टेक्सटाइल डिजाइनिंग कोर्स क्या है और कैसे करें 

टेक्सटाइल इंडस्ट्री के फैशन टेक्नोलॉजी में देश से लेकर विदेश तक करियर बनने के अच्छा मौका मिलता है।

वस्त्र उद्योग प्रमुख रूप से कच्चे धागे, फैब्रिक, वस्त्र तथा कपड़ों के डिजाइन से लेकर प्रोडक्शन तथा वितरण से सम्बन्धित है।

टेक्सटाइल इंडस्ट्री में आप योग्यता के अनुसार बतौर टेक्सटाइल डिजाइनर, डिजाइन कंसल्टेंट, टेक्सटाइल इलस्ट्रेटर, फैब्रिक एनालाइजर, फैब्रिक रिसोर्स मैनेजर, प्रिंट एंड पैटर्न डिजाइनर, इनोवेटिव डिजाइन कंसल्टेंट के रूप में टेक्सटाइल इंडस्ट्री में अपना पहचान बना सकते है  

डिजाइनिंग के अन्य क्षेत्रों की तरह यह भी एक क्रिएटिविटी से जुड़ा हुआ क्षेत्र है जिसमे टेक्सचर, पैटर्न, डिजाइन संबंधी रिसर्च, डेवलपमेंट, कलर, सैंपल डिजाइन, स्केच, टैक्सचर एवं फैब्रिक संबंधी कार्य किये जाते है

Textile Industry में करियर बनने के लिए बारहवीं के बाद सर्टिफिकेट, डिप्लोमा या बैचलर डिग्री कोर्स कर सकते है।  

10+2 के बाद टेक्सटाइल डिजाइन, अपेरल डिजाइन में बीडेस, फैशन एवं टेक्सटाइल डिजाइन में बीएससी, टेक्सटाइल केमिस्ट्री में बीटेक आदि में से कोई भी कोर्स कर टेक्सटाइल इंडस्ट्री में नौकरी पा सकते है

टेक्सटाइल में डिप्लोमा कोर्स 12वीं पास करने के बाद क़र सकते है जो एक साल से लेकर चार साल तक के होते है डिप्लोमा कोर्स में एडमिशन के लिए कम से कम 40% से 50% अंक 10+2 में होना चाहिए।

टेक्सटाइल इंडस्ट्री या टेक्सटाइल टेक्नोलॉजी से जुड़े कोर्स में एडमिशन के लिए प्रवेश परीक्षा भी लिए जाता है अगर आप किसी अच्छे कॉलेज/इंस्टिट्यूट में एडमिशन लेना चाहते है तो इन प्रवेश परीक्षा में अच्छा रैंक लाना होगा.  

इस टेक्सटाइल इंजीनियरिंग कोर्स करने के लिए 10+2 में फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ्स या बायोलॉजी के साथ पास होना जरुरी हैं। 

टेक्सटाइल इंडस्ट्री से जुड़े कोर्स करने के बाद सरकारी, सहकारी से लेकर प्राइवेट तक काफी फैक्ट्री और कंपनियां हैं, जो टेक्सटाइल डिजाइन से संबंधित कोर्स करने वाले को नौकरी देती हैं 

टेक्सटाइल डिजाइनिंग कोर्स के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें

Arrow