How to become ACP Officer in 2022 salary full form- एसीपी कैसे बने?

ACP का पद इंडियन पुलिस डिपार्टमेंट के अंतर्गत आता है। जिस प्रकार पुलिस विभाग में अनेकों पद होते है, उसी प्रकार ACP एक बेहद प्रतिष्ठित पद माना जाता है। हालांकि ACP के पदों की नियुक्ति अधिकतर भारत के मेट्रो सिटी जैसे कि मुंबई, दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता में ही होती है। ग्रामीण क्षेत्रों में एसीपी के पद नहीं होते हैं। ग्रामीण एरिया में SP, DSP जैसे पद ही देखने को मिलते है। अगर आपको ACP बनने में रुचि है, तो आपका यह जानना अति आवश्यक है कि एसीपी कैसे बना जाता है (how to become acp officer) ? और एसीपी बनने के लिए क्या करना पड़ता है?

इसके अलावा acp officer क्या करते है acp officer salary कितनी होती है acp officer full form क्या है और is acp a gazetted officer होते है इन सभी सवालों का जबाब इस पोस्ट में मिल जायेगा। इस लिए इस पोस्ट को ध्यान से पढ़े सभी जानकारी एक साथ मिल जायेगा।

एसीपी कौन होता है?

असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस को हिंदी में सहायक पुलिस आयुक्त कहा जाता है। IPS (भारतीय पुलिस सेवा) में इसे शीर्ष पदों में से एक माना जाता है। डिप्टी सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस और असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस में कोई भी अंतर नहीं होता है। असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस की वर्दी पर तीन स्टार लगे हुए होते हैं।

यह भारतीय पुलिस डिपार्टमेंट का एक सम्मानजनक और काफी जिम्मेदारी वाला पद माना जाता है। जो अभ्यर्थी सिविल सर्विस एग्जाम को पास करके आईपीएस ऑफिसर बनते हैं,उन आईपीएस ऑफिसर को ही आगे चलकर के प्रमोशन दिया जाता है और प्रमोशन दे करके उन्हें ACP का पद दिया जाता है।

ACP – Assistant Commissioner of Police Importent Point

PostACP – Assistant Commissioner of Police
QualificationGraduation
Age21-32
HightMale165 CM
Female – 150
Exam UPSC
AttemptsGeneral- 4
OBC-7
SC/SC- Unlimited

ACP कैसे बने?

असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस अर्थात एसीपी के लिए कोई डायरेक्ट भर्ती नहीं होती है। Assistant Commissioner of Police का पद सिर्फ पदोन्नति के माध्यम से ही प्राप्त किया जा सकता है। IPS पद से पदोन्नति के बाद ACP बन सकते है, उसी तरह DSP के पद से पदोन्नति के बाद ACP का पद प्राप्त कर सकते है। इसका मतलब.. अगर अगर आप एसीपी बनना चाहते है तो आपको पहले IPS या DSP का पद प्राप्त करना होगा तभी आप उस पद से पदोन्नत होकर एसीपी बन सकते है।

इसके अलावा और एक तरिका से आप ACP बन सकते है अगर आप राज्य पुलिस सेवा में अच्छे कार्य करते हुए आगे बढ़ते है तो 10 -15 सालो में पदोन्नति के माध्यम से ACP बन सकते है। अब आप समझ ही चुके होंगे की असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस अर्थात एसीपी इस पद के लिए कोई डायरेक्ट भर्ती नहीं है, यह पद सिर्फ पदोन्नति के माध्यम से प्राप्त कर सकते है।

एसीपी यानी कि एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस बनना कोई मुश्किल बात नहीं है।हालांकि अन्य नौकरी की तरह आपको इस नौकरी को भी पाने के लिए हार्ड वर्क के साथ-साथ अच्छे से अपनी पढ़ाई करनी पड़ेगी और एसीपी की एग्जाम की तैयारी करनी पड़ेगी। चलिए जानते हैं ACP कैसे बने और ACP बनने की प्रक्रिया क्या है।

Chakbandi Bihar : फिर से होगा शुरू चकबंदी, बनेगा ‘चक बिहार’ सॉफ्टवेयर

एसीपी बनने के लिए योग्यता

एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस बनने के लिए इंडिया के किसी भी सर्टिफाइड कॉलेज से आपको ग्रेजुएशन की डिग्री को प्राप्त करना जरूरी है। एसीपी बनने के लिए ग्रेजुएशन की डिग्री को आप को कम से कम 55 परसेंट अंकों के साथ पूरा करना आवश्यक है।

जो अभ्यर्थी एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस बनना चाहते हैं उनकी उम्र कम से कम 21 साल और अधिक से अधिक 32 साल होनी चाहिए। हालांकि अन्य पिछड़ा वर्ग को उम्र सीमा में 3 साल की और अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के लोगों को उम्र सीमा में 5 साल की छूट दी जाती है।

  • एसीपी बनने की इच्छा रखने वाले पुरुष अभ्यर्थियों की लंबाई 165 सेंटीमीटर होनी चाहिए, वही महिला अभ्यर्थियों की लंबाई 150 सेंटीमीटर होनी चाहिए।
  • पुरुष अभ्यर्थियों की छाती 84 सेंटीमीटर होनी चाहिए।
  • पुरुष और महिला अभ्यर्थियों की दोनों आंखें स्वस्थ होनी चाहिए, साथ ही उन्हें किसी भी प्रकार की कोई भी प्रॉब्लम नहीं होनी चाहिए।

ACP बनने की प्रक्रिया

आपकी जानकारी हेतु बता दें कि, आप पुलिस डिपार्टमेंट में डायरेक्ट एसीपी के पद पर भर्ती नहीं हो सकते, क्योंकि इसके पहले आपको डीएसपी का पद प्राप्त करना होता है।  और जब आपका प्रमोशन होता है, तो ही आपको एसीपी का पद इंडिया की मेट्रो सिटी में प्रदान किया जाता है। अगर किसी जिले में DSP के पद पर पोस्टेड व्यक्ति का प्रमोशन होता है, तो उसके बाद उसे एसपी यानी की सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस बनाया जाता है, परंतु मेट्रो सिटी में उसे एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस(ACP) बनाया जाएगा।

SWAYAM मुफ्त ऑनलाइन शिक्षा के बारे में जाने

एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस बनने के लिए सबसे पहले आपको यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन के द्वारा करवाई जाने वाली आईपीएस की एग्जाम को पास करना पड़ेगा। उसके बाद आप जिस पद पर सिलेक्ट होंगे,उस पद पर काम करते करते जब आपका प्रमोशन होगा,तब आप एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस का पद प्राप्त कर सकेंगे।

ACP बनने के लिए आपको निम्न प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है।

  1. 12वीं की कक्षा को पास करें – आगे चलकर एसीपी की पोस्ट प्राप्त करने के लिए सबसे पहले आपको किसी भी सब्जेक्ट से 12वीं की कक्षा को पास करना पड़ता है।
  2. ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करें -12वीं की कक्षा को पास करने के बाद आपको इंडिया के किसी भी सर्टिफाइड यूनिवर्सिटी में किसी भी कोर्स में एडमिशन लेना होता है और सफलतापूर्वक अपने ग्रेजुएशन की पढ़ाई कंप्लीट करनी पड़ती है।
  3. UPSC एग्जाम के लिए अप्लाई करें!

अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने के बाद आपको यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन के द्वारा आयोजित करवाई जाने वाली सिविल सर्विस एग्जाम के लिए अप्लाई करना पड़ता है। यूपीएससी के द्वारा हर साल में एक बार इस एग्जाम का आयोजन करवाया जाता है। सिविल सर्विस एग्जाम के एप्लीकेशन फॉर्म फरवरी के महीने में भरे जाते हैं और इसकी प्रारंभिक एग्जाम जून के महीने में होती है और इसकी मुख्य एग्जाम सितंबर के महीने में होती है।जो अभ्यर्थी प्रारंभिक एग्जाम और मुख्य एग्जाम को पास कर लेते हैं उन्हें उसके बाद इंटरव्यू लेने के लिए बुलाया जाता है।

एसीपी कैसे बने

ट्रेनिंग कंप्लीट करें

ऐसे अभ्यर्थी जो इंटरव्यू को पास कर लेते हैं,उन्हें इंटरव्यू पास करने के बाद ट्रेनिंग के लिए मसूरी या फिर हैदराबाद भेज दिया जाता है।जहां पर उनकी ट्रेनिंग 6 महीने या फिर 1 साल तक चलती है। इसमें विद्यार्थियों को पुलिस के कायदे कानून के बारे में काफी बातें बताई और सिखाई जाती हैं।

 इस ट्रेनिंग की सैलरी भी विद्यार्थियों को ट्रेनिंग पूरी करने के बाद मिलती है।जैसे ही अभ्यर्थी ट्रेनिंग कंप्लीट कर लेते हैं वैसे ही उन्हें जॉइनिंग लेटर दे दिया जाता है,जिसके बाद वह पुलिस डिपार्टमेंट में शामिल हो जाते हैं। इसके बाद अच्छा काम करते करते जब उन्हें एक्सपीरियंस हो जाता है,तो आगे चलकर वह एडिशनल कमिश्नर आफ पुलिस, इंडिया के किसी मेट्रो शहर में बनने में कामयाब हो जाते हैं।

ACP के कार्य

जैसा कि आप जानते हैं कि, ACP की पोस्ट भी पुलिस डिपार्टमेंट के अंतर्गत आती है। इस प्रकार एक एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस भी वही काम करता है, जो पुलिस डिपार्टमेंट के अन्य कर्मचारी करते हैं। यह भी अपराधियों को पकड़ने का काम करते हैं, साथ ही अपराध ना हो इसकी देखरेख भी करते हैं। इसके अलावा यह अपराधियों को पकड़ कर के अदालत में पेश करने का काम करते हैं।

एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस की सैलरी

अगर इंडिया में एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस की सैलरी के बारे में बात की जाए, तो इनकी महीने की सैलरी सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस के बराबर ही होती है‌। जैसा कि आप जानते हैं कि सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस और असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस की नौकरी एक समान होती है। इस प्रकार दोनों की सैलरी में ज्यादा भिन्नता नहीं होती है।

Acp को तकरीबन ₹80,000 महीने में सैलरी के तौर पर मिलते हैं और आगे चलकर इनकी सैलरी में बढ़ोतरी भी होती है। एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस को अपनी तनख्वाह के अलावा TA,DA और HRA भी प्राप्त होता है और इन्हें PF, ग्रेजुएटी का लाभ मिलता है, साथ ही अन्य सरकारी फायदे भी मिलते हैं।

FAQ:

Q1. ACP का फुल फॉर्म क्या होता है?

Ans: ACP का फुल फॉर्म एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस होता है

Q2. क्या एसीपी बनने के लिए किसी पर्टिकुलर सब्जेक्ट से ग्रेजुएशन करना जरूरी है?

Ans: नहीं, आप किसी भी विषय से ग्रेजुएशन कर रखे है तब भी एसीपी बन सकते है।

Q: क्या पुलिस डिपार्टमेंट में एग्जाम देकर कर डायरेक्ट एसीपी बना जा सकता है?

Ans: नहीं, इसके पहले आप को पुलिस डिपार्टमेंट में किसी अन्य पद पर शामिल होना पड़ेगा और प्रमोशन होने के बाद आपको ACP की पोस्ट प्राप्त होगी।

Q4. ACP का क्या काम होता है?

Ans: ACP का पद एक सुरक्षा बल के तहत आता है जिसका काम देश की नागरिक को सुरक्षा प्रदान करना होता है Q

Q5. एसीपी बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है?

Ans: एसपी बनने के लिए  ग्रेजुएशन (Graduation) के बाद UPSC एग्जाम में पास होना होता है

1 thought on “How to become ACP Officer in 2022 salary full form- एसीपी कैसे बने?”

  1. Pingback: Pilot Kaise Bante Hain pilot in hindi - पायलट कैसे बने पूरी जानकारी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *