हॉलमार्क ज्वेलरी क्या है और हॉलमार्किंग लाइसेंस कैसे ले : जाने सभी जानकरी

केंद्र सरकार की ओर से सोने की शुद्धता की गारंटी देने वाले हॉलमार्किंग को सोने की ज्वेलरी और शिल्पवस्तुओं में अनिवार्य कर दिया है। जो की पहले 15 जनवरी 2021 से लागु होना था लेकिन अब ज्वैलर्स और एसोसिएशंस के कहने पर यह अनिवार्यता छह महीने के लिए टाल दी। जिसके कारण अब ये जून 2021 से लागु होगा.

जिसके बाद बिना हॉलमार्क वाले आभूषण और कलाकृतियां बेचने पर भारी जुर्माना हो सकता है और जेल भी जाना पड़ सकता है।

ऐसे में अगर आप हॉलमार्किंग का लाइसेंस लेना चाहते है तो ऑनलाइन आवेदन शुरू हो गया है जिससे आप बिना भारतीय मानक ब्यूरो (बीएसआइ) कार्यालय का चक्कर लगाये, घर बैठे पा सकते है. कैसे आप ऑनलाइन आवेदन करेंगे वो सभी जानकारी नीचे मिल जायेगा. लेकिन उससे पहले आपको बता देते है की क्या है हॉलमार्किंग?

क्या है ज्वैलरी की हॉलमार्किंग?

हॉलमार्क सोने की शुद्धता की गारंटी है। जो भारत सरकार की ओर से ग्राहक को दी जाती है. हॉलमार्क लगाने की लाइसेंस भारत सरकार की एजेंसी ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड (बीआईएस) द्वारा दी जाती है।

क्या है ज्वैलरी की हॉलमार्किंग?

हॉलमार्किंग ज्वैलरी पर यह लिखना अनिवार्य होता है की वह ज्वैलरी कितने कैरट की है। इससे ग्राहक को पता चल जायेगा की जो ज्वैलरी दिया जा रहा है उसमे सही मात्रा में कितना ओरिजिनल सोना और कितना जिंक, निकेल आदि है. ग्राहक को यह भरोसा हो जायेगा की भारत सरकार की बीआईएस से लाइसेंस प्राप्त प्रयोगशालाओं में इसकी शुद्धता की जांच की गई है।

ये भी पढ़े : मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के लिए online आवेदन शुरू

सरकार की ओर से जो निर्देश जारी किये गए है उसके अनुसार 2 ग्राम से कम वजन वाली ज्वैलरी पर हालमार्क जरूरी नहीं होगा साथ ही 14,18 और 22 कैरेट की ज्वेलरी पर हालमार्क जरूरी होगा. बीआईएस ने तीन श्रेणियों 14 कैरट, 18 कैरट और 22 कैरट के लिए हॉलमार्क के मानक तय किये हैं

हॉलमार्क ज्वैलरी पर दिए जाने वाले चिन्ह:-

  1. वर्ष कोड
  2. मानक चिन्ह
  3. सोने की मात्रा
  4. परीक्षण केंद्र का निशान
  5. आभूषण विक्रेता का निशान
हॉलमार्किंग-ज्वैलरी-पर-दिए-जाने-वाले-चिन्ह

कैसे करे हॉलमार्किंग ज्वैलरी सोने की शुद्धता की पहचान?

  • 24 कैरेट शुद्ध सोने की ज्वेलरी पर 999 लिखा होता है
  • 22 कैरेट ज्वेलरी पर 916 लिखा होता है
  • 21 कैरेट सोने की पहचान 875 लिखा होता है
  • 18 कैरेट की ज्वेलरी पर 750 लिखा होता है
  • 14 कैरट ज्वेलरी पर 585 लिखा होता है
सोनाशुद्धता
24 कैरेट99.9
23 कैरेट95.8
22 कैरेट91.6
21 कैरेट87.5
18 कैरेट75
17 कैरेट70.8
14 कैरेट58.5
9 कैरेट37.5

वैसे आपके जानकारी के लिए बता दू की कभी भी 24 कैरेट सोने का ज्वैलरी नहीं बनाया जाता है क्योकि वो काफी मुलायम होता है। हमेशा अधिक से अधिक 22 कैरेट सोने का इस्तेमाल ज्वैलरी बनने में किया जाता है. जिसमें 91.66 फीसदी सोना होता है।

हमेशा-अधिक-से-अधिक-22-कैरेट-सोने-का-इस्तेमाल-ज्वैलरी-बनने-में-किया-जाता-है
हॉलमार्कशुद्धता
37537.5 % शुद्ध सोना
58558.5 % शुद्ध सोना
75075.0 % शुद्ध सोना
91691.6 % शुद्ध सोना
99099.0 % शुद्ध सोना
99999.9 % शुद्ध सोना
कैसे करे हॉलमार्किंग ज्वैलरी सोने की शुद्धता की पहचान?

