को ड्राइंग में अच्छा होना चाहिए और ग्राहक की जरूरतों को समझने की क्षमता भी होनी चाहिए।

12 वीं के बाद Product Designing Courses में बैचलर्स, पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा, सर्टिफिकेट या मास्टर्स कोर्स कर सकते है।

अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट स्तर पर संस्थानों में दाखिले के लिए कई प्रवेश परीक्षाओं का आयोजन भी किया जाता है।

यूसीईईडी, एआईईईडी, सीईईडी  प्रवेश  परीक्षा के जरिये उम्मीदवार के जनरल एप्टीट्यूड टेस्ट और क्रिएटिव एप्टीट्यूड की परख भी की जाती है। 

एक प्रोडक्ट डिज़ाइनर टेक्सटाइल इंडस्ट्री से लेकर मैन्युफैक्चरिंग फर्मों,  इलेक्ट्रॉनिक्स , फर्नीचर, आदि तमाम कंपनियों में अपने लिए मौके तलाश कर सकते हैं

 ट्रेनी के रूप में प्रवेश स्तर पर  लगभग  25,000 – 50,000 रूपए प्रति माह मिलेंगे। हालाँकि, यदि आप आईआईटी या अन्य प्रतिष्ठित कॉलेजों से स्नातक हैं, तो आप  50,000 – 1,00,000 रूपए प्रति माह तक कमा सकते हैं।

Product Designing Course के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें

Arrow