बिजनेस एनालिस्ट ( Business Analysis ) कोर्स क्या है और कैसे करें

Business Analytics: मध्यकालीन समय में सोना को सबसे महत्वपूर्ण धातु माना गया है, तो पिछले 50 वर्षों में उसकी जगह तेल ने ले ली है, और अब जब हम एक डिजिटल दुनिया में हैं तो तेल की जगह डेटा को मिल गई है। आज के इस डिजिटल युग में ऐसा कहा गया है कि सही डेटा रखने वाला व्यक्ति सबसे शक्तिशाली माना जायेगा. तो अगर आप किसी भी बिज़नेस के विश्लेषण करने में दिलचस्पी रखते हैं और उसका डेटा तैयार कर तथ्यों के विश्लेषण या आंकड़ों का इस्तेमाल कर बिजनेस संबंधी नीतियां बना सकते है तो बिजनेस एनालिस्ट आपके लिए एक बेहतर करियर विकल्प हो सकता है।

आज भारत ही नहीं, पूरी दुनिया में बिजनेस एनालिस्ट की मांग बढ़ रहा है। बिजनेस एनालिस्ट का काम बाजार में कंपनियों की सफलता का विश्लेषण कर कंपनी के वर्तमान और भविष्य के लिए रणनीतियां बनाना होता है। साथ ही प्रतिस्पर्धी कंपनियों को मात देकर अपनी कंपनी को बाजार में तेज बढ़त दिलाना होता है। ऐसे में लीक से हटकर सोचने और टेक्नोलॉजी पर अच्छी पकड़ वाले छात्र बिजनेस एनालिस्ट बन अपना करियर बना सकते है।

आज के इस पोस्ट में आपको बताने जा रहा हूँ की कैसे आप business analytics courses कैसे कर सकते है, business analyst course qualification क्या है इस बिजनेस एनालिस्ट कोर्स का फीस कितना है और इस कोर्स को करने के बाद सैलेरी कितना मिलता है. इन सभी सवालो का जबाब और business analyst course details की जानकारी इस पोस्ट में मिल जायेगा. तो ध्यान से इस पोस्ट को पढ़े.

business-analyst-certification-course-बिजनेस एनालिस्ट

बिजनेस Analysis क्या है

बिजनेस के तेजी या धीमी पड़ जाने की स्थिति में आकलन करने के लिए बिजनेस का विश्लेषण बहुत ही जरुरी होता है
क्योकि किसी भी बिज़नेस के विश्लेषण से ही पता चलता है की बाजार में उस बिज़नेस के लिए क्या संभावनाएं है साथ ही कंपनी की सफलता भी इस पर निर्भर करती है कि वह अपने बिजनेस से जुड़े बाजार के तमाम उतार-चढ़ावों का ठोस आकलन और अनुमान सही समय पर कर पाती है या नहीं। जिसके लिए बिजनेस ऐनालिस्ट की सेवाएं लेना जरूरी होता है।

बिजनेस एनालिटिक्स में कई ऑनलाइन और ऑफलाइन कोर्स कराये जाते है जिसे काम करने वाले पेशेवर भी अपने कौशल को बढ़ाने और अपने कैरियर की संभावनाओं को बढ़ने के लिए करते है

बिजनेस एनालिस्ट का क्या काम होता है.

कंपनी की बढ़त, उत्पादकता, जोखिम और उपभोक्ता की मांग के हिसाब से रणनीति तैयार करना एक बिजनेस एनालिस्ट का प्रमुख काम होता है। ये बिजनेस एनालिस्ट आंकड़ों और गणितीय टूल्स के इस्तेमाल से डेटा द्वारा होने वाली बिज़नेस की परेशानियों को हल करते हैं। बिजनेस एनालिस्ट ही कंपनी के बिजनेस, बाजार में प्रतिस्पर्धा और भविष्य के लक्ष्य का आकलन करता है साथ ही बिज़नेस में आने वाली समस्याओं और उनके समाधान के बीच पुल का काम करता है।

