अर्बन प्लानिंग कोर्स 2022- अर्बन एंड रीज़नल प्लानर कैसे बनें?

अर्बन प्लानिंग कोर्स 2022- किसी भी पुराने शहरों को नए सांचे में विकसित करने या नए शहर या स्मार्ट सिटी को बनाने के लिए अर्बन प्लानिंग करने वाले इंजीनियर की जरुरत पड़ती है अर्बन प्लानिंग का कोर्स क्र जॉब करने वाले को अर्बन एंड रीज़नल प्लानर कहते है ऐसे में Urban planning course करना करियर के लिए अच्छा साबित हो सकता है अर्बन प्लानिंग के इस पोस्ट में आपको बताऊंगा की अर्बन प्लानिंग कोर्स क्या होता है कौन कौन इस अर्बन प्लानिंग कोर्स को कर सकता है, इस कोर्स के लिए क्या क्वालिफिकेशन चाहिए, कितना फी लगेगा, इस अर्बन प्लानिंग कोर्स को करने में और इस अर्बन प्लानिंग कोर्स को करने के बाद कितना वेतन मिल सकता है इन सभी सवालो का जबाब इस पोस्ट में दूंगा. इस लिए इस पोस्ट को ध्यान पूर्वक शुरू से ले कर लास्ट तक पढ़े.

Urban Planning Course को हिंदी में ” शहरी नियोजन ” कोर्स कहते है अर्बन प्लानिंग कोर्स करने वाले सिर्फ शहर ही नहीं बल्कि पार्क, बाजार, बस स्टेशन, सड़क, बुनियादी ढांचे और पब्लिक फैसिलिटीज को भी सवारने का काम करते है अर्बन प्लानिंग को सिटी प्लानिंग या टाउन प्लानिंग भी कहा जाता है. अगर आप आर्किटेक्चर व प्लानिंग में रुचि रखते हैं, तो इस अर्बन प्लानिंग के क्षेत्र में आ सकते हैं।

क्या है अर्बन प्लानिंग? what is a urban regional planner?

अर्बन प्लानिंग के तहत नये या पहले से बसे शहरों के ढांचे में बदलाव करने के लिए शहरों की रूपरेखा तैयार की जाती है. यह एक ऐसी तकनीक है, जिसमें कम्युनिकेशन नेटवर्क एवं ट्रांसपोर्टेशन को ध्यान में रखते हुए शहर के अर्बन एनवायर्नमेंट का डिजाइन तैयार किया जाता है. इस अर्बन एनवायर्नमेंट डिजाइन के दौरान इस बात का ध्यान रखा जाता है कि पुरे शहर के जमीन का सही इस्तेमाल हो और प्राकृतिक पर्यावरण (Green environment) सुरक्षित रहे तथा उसे बढ़ावा भी मिले।

अर्बन प्लानिंग कोर्स क्या है। अर्बन एंड रीज़नल प्लानर कैसे बनें?

जब भी अर्बन प्लानिंग की जाती है उस समय यह ध्यान दिया जाता है की कौन से ज़मीनी इलाक़े हाउसिंग के लिए उपयोग करने चाहिये, कौन से इलाक़े मार्केट और मॉल्स के लिये हैं, कौन से इलाक़े आराम करने और मनोरंजन के लिये हैं। कौन से इलाक़े व्यावसायिक दफ़्तरों के लिये हैं ,कौन से इलाक़े औद्योगिक कारखानों के लिये हैं।

यही नहीं अलग – अलग इलाक़ों को सार्वजनिक यातायात व्यवस्था से कैसे जोड़ेंगे, यातायात संरचना जैसे बस स्टॉप, बस स्टेशन, एयरपोर्ट आदि को को प्लान और डवलप करना होता है। इसके अलावा सार्वजनिक सुविधाओं जैसे सार्वजनिक शौचालय, बग़ीचे ,इत्यादि का प्लान और विकास करना हो और ये सब काम अर्बन प्लानिंग के अंतर्गत आता है।

