Entrepreneur kaise bane in hindi – एंटरप्रेन्योरशिप क्या है और कैसे करें?

एंटरप्रेन्योरशिप | entrepreneurship meaning | एंटरप्रेन्योरशिप क्या है | एंटरप्रेन्योरशिप मीनिंग इन हिंदी | entrepreneurship development | एंटरप्रेन्योरशिप क्या होता है | एंटरप्रेन्योरशिप का मतलब | बिजनेस आइडिया

पिछले कुछ वर्षों से इंडिया में एक नया शब्द काफी ज्यादा सुनने में आ रहा है जिसका नाम है एंटरप्रेन्योरशिप। जैसा कि आप जानते हैं कि आजकल इंडिया के युवाओं में बिजनेसमैन बनने की इच्छा प्रबल हो रही है। इंडिया के अधिकतर लड़के और लड़कियां अब नौकरी से ज्यादा बिजनेस करने में इंटरेस्ट ले रहे हैं और इसीलिए वह अपने नए-नए और विशेष आइडिया के साथ मार्केट में अपने बिजनेस को लॉन्च कर रहे हैं।

अच्छी पढ़ाई लिखाई होने के कारण और बिजनेस के बारे में पूरी रिसर्च करने के बाद जब कोई युवा एंटरप्रेन्योरशिप करते हुए अपना प्रोडक्ट/सर्विस मार्केट में लांच करता है, तो उसके सफल होने की संभावना काफी ज्यादा होती है। इसीलिए बड़े बुजुर्ग यह बात कह गए हैं कि किसी भी चीज के बारे में अगर सोच विचार करके अपने कदम आगे बढ़ाए जाए, तो उस चीज में सफलता मिलने के चांस ज्यादा हो जाते हैं।

एंटरप्रेन्योरशिप क्या है?

सरल शब्दों में एंटरप्रेन्योरशिप से तात्पर्य एक शानदार बिजनेस आइडिया के साथ मार्केट में उतरना है। अपनी मेहनत के दम पर उस बिजनेस को आगे चलकर के हर जगह फैला देना और उसे एक बड़े बिजनेस में कन्वर्ट कर देना।

एंटरप्रेन्योर क्या है?

जो इंसान किसी बिजनेस आइडिया के साथ मार्केट में उतरता है और धीरे-धीरे उस बिजनेस को अपनी रणनीति का इस्तेमाल करके आगे चलकर के एक बड़े बिजनेस में तब्दील कर देता है उसे इंसान को ही एंटरप्रेन्योर अर्थात उधमी कहा जाता है। एंटरप्रेन्योर अपने बिजनेस आइडिया पर पूरा फोकस लगाकर के वर्क करते हैं। आजकल कई यंगस्टर्स एंटरप्रेन्योर बनने की इच्छा रखते हैं‌।

Entrepreneur kaise bane in hindi -बिजनेस आइडिया” class=”wp-image-7409″ width=”800″ height=”403″/>
Entrepreneur kaise bane in hindi

एंटरप्रेन्योरशिप कैसे करें?

कुछ लोगों के लिए एंटरप्रेन्योरशिप नया नाम है।इसीलिए लोग इसके बारे में चर्चा करने से बचते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि यह कोई एक ऐसी चीज है, जो उनके बस के अंदर नहीं है, परंतु हम आपको बता दें कि अगर आप एंटरप्रेन्योरशिप को समझने का प्रयास करेंगे, तो आप आसानी से इसके महत्वपूर्ण पहलुओं और बेसिक इनफार्मेशन के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकेंगे।

एंटरप्रेन्योरशिप कैसे की जाती है,यह जानना हर उस व्यक्ति के लिए आवश्यक है जो अपना खुद का कोई बिजनेस स्टार्ट करना चाहता है अथवा अपने यूनिक आइडिया को बिजनेस में तब्दील करके मार्केट में लांच करना चाहता है

एंटरप्रेन्योरशिप कैसे की जाती है?