Business-Analyst-job-description

बड़ी-बड़ी कंपनियां बिजनेस एनालिस्ट से बात कर इस बात का फैसला करती हैं कि किन बाजारों में उसे उतरना है। उत्पादों या सेवाओं की कीमतें कैसी पेश करनी हैं। साथ ही लागत तथा माहौल संबंधी बाधाओं को देखते हुए किन जगहों पर कामकाज को और प्रभावी करने की जरूरत है। इस पेशे में डेटा विश्लेषण और तथ्यों पर आधारित प्रबंधन का खूब प्रयोग होता है ताकि कंपनी के हितों के अनुकूल फैसले लेने में मदद मिल सकें।

Business Analytics Skills

  • जाँच से जुड़े रोजगार (इनवेस्टिगेटिव ऑक्यूपेशंस) – आपको जाँच से जुड़े रोजगारों(इनवेस्टिगेटिव ऑक्यूपेशंस) में दिलचस्पी होनी चाहिए। जाँच से जुड़े रोजगारोंमें बहुत सारे आईडिया और नया सोचने की ज़रूरत होती है। ज़्यादातर एकदम अलग और वैचारिक सोच की ज़रूरत होती है। इसमें तथ्यों और आँकड़ों के बारे में पढ़ना होता है; डेटा एनालिसिस का इस्तेमाल होता है, किसी परिस्थिति को गहराई से जाँचना , फ़ैसले लेना और समस्या सुलझाने का काम इसमें शामिल होता है।
  • परंपरागत रोजगार (कन्वेंशनल ऑक्यूपेशंस) – आपको परंपरागत (कन्वेंशनल) रोजगारोंमें दिलचस्पी होनी चाहिए। परंपरागत रोजगारोंमें काम करने के लिए उसे बार-बार दोहराने और नियमित रूप से करने के साथ-साथ एक तय तरीके से किया जाता है। इन रोजगारोंमें नए-नए आईडिया और क्रिएटिविटी की जगह पर ज़्यादातर डेटा, सिस्टम और प्रोसेस के साथ काम किया जाता है।
  • कलात्मक रोजगार (आर्टिस्टिक ऑक्यूपेशंस) – आर्टिस्टिक रोजगारोंमें आपकी दिलचस्पी होनी चाहिए: आर्टिस्टिक रोजगारोंमें ख़ास तौर पर क्रिएटिव आईडिया,आर्ट और डिज़ाइन के साथ काम करना शामिल होता है।इन रोजगारोंमें सार निकालते हुए काल्पनिक और रचनात्मक सोच के साथ काम किया जाता है, इसमें किसी भी काम को करने के लिए किसी ख़ास तरीके या नियमों का पालन नहीं होता है।
Business-Analyst-salary-in-India - बिजनेस एनालिस्ट

बिजनेस एनालिस्ट (Business Analytics) शैक्षणिक योग्यता

बिजनेस एनालिटिक्स बनने के लिए स्नातक या समकक्ष में न्यूनतम 50% अंक से उत्तीर्ण करने के बाद डिप्लोमा, सर्टिफिकेट या डिग्री कोर्स कर सकते हैं डिप्लोमा और सर्टिफिकेट बिज़नेस ऐनालिस्ट कोर्स छह माह से एक साल तक का होता है जबकि पोस्ट ग्रेजुएट और मास्टर बिजनेस ऐनालिस्ट कोर्स दो साल का होता है।

कोर्स अवधि
सर्टिफिकेट प्रोग्राम इन बिग डेटा एंड ऐनालिस्टछह माह
एग्जीक्यूटिव प्रोग्राम इन बिजेनस ऐनालिस्टछह माह से एक साल तक
पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम इन बिजनेस ऐनालिस्टदो साल
मास्टर ऑफ बिजनेस ऐनालिस्टदो साल