क्या हॉलमार्क सोना महंगा होता है?

नहीं, हॉलमार्क की वजह से सोना महंगा नहीं होता है क्योकि लगभग प्रति ज्वेलरी हॉलमार्क का खर्च महज 35 रुपये आता है। जो की ज्वैलरी के दाम के सामने ना के बराबर है. इसलिए अगर आपको बगैर हॉलमार्क वाली सस्ती ज्वेलरी की पेशकश करता है तो उसको ना ले.

हॉलमार्किंग ज्वैलरी के निर्माण वर्ष का कोड का?

निर्माण वर्ष2000200120022003200420052006
कोडABCDEFG
निर्माण वर्ष20072008200920102001120122013
कोडHIJKLMN
निर्माण वर्ष20142015201620172018201920202021
कोडOPQRSTU

कैसे जाने ज्वैलरी की कीमत?

ज्वैलरी की कीमत आप बारे आसानी से निकल सकते है जिसके लिए कुछ बेसिक जानकारी आपके पास होना चाहिए. जैसे

  • उस दिन 24 कैरेट सोने का रेट क्या है ये पता करना होगा
  • साथ ही ये भी ध्यान रखना है की 1 कैरेट सोना का मतलब होता है 1/24 पर्सेंट सोना

जो ज्वैलरी आप लेना चाहते है वो 22 कैरेट के हैं और आप उस ज्वैलरी मे लगे शुद्ध सोना जानना चाहते है तो आपको 22 को 24 से भाग देकर उसे 100 से गुणा (22/24)x100= 91.66) करें, जो की 91.66 होगा। यानी आपके आभूषण में इस्तेमाल सोने की शुद्धता 91.66 पर्सेंट है।

ये भी पढ़े : नया राशन कार्ड बिहार में कैसे बनाये या राशन कार्ड में नया नाम कैसे जोड़े?

अब मान लो की 24 कैरेट सोना का बाजार का मूल्य 50000 है लेकिन जैसा मैंने पहले आपको बताया की ज्वैलरी 22 कैरेट से ऊपर का नहीं बनता है ऐसे मे जो भी जैवेलरी आप ले रहे है उस पर 22 कैरेट के हिसाब से ही लगेगा. जो की (50000/24)x22=45,833.33 रुपया होगा।

कैसे पता करे सोना या चांदी का रेट?

सोना या चांदी का रेट पता करने के लिए IBJA जिसका फुल फॉर्म “इंडियन बुलियन ज्वेलर्स एसोसिएशन” होता है IBJA की वेबसाइट www.ibjarates.com पर जाकर उस दिन का रेट पता कर सकता है। इस वेबसाइट के खुलते ही सोने और चाँदी का रेट पता चल जायेगा.

live-Gold-Price-in-India

हॉलमार्किंग लाइसेंस के लिए कैसे करे आवेदन?

बीएसआइ ने मानक ऑनलाइन डॉट इन www.manakonline.in वेबसाइट पर आभूषण निर्माताओं के पंजीकरण, एसेसिंग और हॉलमार्किंग केंद्रों की मान्यता के लिए ऑनलाइन प्रकिर्या की शुरुआत की है।

इस वेबसाइट पर जाने के बाद रजिस्ट्रेशन https://www.manakonline.in/MANAK/Registration करना होगा।

Bis-Registration-Form

रजिस्टर करने के बाद एक फॉर्म खुलेगा जिसमें सभी जानकारी देना होगा तथा जरुरी दस्तावेज अपलोड भी करना होगा. इसके अलावा रजिस्ट्रेशन शुल्क भी ऑनलाइन जमा करना होगा। जो इस प्रकार है.

  • जिन ज्वेलर्स का सालाना टर्नओवर पांच करोड़ से कम का है, उन्हें आवेदन के लिए 2 हजार व 7500 रजिस्ट्रेशन फी के रूप में देने होंगे
  • जिनका सालाना टर्न ओवर पांच से 25 करोड़ का है, उन्हें आवेदन के लिए दो हजार और 15 हजार रुपये रजिस्ट्रेशन फी के रूप में देना होगा
  • 25 से 100 करोड़ के कारोबार करने वाले कारोबारियों को आवेदन के लिए दो हजार व रजिस्ट्रेशन को 40 हजार तथा 100 करोड़ से अधिक कारोबार करने वाले को आवेदन दो हजार व रजिस्ट्रेशन को 80 हजार देने होंगे

हॉलमार्किंग लाइसेंस आवेदन करने की सभी जानकारी के लिए नीचे दिए गए वीडियो को देखे और लेटेस्ट वीडियो देखने के लिए हमारा YouTube चैनल Subscribe जरूर करे

सभी Important News पाने के लिए ग्रुप को JOIN कर पेज को LIKE करें

Whatsapp GroupClick Here
Telegram GroupJOIN Now
Facebook PageClick Here

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *