जमाबंदी बिहार ऑनलाइन खाता खेसरा जमाबंदी नंबर निकाले- Jamabandi Bihar

अगर आप बिहार के निवासी है और आपका बिहार में किसी भी तरीके का कोई भी प्रॉपर्टी है तो उस पर प्रॉपर्टी का जमाबंदी सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है जो की दाखिल खारिज के बाद बनता है आज के इस पोस्ट में है मैं आपको बताने जा रहा हूं कि जमाबंदी बिहार ऑनलाइन कैसे निकाल सकते हैं इसके अलावा खाता खेसरा बिहार जमाबंदी क्या होता है और इसके क्या फायदा है और किस तरीके से आप अपना जमीन का जमाबंदी नंबर निकाल सकते हैं इस सारी चीजें मैं आपको इस पोस्ट में बताऊंगा तो ध्यान से इस पोस्ट को पढ़ें सारा जानकारी jamabandi के बारे में मिल जाएगा। 

पहले जमाबंदी बिहार निकालने के लिए कर्मचारी के ऑफिस में कई चक्कर लगाने होते थे तब जाकर के जमाबंदी का कोई भी दस्तावेज आपको मिल पाता था लेकिन अब जमाना बदल गया है और इस डिजिटल जमाने में  आप घर बैठे अपना किसी भी जमीन या प्रॉपर्टी का jamabandi निकाल सकते हैं. इसके लिए बिहार सरकार के राजस्व विभाग के द्वारा जारी किए गए वेबसाइट बिहार भूमि से निकाल सकते हैं.

किसी भी जमीन का जमाबंदी मालिकाना हक का सबूत होता है  मतलब यह है कि जमीन का असली मालिक कौन है वो जमाबंदी में लिखा हुआ होता है अगर जमाबंदी बिहार में जमीन मालिक का नाम लिखा हुआ है तो आप समझ ले की उस जमीन पर किसी भी तरह का कोई विवाद नहीं है लेकिन आपको ध्यान रखने वाली बात यह है कि जमाबंदी में असली मालिक का नाम तभी चढ़ता है जब वह अपने जमीन का दाखिल खारिज करा लेता है 

जमाबंदी बिहार ऑनलाइन की महत्पूर्ण बातें

राज्यबिहार
योजना जमाबंदी बिहार ऑनलाइन
विभागराजस्व एवं भूमि सुधार विभाग
उद्देश्यजमीन की जमाबंदी ऑनलाइन उपलब्ध करना
ऑफिसियल वेबसाइटBihar Bhumi jamabandi

जमाबंदी क्या होता है

जमाबंदी किसी भी जमीन का कानूनी रूप से मालिकाना सबूत होता है जिसमें उस जमीन का मालिक का नाम लिखा होता है इस जमाबंदी पंजी से ही पता चलता है की वर्तमान में जमीन का मालिक कौन है इसके अलावा जमाबंदी संख्या भी जमाबंदी पर्ची में ही लिखा होता है।

यह जमाबंदी किसी भी प्रॉपर्टी का केवाला दस्तावेज के बाद दूसरा सबसे महत्वपूर्ण कागजात होता है जो जमीन के मालिकाना हक का सबूत होता है  जमीन रजिस्ट्री के बाद जमाबंदी कराना एक महत्वपूर्ण काम होता है क्योंकि जमाबंदी होने के बाद ही सरकारी रिकॉर्ड में आप किसी भी जमीन का क़ानूनी रूप से पूर्ण मालिक होते हैं और सरकारी रिकॉर्ड में आपका नाम चढ़ता है जिसके बाद आप उस जमीन का लगान सरकार को अपने नाम से जमा करते हैं इस jamabandi में जमीन से जुड़े सभी जानकारी होता है जैसे जमाबंदी संख्या, खाता नंबर, खेसरा नंबर, भाग वर्तमान, पृष्ठ वर्तमान और लगान यह सभी जानकारी एक जमाबंदी पंजी प्रति में होता है.

यही नहीं जमाबंदी पंजी में दाखिल खारिज के विरुद्ध किसी तरीके का कोई भी मुकदमा चलता रहता है उसकी भी जानकारी मौजूद होता है  कुल मिलाकर जमाबंदी पंजी प्रति एक ऐसा दस्तावेज होता है जो किसी भी जमीन के मालिक का मालिकाना सबूत का सबसे बड़ा कानूनी दस्तावेज होता है.

अगर  जमीन का दाखिल खारिज नहीं हुआ होगा तो ऐसी स्थिति में पुराने मालिक का jamabandi में नाम दिखाएगा इसलिए किसी भी जमीन  या  प्रॉपर्टी का रजिस्ट्री के बाद दाखिल खारिज कराना अनिवार्य होता है जमाबंदी नाम पर चढ़ने के बाद ही कोई भी जमीन मालिक अपने नाम से जमीन का रसीद काटा सकता है. वो क़ानूनी रूप से सरकारी रिकॉर्ड में उस जमीन का मालिक माना जाता है 

जमाबंदी कब और कैसे बनता है

किसी भी जमीन का जमाबंदी तब बनता है जब जमीन किसी भी  जमीन मालिक के द्वारा बेचा जाता है जब आप कोई भी प्रॉपर्टी  या जमीन खरीदते हैं और रजिस्ट्री करा लेने के बाद के बाद  दाखिल खारिज के लिए आवेदन करते हैं और आप का दाखिल खारिज स्वीकृत कर दिया जाता है तो आपके नाम से उस जमीन का या प्रॉपर्टी का jamabandi ऑटोमेटिक बना दिया जाता है

जमीन या प्रॉपर्टी के जमाबंदी के लिए अलग से आवेदन नहीं किया जाता है आपको दाखिल खारिज के लिए आवेदन करना होता है और जब दाखिल खारिज आपका स्वीकृत कर लिया जाता है उसके बाद जमाबंदी आप के नाम से बना दिया जाता है और पुराने मालिक का नाम जमाबंदी से हटा दिया जाता है जब jamabandi आप के नाम से बना दिया जाता है तब आप सरकार को अपने नाम से उस जमीन के मालिक के रूप में  टैक्स जमा कर सकते हैं और सरकारी रिकॉर्ड में आप का नाम जमीन मालिक के रूप में जुड़ दिया जाता है

जमाबंदी और दाखिल खारिज में क्या अंतर होता है

जमाबंदी और दाखिल खारिज दोनों जमीन के मालिकाना हक के सबूत को दर्शाता है जमीन रजिस्ट्री होने के बाद दाखिल खारिज कराया जाता है और जब दाखिल खारिज हो जाता है उसके बाद स्वत: जमाबंदी बन जाता है  मतलब jamabandi के लिए किसी भी तरह का कोई आवेदन नहीं करना होता है जमाबंदी किसी भी जमीन  मालिक का जमीन पर पूर्ण दखल कब्जा का सबूत होता है. जबकि दाखिल खारिज पुराने जमीन मालिक का जमीन पर पूर्ण दखल कब्जा के आधार पर नए जमीन मालिक के नाम पर किया जाता है.

इस जमाबंदी पंजी प्रति में भाग वर्तमान, पृष्ठ संख्या,जमाबन्दी संख्या, कंप्यूटरीकृत जमाबन्दी संख्या, खाता सं० , प्लाट/खेसरा सं० , रकबा , चौहद्दी,  लगान, सेस और अंतिम लगान का विवरण के अलावा रैयत का नाम और उसके पिता या पति का नाम होता है 

जमाबंदी बिहार ऑनलाइन कैसे देखें?

 बिहार में किसी भी जमीन का जमाबंदी देखने के लिए बिहार सरकार के राजस्व विभाग के द्वारा जारी किए गए वेबसाइट बिहार भूमि पर जाना होगा। इस वेबसाइट http://biharbhumi.bihar.gov.in/Biharbhumi/ViewJamabandi पर जाने के बाद “जमाबंदी पंजी देखें” का ऑप्शन मिल जाएगा। 

jamabandi-panji-bihar-जमीन का जमाबंदी-दाखिल खारिज
jamabandi-panji-bihar

इस बटन पर क्लिक करने के बाद  जमाबंदी का एक नया पेज खुल जाएगा  इस पेज में जमीन से संबंधित जानकारी पूछा जाएगा जैसे जमीन किस जिला में है इसके अलावा उस जमीन का अंचल हल्का मौजा आदि पूछा जाएगा

बिहार-सरकार-राजस्व-एवं-भूमि-सुधार-विभाग-पंजी-II-जमीन का जमाबंदी
बिहार-सरकार-राजस्व-एवं-भूमि-सुधार-विभाग-पंजी-II

जब यह सभी जानकारी दे देते हैं उसके बाद  आपको सर्च करने के लिए कई सारे ऑप्शन दिया जाता है जो इस प्रकार है 

  • भाग बर्तमान
  • पृष्ट संख्या बर्तमान
  • रैयत का नाम से खोजे
  • प्लाट नंबर से खोजे
  • खाता नंबर से खोजे
  • जमाबन्दी संख्या से खोजे

इनमें से जो भी जानकारी आपके पास होगा उसे चुनने के बाद और जानकारी देकर सर्च करना होगा उदाहरण के लिए अगर आपके पास जमीन मालिक का नाम है तो आप “रैयत का नाम से खोजे” वाला ऑप्शन चुनना है। उसके बाद जमीन मालिक का नाम लेकर नीचे सर्च का बटन मिलेगा उस पर क्लिक करना है जैसे ही सर्च करते हैं नीचे jamin ka jamabandi का सारा लिस्ट आ जाता है

jamin-panji-online-check-जमीन का जमाबंदी -दाखिल खारिज
jamin-panji-online-check

जहां रैयत  का नाम खाता संख्या भाग वर्तमान पृष्ठ संख्या वर्तमान जमाबंदी संख्या और कंप्यूटरीकृत जमाबंदी संख्या लिखा होता है इसके अलावा एक और ऑप्शन मिलेगा देखे का जहाँ आंख का आइकॉन बना रहेगा। जमाबंदी निकालने  या डाउनलोड करने के लिए आंख के आईकॉन पर क्लिक करना है

jamabandi dekhe bihar sarkar-दाखिल खारिज
बिहार-सरकार_-राजस्व-एवं-भूमि-सुधार-विभाग-जमाबंदी-पंजी-प्रति

जैसे इस पर क्लिक करते हैं एक नया पेज खुल जाता है जो जमाबंदी पंजी प्रतीत होता है इसमें जमीन से संबंधित सभी जानकारी होता है 

जमाबंदी बिहार ऑनलाइन कैसे डाउनलोड करें

 ऊपर दिए गए तरीके से जमाबंदी निकाल लेते हैं उसके बाद डाउनलोड करने के लिए ऊपर में प्रिंट का ऑप्शन मिलेगा जिस पर क्लिक करना है जैसे ही आप इस पर क्लिक करते हैं प्रिंट वाला पेज खुल जाता है जहां आपको ऑप्शन मिलता है डेस्टिनेशन में सेव ऐज पीडीएफ का। 

जमाबंदी-पंजी-प्रति-राजस्व-एवं-भूमि-सुधार-विभाग-जमाबंदी बिहार

इसे चुन कर नीचे save का ऑप्शन पर क्लिक करना है जिसके बाद जहां डाउनलोड करना चाहते हैं वह डाउनलोड कर सकते हैं जब आपके कंप्यूटर या मोबाइल में save हो जाता है तो इस डाउनलोड जमाबंदी को PDF के रूप में आप जहां भी चाहे इस्तेमाल करना चाहते है कर सकते हैं तो इस तरीके से आप अपना जमाबंदी पंजी डाउनलोड कर सकते हैं

बिहार सरकार के द्वारा  बिहार रजिस्ट्रीकरण (द्वितीय संशोधन) नियमावली-2019  लागु कर नया नियम लाया गया था जिसे अनुसार किसी भी जमीन या संपत्ति को दान या बेचने का अधिकार उसी के पास होगा जिसके नाम पर जमाबंदी होगी. मतलब पुश्तैनी, पारिवारिक या पिता-दादा के नाम की जमीन का दाखिल-खारिज जिसके नाम से होगा वही बिक्री या दान कर सकेगा।

 इस पोस्ट में मैंने आपको बताया कि किस तरीके से बिहार के किसी भी जमीन का जमाबंदी पंजी निकाल सकते हैं और उसे डाउनलोड कर रख सकते हैं या प्रिंट कर सकते हैं jamin ka jamabandi के इस पोस्ट से संबंधित कोई सवाल है तो आप हमसे कमेंट करके पूछ सकते हैं मैं जल्द से जल्द जवाब देने की कोशिश करूंगा और पार्टी से संबंधित इसी तरह के जानकारी के लिए हमारे  वेबसाइट विजय सलूशन से जुड़े रहे बहुत-बहुत धन्यवाद। 

1 thought on “जमाबंदी बिहार ऑनलाइन खाता खेसरा जमाबंदी नंबर निकाले- Jamabandi Bihar”

  1. Pingback: झारखण्ड खतियान निकाले और डाउनलोड करें - khatiyan jharkhand

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!