अर्बन प्लानिंग में करियर के अवसर

आज के समय में टाउनशिप्स व स्मार्ट सिटीज का काम तेजी से हो रहा है, लिहाजा शहरीकरण के इस दौर में टाउनशिप व स्मार्ट सिटीज पर तेजी से काम किया जा रहा है. ऐसे में यह क्षेत्र युवाओं के लिए आये दिन नयी संभावनाएं विकसित कर रहा है. इस क्षेत्र में आप सरकारी एजेंसियों, टाउन एवं कंट्री प्लानिंग विभाग, नगरीय निकायों, हाउसिंग बोर्ड्स, शहरी विकास प्राधिकरण, जिला एवं ग्रामीण नियोजन विभाग में एसोसिएट टाउन प्लानर के रूप में करियर की शुरुआत कर सकते हैं. इसके अलावा निजी कंपनियों या प्रॉपर्टी फर्स, रियल एस्टेट फर्स, सोशल एजेंसीज, नॉन प्रॉफिट हाउसिंग ग्रुप और इंटरनेशनल कंसल्टिंग कंपनियों में भी जॉब कर सकते हैं.

अर्बन एंड रीज़नल प्लानर के रूप में महत्पूर्ण काम :

  • क्षेत्रीय भवन निर्माण से संबंधित जानकारी जुटाना और योजना बनाना
  • अवैध या वैध कंस्ट्रक्शन साइन का निरीक्षण करना
  • शहरी विकास की योजना बनाने के लिये सामान्य विचारों जैसे भवन निर्माण और नक्शों की जानकारी रखना
  • ड्राफ्टिंग, ड्रॉइंग और योजना की तैयारी में प्रोजेक्ट टीम की सहायता करना
  • चुने हुए प्रोजेक्ट में तकनीकी गतिविधियों को तैयार करना करना और तालमेल बैठाना
  • ज़रूरतों, समझौतों को लेकर अर्बन प्लानिंग ओर ट्रांसपोर्टेशन के स्टेट डिपार्टमेंट को समझाना, मोलभाव करना, सूचनाओं को परखना और समस्याओं का समाधान करना
  • अलग अलग गतिविधियों से संबंधित विभागों के कार्यों और गतिविधियों का स्थानीय सरकार के साथ तालमेल बैठाना
  • असरदार परिवहन प्रणाली के लिए प्रचार करना और रणनीतियों और योजनाओं को लागू करना
  • सुनियोजित योजना बनाने के लिए अलग अलग ग्राफ़िक्स, डायग्राम्स और नक्शों को प्रस्तावित करना और समझना
  • रियल एस्टेट मामलों के लिए सहायक कर्मचारियों और दस्तावेज़ों को उपलब्ध कराना

अर्बन एंड रीज़नल प्लानर कितने प्रकार के होते है

1.हाउसिंग प्लानर: एक हाउसिंग प्लानर का काम निर्माण परियोजना के लिये निर्धारित किये गए समय पर निर्माण कार्य को पूर्ण करने में मदद करना होगा. एक हाउसिंग प्लानर के तौर पर, प्रोजेक्ट की सुरक्षित समाप्ति को एक तरीके से सुनिश्चित करने के लिये प्लान्स बनाने होंगे इसके अलावा निर्माण कार्य एक निर्धारित बजट के अंदर हो रहा है या नहीं ये भी देखना जिम्मेदारी होती है.

2. टाउन और कंट्री प्लानर: एक टाउन और कंट्री प्लानर शहर और देश के विकास में सहायता करते है। एक टाउन और कंट्री प्लानर का मुख्य लक्ष्य किसी देश या विभिन्न पर्यावरण और स्थानीय आवश्कताओ में संतुलन लाना और उस उद्देश्य के लिए नए समाधान विकसित करना होता है।

3. एनवायर्नमेंटल प्लानर: पर्यावरण प्लानर का काम एक निश्चित निर्माण योजना के पर्यावरणीय प्रभाव को कम करने के लिए विश्लेषण और प्रयास करना होगा। साथ ही यह भी सुनिश्चित करना होता है की पर्यावरण के मनको को पूरा किया किया जाए।

4. शहरी प्लानर: एक शहरी प्लानर पेशेवर होते है जो की समुदाय के बुनियादी ढांचे के भूमि उपयोग की प्रभावशीलता को Customized करने की कोशिश करता है। वे शहरी और उपनगरीय क्षेत्रों को मैनेज करने के अलावा पर्यावरण , आर्थिक और सामाजिक रुझानों के आधार पर भूमि की अनुकूलता का विश्लेषण करने के लिए योजना बनाते है।

5. क्षेत्रीय प्लानर: एक क्षेत्रीय प्लानर बड़े भौगोलिक क्षेत्रो के साथ सौदा करता है। वे बड़े क्षेत्रो में विभिन्न प्रकार के योजना बनाने की प्लेसमेंट करते है ताकि एक विशिष्ट क्षेत्र में हमेशा विकास में मदद मिल सके।

शैक्षणिक योग्यता | Educational Qualification For Urban Planning | requirements for urban and regional planning

एक कामयाब अर्बन एंड रीज़नल प्लानर बनने के लिए आपके पास बैचलर्स डिग्री होना ज़रूरी है। अर्बन एंड रीज़नल प्लानिंग में बैचलर ऑफ़ प्लानिंग / बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी जैसी अंडरग्रेजुएट डिग्री की पढ़ाई कर सकते हैं।

urban-and-regional-planner-education-requirements

अर्बन व रूरल प्लानिंग में बीटेक या बैचलर ऑफ प्लानिंग का कोर्स करने के लिए 12वीं फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स के साथ पास होना जरुरी है यह आपको एंट्री-लेवल की नौकरी दिलाने में सक्षम करेगा और हाउसिंग प्लानिंग और अन्य प्लानिंग में भी विशेषज्ञता दिलाएगा।

मास्टर्स डिग्री कोर्स इन अर्बन प्लानिंग

बैचलर्स के बाद अर्बन प्लानिंग के बारे गहराई तक जानकारी लेना चाहते हैं तो आपको मास्टर ऑफ़ प्लानिंग / मास्टर ऑफ़ प्लानिंग इन अर्बन एंड रीज़नल प्लानिंग में / मास्टर ऑफ़ आर्किटेक्चर इन अर्बन डिज़ाइन जैसी मास्टर्स डिग्री कोर्स कर सकते है। यह आपको मास्टर डिग्री कोर्स अर्बन एंड रीज़नल प्लानिंग डिपार्टमेंट में अच्छी जॉब पाने में मदद करेगा। इसके अलावा सिटी डिज़ाइन एंड डवलपमेंट, एन्वायर्नमेंटल प्लानिंग, टाउन एंड कंट्री प्लानिंग, ट्रांसपोर्टेशन प्लानिंग और अर्बन एंड रीज़नल प्लानिंग में भी विशेषज्ञता हासिल कर सकते हैं।

पीएचडी डिग्री कोर्स इन अर्बन प्लानिंग

अर्बन प्लानिंग में डॉक्टरेट डिग्री/पीएचडी डिग्री इस क्षेत्र में सबसे बड़ी डिग्री होती है। इस पीएचडी डिग्री कोर्स को करने के किये मास्टर ऑफ़ प्लानिंग या मास्टर ऑफ़ आर्किटेक्चर जैसी मास्टर डिग्री होनी ज़रूरी है और उसके बाद ही आप अर्बन प्लानिंग में डॉक्टरेट डिग्री जिसको पीएचडी डिग्री भी कहते है ले सकते हैं। इसके बाद आप इस फ़ील्ड में सबसे ज़्यादा वेतन वाली नौकरियों के योग्य हो जायेंगे और आप सस्टेनेबिलिटी कंसलटेंट का पद भी पा सकते हैं।

Best Colleges For Urban And Regional Planning

1.इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, रुड़की
2. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, दिल्ली – (IIT Delhi)
3. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी कानपूर (IIT Kanpur)
4. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी (IIT), खड़गपुर
5. स्कूल ऑफ प्लानिंग एंड आर्किटेक्चर, नयी दिल्ली/भोपाल/ विजयवाड़ा
6. स्कूल ऑफ आर्किटेक्चर एंड प्लानिंग, अन्ना यूनिवर्सिटी, चेन्नई
7. मौलाना आजाद नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, भोपाल
8. सेंटर फॉर एनवायर्नमेंटल प्लानिंग एंड टेक्नोलॉजी, अहमदाबाद
9. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस – (IISC), बैंगलोर

रोज़गार के अवसर | Job opportunity in urban and regional planning

अर्बन एंड रीज़नल प्लानिंग का कोर्स कर पब्लिक या प्राइवेट दोनों क्षेत्रों में नौकरी पा सकते हैं। जिसमे से कुछ ऑर्गेनाइज़ेशन का नाम नीचे दिया गया है जहाँ अर्बन एंड रीज़नल प्लानर्स को नौकरी के अवसर मिलते हैं:-

  • गोदरेज़ प्रोपर्टीज़, डीएलएफ लिमिटेड, ओबेरॉय रियलिटी, सापूरजी पोलोनजी रियल एस्टेट, इत्यादि जैसी बड़े पैमाने की रियल एस्टेट कंपनियां।
  • राज्य सरकार के अधीन अर्बन डवलपमेंट मिनिस्ट्रीज और मिनिस्ट्रीज के अधीन कई डिपार्टमेंट्स।
  • शहरी विकास प्राधिकरण जैसे कि कोलकाता मेट्रोपोलिटन डवलपमेंट ऑथोरिटी, दिल्ली डवलपमेंट ऑथोरिट, पटना रीज़नल डवलपमेंट ऑथोरिटी, इत्यादि।
  • एकमे कंसल्टैंट्स प्राइवेट लिमिटेड,एसएमईसी इंडिया, रॉम्बोल ग्रुप, इत्यादि जैसी बड़े पैमाने की आर्किटेक्चर और कंस्ट्रक्शन कंसल्टिंग फर्म्स।

Also Read…

पत्रकार कैसे बनेंखेल पत्रकार ​कैसे बने?
BDO Officer kaise bane?डॉक्टर कैसे बने?
इंजीनियर कैसे बने?कोडिंग क्या होता है?
एनर्जी मैनेजमेंट कोर्स कैसे करे?एक्टर एक्ट्रेसेस कैसे बने?

सैलेरी केतना मिलता है Urban regional planner starting salary?

शुरूआती देने में अर्बन प्लानर को हर महीने 25000 से लेकर 45000 रुपये तक की सैलेरी दी जाती है। जूनियर लेवल पर अर्बन प्लानर हर महीने 30 000 – 75000 रुपये मिल सकता है। वही मिड लेवल पर हर महीने 75,000-1,50,000 रुपया सैलेरी प् सकते हैं। सीनियर लेवल अर्बन प्लानर हर महीने 120,000 – 250,000 या उससे ज़्यादा भी कमा सकते हैं।

इस पोस्ट में हमने बताया की अर्बन प्लानिंग कोर्स कैसे करे? अर्बन प्लानिंग किसे कहते हैं और अर्बन एंड रीज़नल प्लानर कितने प्रकार के होते हैं हमें उम्मीद है की अर्बन एंड रीज़नल प्लानर के बारे में आपको सभी जानकारी मिल गया होगा अगर अर्बन एंड रीज़नल प्लानर ​कैसे बने पोस्ट से सम्बंधित आपके पास कोई प्रश्न है तो कृपया कमेंट कर के पूछे हम उसका जबाब जल्द से जल्द देने के कोशिश करेंगे।

3 thoughts on “अर्बन प्लानिंग कोर्स 2022- अर्बन एंड रीज़नल प्लानर कैसे बनें?”

  1. Pingback: Cyber Law Course in Hindi: साइबर लॉ क्या है? और साइबर लॉयर कैसे बनें?

  2. Pingback: लॉजिस्टिक और सप्लाई चेन मैनेजमेंट क्या है? इस कोर्स को कैसे करे? - Career Moka

  3. Pingback: Bihar ITI Form 2021 online apply - ITICAT Admission

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!