अगर आपके पास कोई यूनीक बिजनेस आइडिया, कोई यूनिक स्टार्टअप या फिर किसी भी प्रकार का बिजनेस आईडिया है और आप उस बिजनेस आइडिया को मार्केट में अपनाना चाहते हैं,तो आपको एंटरप्रेन्योरशिप के बारे में जानकारी हासिल करने की आवश्यकता है। नीचे हम आपको इस बात की इंफॉर्मेशन दे रहे हैं कि आप कैसे एंटरप्रेन्योरशिप कर सकते हैं अथवा एंटरप्रेन्योरशिप स्टार्ट कैसे की जाती है।

1: फंड इकट्ठा करें

आप एंटरप्रेन्योरशिप तब तक स्टार्ट नहीं कर सकते, जब तक आपके पास फंड यानी कि पैसों का प्रबंध ना हो जाए, क्योंकि यह बात तो जगजाहिर है कि किसी भी प्रकार के बिजनेस को करने के लिए या फिर किसी भी ऐसे काम को करने के लिए जिसमें पैसे की आवश्यकता होती है, उसके लिए आपके पास फंड होना जरूरी है।

इसीलिए एंटरप्रेन्योरशिप स्टार्ट करने के लिए आपको इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि, आप जो बिजनेस चालू करना चाहते हैं, उसमें कितना इन्वेस्टमेंट आपको करना पड़ेगा और आपको अपने बिजनेस के लिए कौन सी मशीनें लानी पड़ेगी, साथ ही कारीगर और उनकी सैलरी के बारे में भी आपको इंफॉर्मेशन प्राप्त करनी होगी।

2: बिजनेस का सिलेक्शन करें

फंड का प्रबंध करने के बाद किसी भी प्रकार के बिजनेस को चालू करने के लिए आपके पास एक यूनीक बिजनेस आइडिया और उस बिजनेस को किस प्रकार से चालू करना है उसका प्लान होना चाहिए।अक्सर व्यक्ति बिजनेस से अधिक फायदा कमाने के बारे में सोचता है।

इसीलिए हमारी राय के अनुसार आपको इस बात पर गौर करना चाहिए कि कौन से बिजनेस की मार्केट में डिमांड ज्यादा है और उसी हिसाब से आपको अपना बिजनेस स्टार्ट करना चाहिए। बिजनेस स्टार्ट करने से पहले आपको यह भी देखना चाहिए कि आप जो बिजनेस चालू करने जा रहे हैं, उसके फायदे नुकसान क्या है और उस बिजनेस को करके आप कितना पैसे कमा सकते हैं।

3: जोखिम उठाने के लिए रेडी रहें

जिस प्रकार दुनिया में कोई भी काम आसान नहीं होता है, उसी प्रकार एंटरप्रेन्योरशिप करना भी आसान काम नहीं है।आपको इस काम को करने में कई कठिनाइयां झेलनी पड़ेगी और इसीलिए आपको पहले ही कठिनाइयों और रिस्क को झेलने के लिए तैयार रहना पड़ेगा।

कई लोग ऐसे होते हैं जो अपनी जिंदगी में जोखिम उठाने से डरते हैं, इसके कारण उनके पास बिजनेस आइडिया होते हुए भी वह अपने बिजनेस आइडिया को धरातल पर नहीं उतार पाते हैं।

हम आपको यह कहना चाहते हैं कि अगर आप जोखिम उठाने से डरते हैं, तो आपको सबसे पहले तो ऐसे लोगों के बारे में पढ़ना चाहिए, जो एंटरप्रेन्योर बन चुके हैं। वह लोग भी पहले एक साधारण व्यक्ति ही थे और कठिनाइयों को पार करके ही उन्होंने एंटरप्रेन्योरशिप की है। इस प्रकार जब वह लोग कर सकते हैं तो आप क्यों नहीं।

4: अपनी लीडरशिप स्किल्स को डिवेलप करें।

अगर आप अपने आपको एक सक्सेसफुल एंटरप्रेन्योर बनाना चाहते हैं और एंटरप्रेन्योरशिप करना चाहते हैं, तो आपको अपने अंदर मौजूद लीडरशिप स्किल्स को और भी ज्यादा डेवलप करना होगा, क्योंकि जब आपकी लीडरशिप स्किल्स अच्छी होगी, तभी आप अपने साथ काम करने वाले वर्करों के साथ अच्छा व्यवहार कर पाएंगे और उनसे अच्छा काम करवा पाएंगे।कुछ काम ऐसे होते हैं, जिन्हें करवाने के लिए आपको दूसरे लोगों पर निर्भर रहना पड़ता है।ऐसे में अगर आपका लीडरशिप कौशल अच्छा है, तो आप आसानी से दूसरे लोगों से काम करवा सकेंगे।

5: प्रॉब्लम को सॉल्व करना आना चाहिए

किसी भी बिजनेस को स्टार्ट करने में हमें कई प्रकार की प्रॉब्लम का सामना करना पड़ता है।इसीलिए जब आप कोई बिजनेस स्टार्ट करेंगे, तो यह जाहिर सी बात है कि आपको भी कई छोटी-मोटी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा,परंतु ऐसी अवस्था में आपको घबराना नहीं है, बल्कि आपको उन समस्याओं का समाधान ढूंढने का प्रयास करना है।

कई लोग ऐसे होते हैं, जो किसी भी प्रॉब्लम के सामने आने के बाद काफी जल्दी घबरा जाते हैं और उस प्रॉब्लम से हार मान लेते हैं, परंतु एक सक्सेसफुल एंटरप्रेन्योर कभी भी प्रॉब्लम से हार नहीं मानता है, क्योंकि उसे पहले से ही यह पता होता है कि बिजनेस को स्थापित करने के रास्ते में उसे कई कठिनाइयां आएंगी और अगर वह उन कठिनाइयों के सामने अपने घुटने टेक देगा तो कभी भी वह अपने बिजनेस को सफल नहीं बना पाएगा।

 इस प्रकार एंटरप्रेन्योरशिप करने के लिए आपको प्रॉब्लम को अपनी बुद्धि और विवेक का इस्तेमाल करके सॉल्व करना आना चाहिए।

6: कुछ हटकर सोचें

बिजनेस करने के लिए यह आवश्यक नहीं है कि आप दूसरे लोगों की देखा देखी करें। कई लोग ऐसे होते हैं, जो यह देखते हैं कि कोई व्यक्ति अगर किसी पर्टिकुलर बिजनेस में सफलता हासिल कर रहा है,तो वह भी उस व्यक्ति के बिजनेस को करने के बारे में सोचते हैं, परंतु होता यह है कि जानकारी नहीं होने के कारण वह उस बिजनेस में सफलता हासिल नहीं कर पाते हैं या फिर कई बार तो उन्हें उस बिजनेस में नुकसान ही हो जाता है।

ऐसे में आपको सक्सेसफुल एंटरप्रेन्योर बनने के लिए और एंटरप्रेन्योरशिप करने के लिए थोड़ा हटकर सोचना पड़ेगा, क्योंकि आपको अपने यूनीक आइडिया की सेलिंग करनी है अथवा अपने यूनिक प्रोडक्ट को बेचना है और यह तभी हो पाएगा, जब आप अन्य लोगों से थोड़ा हटकर विचार करेंगे। यह आवश्यक नहीं है कि आप बचपन से ही क्रिएटिव माइंड के हो, बड़े होकर के भी आप क्रिएटिव बन सकते हैं और अपनी क्रिएटिविटी का इस्तेमाल करके यूनिक बिजनेस आइडिया को इमप्लांट कर सकते हैं।

7: अपने लक्ष्य को तय करें

एंटरप्रेन्योरशिप करने के लिए यह भी आवश्यक है कि आपको यह पता होना चाहिए कि आपका लक्ष्य क्या है, क्योंकि जब आपको अपने लक्ष्य के बारे में पता होगा तो आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए एक सिस्टमैटिक तरीके से काम करेंगे।

2 thoughts on “Entrepreneur kaise bane in hindi – एंटरप्रेन्योरशिप क्या है और कैसे करें?”

  1. Pingback: Dental Assistant Course details fee duration eligibility

  2. Pingback: मुख्यमंत्री आवासीय भू-अधिकार योजना मध्यप्रदेश 2021 ऑनलाइन आवेदन पात्रता लिस्ट

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!