बिजनेस एनालिस्ट प्रवेश परीक्षा

बिजनेस ऐनालिस्ट का कोर्स किसी अच्छे संस्थान से करने के लिए कैट, मैट, सीमैट, जीमैट आदि जैसे प्रवेश परीक्षा देना होगा, इस प्रवेश परीक्षा में अच्छा रैंक लाने पर ही एडमिशन एडमिशन मिलता है।

Business analytics course institute

  • दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी, दिल्ली 
  • एमिटी यूनिवर्सिटी, नोएडा 
  • गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय, ग्रेटर नोएडा 
  • शारदा विश्वविद्यालय, ग्रेटर नोएडा 
  • भारतीय प्रबंधन संस्थान, कोलकाता 
  • भारतीय प्रबंधन संस्थान, बेंगलुरु ।
  • आईआईएम कोझिकोड 
  • आईआईएम, अहमदाबाद
  • ग्रेट लेक्स इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, चेन्नई
भविष्य की संभावनाएँ (फ्यूचर प्रॉस्पेक्ट्स)

एनालिटिक्स इंडिया मैगज़ीन की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय मार्केट और डेटा एनालिटिक्स इंडस्ट्री वर्तमान में 2.71 बिलियन यूएस डॉलर है। साथ ही, इसके 33% प्रति साल तक बढ़ोतरी के आसार हैं। वर्तमान दर के हिसाब से, यह अनुमान है कि 2025 तक डेटा एनालिस्ट इंडस्ट्री बढ़कर 20 बिलियन यूएस डॉलर तक हो जाएगा। यह वर्तमान मार्केट साइज़ का लगभग 8 गुना है। मार्केट में रिसर्च सर्विसेज़ में होने वाले निर्यात का करीब 45%  यूएस को जाता है, जो कि प्रति साल 45% के समान दर से बढ़ रहा है।

Also Read… फार्मेसी कोर्स कर करियर कैसे बनायें?

मार्केट की इतनी बड़े स्तर पर विकास यह दर्शाता है कि ना सिर्फ़ भारत बल्कि विदेशी मार्केट भी भारतीय मार्केट रिसर्च सर्विसेज़ का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसके अलावा कन्सल्टिंग फर्म जो मार्केट रिसर्चर को रोज़गार दे रही हैं साथ ही भारत में कन्सल्टिंग इंडस्ट्री में प्रति साल 9% की दर से बढ़ोतरी हो रही है इसलिए, कुल मिलाकर मार्केट में बिज़नेस एनालिस्ट /डेटा एनालिस्ट का भविष्य बहुत शानदार है। वर्तमान में डेटा विश्लेषण कम्पनियाँ और कंसल्टिंग कंपनियां में काफ़ी हद तक बढ़ोतरी हुई है।

करियर ग्रोथ

अगर आप अपने करियर की शुरुआत एक डेटा एनालिस्ट/रिसर्च एनालिस्ट/मैनेजमेंट ट्रेनी के रूप में करते हैं तो आगे चलकर बिज़नेस एनालिस्ट या फाइनेंशियल एनालिस्ट बन सकते हैं। बाद में आप बिज़नेस एनालिस्ट प्रमुख और फिर सीनियर बिज़नेस एनालिस्ट और अंत में एनालिटिक्स मैनेजर बन सकते हैं।अगर आप फाइनेंशियल एनालिस्ट रह चुके हैं, तो आप एक सीनियर फाइनेंशियल एनालिस्ट और फिर फाइनेंस मैनेजर बन सकते हैं। अगर आप बिज़नेस एनालिस्ट ट्रेनी के रूप में अपने करियर की शुरुआत करते हैं, तो आप जल्द ही बिज़नेस एनालिस्ट और फिर सीनियर बिज़नेस एनालिस्ट बन सकते हैं। उसके पास बिज़नेस एनालिस्ट प्रमुख और फिर मैनेजमेंट कन्सलटेन्ट बन सकते हैं।

बिजनेस एनालिस्ट सैलेरी

  • एंट्री लेवल पर एक डेटा एनालिस्ट केटर पर काम करते हुए आप पप्रति महीने 15,000-2,00,000 रुपए तक कमा सकते हैं। एक मार्केट रिसर्च असोसिएट के तौर पर आप प्रति महीने क़रीब 10,000-1,00,000 रुपए तक कमा सकते हैं। एक बिज़नेस एनालिस्ट ट्रेनी के रूप में आप 25,000-3,00,000 प्रति महीने कमा सकते हैं।
  • जूनियर लेवल पर काम करते हुए 2-6 साल के अनुभव के बाद आप प्रति महीने क़रीब 30,000-4,00,000 रुपए तक कमा सकते हैं।
  • मिडिल लेवल पर काम करते हुए 6-12 साल के कार्य अनुभव के बाद आप क़रीब 50,000-6,00,000 रुपए प्रति महीने कमा सकते हैं।
  • सीनियर लेवल पर काम करते हुए 12 साल के कार्य अनुभव के बाद आप 1,00,000-10,00,000 रुपए प्रति महीने कमा सकते हैं।

रोज़गार के अवसर

  • अगर आप डेटा के विश्लेषण की ज़्यादा रुचि रखते हैं तो आप अलग अलग फर्म और एमएनसी में डेटा एनालिस्ट/रिसर्च एनालिस्ट/मैनेजमेंट ट्रेनी के रूप में चुने जा सकते हैं। कुछ जाने-माने कन्सल्टिंग फर्म हैं जैसे ऐसेंचर, बेन& कम्पनी, बोस्टन कन्सल्टिंग ग्रुप (बीसीजी), डेलॉयट,Ernst & Young, केएमपीजी, मैकेंज़ी, पीडब्ल्यूसी, आदि।
  • अगर आप एनालिटिक्स के बिज़नेस पक्ष की ओर रुचि रखते हैं जहाँ आप रणनीतियों के परिणामों का इस्तेमाल करते हैं, तो आपको अलग अलग एमएनसी, मीडिया हाउस, रिटेल और फाइनेंस संगठनों द्वारा एक बिज़नेस एनालिस्ट के तौर पर चुने जा सकते हैं।

काम का माहौल

डेटा/बिज़नेस एनालिस्ट के काम करने का माहौल उनके काम पर निर्भर करता है। डेटा एनालिस्ट का काम ज़्यादातर ऑफिस से जुड़ा होता है। हालांकि, इस काम में मैथेमेटिकल टूल्स का बहुत ज़्यादा इस्तेमाल होता है इसलिए रिसर्च को सटीक तरह से करने का दबाव हो सकता है। वे ज़्यादातर रिसर्च असोसिएट के साथ मिलकर काम करते हैं। बिज़नेस एनालिस्ट को ऑफ़िस में रहकर एक टीम के साथ काम करना पड़ता है और समाधान का विश्लेषण देने में पूरा ध्यान देना होता है इसलिए बहुत ज़्यादा विचार-मंथन करने की ज़रूरत पड़ती है। उनके काम करने का समय पूरे करियर में सामान्यतः रेगुलर ही रहता है।\

इस पोस्ट में हमने आपको बताया की बिजनेस एनालिस्ट कोर्स कैसे करें और बिजनेस एनालिस्ट कोर्स (business analytics) करने के बाद कौन सी नौकरी मिल सकती है? हमें उम्मीद है की business analytics के बारे में आपको सभी जानकारी मिल गया होगा अगर business analytics कोर्स पोस्ट से सम्बंधित आपके पास कोई प्रश्न है तो कृपया कमेंट कर के पूछे हम उसका जबाब जल्द से जल्द देने के कोशिश करेंगे।

1 thought on “बिजनेस एनालिस्ट ( Business Analysis ) कोर्स क्या है और कैसे करें”

  1. Pingback: प्रोडक्ट डिजाइनिंग कोर्स कर प्रोडक्ट डिज़ाइनर कैसे बनें | Product Designing Courses -

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *