मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना बिहार के लिए आवेदन और ऑनलाइन स्थिति चेक करे

बिहार सरकार की ओर से गरीबी रेखा से नीचे आने वाले परिवार (BPL) को उनके घर की बेटी की शादी में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना (Mukhyamantri Kanya Vivah Yojana Bihar) के अंतर्गत आर्थिक मदद दी जाती है मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना का मुख्य लड़कियों की शादी कम उम्र में होने से रोकना है इसके अलावा बिहार सरकार की ओर से आर्थिक मदद कर परिवार को सहायता करना भी है। जातीय विवाद और दहेज को खत्म करने के लिए समाज कल्याण विभाग की ओर से दिया जाता है एक लाख से तीन लाख तक राशि

सामाजिक और आर्थिक रूप से पिछड़े बिहार राज्य में काफी परिवार गरीबी रेखा से नीचे (BPL) आते हैं ऐसे में राज्य में लड़कियों की शादी कम उम्र में कर दी जाती है. इससे उनकी शिक्षा भी पूरी नहीं हो पाती है ऐसे में बिहार सरकार की ओर कई योजना लड़कियो के लिए चलाया जा रहा है जिसमे बिहार मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना (Bihar Mukhyamantri Kanya Uthan Yojna) और मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना (Mukhyamantri Kanya Vivah Yojana Bihar) महत्पूर्ण है।

मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना बिहार

मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत BPL परिवार की बेटी की शादी के समय में बिहार सरकार 5,000 रुपये की सहायता राशि डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर की मदद से लड़की की बैंक खाता में भेजा जाता है पहले मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना का पैसा लड़की के नाम चेक या डिमांड ड्राफ्ट के जरिए दिया जाता था। इस योजना का लाभ केवल उन्हीं लड़कियों को दिया जाता है जिसका विवाह 18 वर्ष के बाद किया जाता है।

कन्या विवाह योजना का उदेश्य?

  • आर्थिक रूप से कमजोर परिवार को शादी में मदद करन।
  • बेटीओ की शादी कम उम्र में होने से रोकन।
  • समाज में दहेज प्रथा को खत्म करन।

क्या हैं कन्या विवाह योजना में लाभ पाने की शर्तें?

  1. शादी के समय लड़की की उम्र 18 साल या इससे ज्यादा होनी चाहिए।
  2. लड़की का परिवार बीपीएल के दायरे में आते हों।
  3. लड़की के माता-पिता का निवास प्रमाणपत्र बिहार का होना चाहिए।
  4. शादी के वक्त दूल्हे की उम्र 21 साल से कम नहीं होनी चाहिए।
  5. शादी का निबंधन (रजिस्ट्रेशन) होना जरूरी है।

बिहार कन्या विवाह योजना योजन के आवेदन के लिए जरुरी कागजात ?

  • आय प्रमाण पत्र जो लड़की के नाम से हो।
  • निवास प्रमाण पत्र।
  • विवाह निबंधन प्रमाण पत्र।
  • दहेज नहीं देने हेतु शपथ पत्र।
  • परिवार की वार्षिक आय रु 60,000 से कम हो ।

कैसे करे विवाह योजना के लिए आवेदन?

मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना का लाभ उठाने के लिए RTPS काउंटर पर आवेदन देना होग। RTPS काउंटर हर ब्लॉक में उपलब्ध है जहाँ जा कर आवेदन फॉर्म भर कर जमा करना होग। फॉर्म ब्लॉक के ऑफिस में या फॉर्म के दुकान पर मिल जायेग। बिहार में अभी ऑनलाइन आवेदन उपलब्ध नहीं है।

आवेदन की स्थिति ऑनलाइन कैसे चेक करे?

RTPS काउंटर से ऑफलाइन आवेदन करने के बाद ऑनलाइन स्टेटस चेक कर सकते है स्टेटस चेक करने के लिए सबसे पहले बिहार समाज कल्याण विभाग के वेबसाइट https://grievance.sspmis.in/ESUV/CheckKanyaVivahBenStatus.aspx पर जाना होग।

जहाँ आपसे RTPS संख्या मांगा जायेगा जिसको दे कर SHOW पर क्लिक करना होगा जिसके बाद जो भी स्टेटस होगा वो पता चल जायेगा यह RTPS संख्या जब आवेदन करते है उस समय आवेदन करने का एक रसीद दिया जाता है उस पर लिखा होता है

ये भी पढ़े :

मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना में 2011 से लेकर अभी तक आवेदन करने पर पैसा नहीं मिला है तो यहाँ से ऑनलाइन आवेदन करे?

अगर आपने आवेदन कर दिया है और आज तक पैसा नहीं मिला है तो बिहार सरकार की ओर से 2011 से ले कर अब तक के आवेदन पर दुवारा जांच के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की सुविधा दी है जिससे ऐसे लड़कियो की बैंक खाते में पैसा जल्द से जल्द भेजा जा सके।

झारखंड विवाह पंजीकरण : Marriage Registration ऑनलाइन प्रमाण पत्र

पुनः आवेदन की लिए बैंक खाता नंबर, IFSC code , बैंक पासबुक का छाया प्रति , स्व-घोषणा प्रमाण पत्र और RTPS संख्या की जरुरत होगा। जिसके लिए https://grievance.sspmis.in/ESUV/entry.aspx वेबसाइट पर जाना होगा।

ज्यादा जानकरी की लिए नीचे दिए गए वीडियो को देखे।


अंतरजातीय विवाह योजना का लाभ लेने में युवा पीछे

राज्य सरकार अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना के तहत वैसे शादीशुदा लोगों को प्रोत्साहन राशि देती है, जो दूसरी जाति में विवाह करते हैं, लेकिन इस मद में सरकार द्वारा दी जाने वाली योजना का लाभ लेने में युवा काफी पीछे हैं, आधिकारिक सूत्र बताते हैं कि अधिकतर अंतरजातीय विवाह करने वाले युवा समाज की डर से अपने को छिपा लेते हैं. इस कारण समाज कल्याण विभाग ने अधिकारियों को इस योजना के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए जिलों में अभियान तेज करने का निर्देश दिया है, ताकि अंतरजातीय विवाह करने वाले लोग खुल कर इस योजना का लाभ ले सकें.

योजना लाभ के लिए ऑनलाइन पोर्टल पर जाकर आवेदन करना होगा इसके बाद यह राशि लाभुक के खाते में सीधे पहुंच जाती है. कोरोना के कारण इस योजना का लाभ लेने वालों की संख्या थोड़ी कम है. साथ ही, बहुत लोग डर से भी आवेदन नहीं करते है, लेकिन विभाग अधिकारियों को निर्देश दिया है कि योजना के प्रति जागरूकता जरूरी है. साथ ही, जो लोग आवेदन करना चाहते हैं, उन्हें योजना का लाभ समय पर मिले, इसकी जिम्मेदारी भी विभागीय अधिकारियों की ही है.

आवेदन के समय यह देना होगा .

  • दंपती आधार कार्ड
  • वोटर आइडी
  • राशन कार्ड की कॉपी
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • पंचायत में निबंधन की कॉपी
  • दंपती का ज्वाइंट बैंक अकाउंट

अंतरजातीय विवाह में यह लाभ

  • सामान्य व्यक्ति को एक लाख
  • अगर एक दिव्यांग हो, तो एक लाख
  • अगर दोनों दिव्यांगहो,तो तीन लाख

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!