Musician kaise bane 2022 – म्यूजिशियन कोर्स क्या होता है

Musician kaise bane: संगीत (music) सबसे खूबसूरत कलाओं में से एक है। हम सभी को संगीत से प्यार है। संगीत को सुनना लोग काफी पसंद करते है एक अच्छा संगीतकार बनाने के लिए हमारे आर्ट होना चाहिए टीवी पर बहुत सी संगीत प्रतियोगिताएं (Music Contests) देखने को मिलती हैं और हममें से अधिकतर लोग यह महसूस करते हैं कि हम इन प्रतियोगिताओं का हिस्सा बनें और उन्हें जीत सकें। कुछ इसे हक़ीक़त बनाते हैं और कुछ बस आगे बढ़ जाते हैं। अगर आप उन सपने देखने वाले लोगों में से हैं जो हमेशा संगीत की दुनिया का हिस्सा बनना चाहते थे , तो संगीत को करियर के तौर पर चुनना आपके लिए बेहतर है। संगीत पुराने जमानें से लेकर आज तक काफी फेमस है ज्यादा जानकारी के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़े

क्या है म्यूजिशियन? (what is musician)?

संगीतकार एक कलाकार होता है, जो संगीत की कला से जुड़ा होता है। संगीतकार को हम संगीतज्ञ के नाम से भी जाना जाता है आपमें से अधिकतर लोग यह सोचते हैं कि संगीतकार वह इंसान होता है जो म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट को बजाता है, मगर संगीतकार एक बड़ा क्षेत्र है संगीतकार को आमतौर पर गायक कहा जाता है प्लेबैक सिंगर्स (गायक) के अलावा कोरस गायक, रैपर्स आदि भी होते हैं। आपमें से कोई भी इंस्ट्रुमेंटल संगीतकार बन सकता है और एक या उससे ज़्यादा म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट जैसे पियानो, सितार, गिटार, आदि को बजा सकता है । आपमें से कुछ संगीतकार दूसरी भूमिकाओं जैसे साउंड रिकॉर्डिंग इंजीनियर आदि को भी चुन सकते हैं।

Musician-kaise-bane
Musician-kaise-bane

करियर ग्रोथ (Musician Career Path)

आप एक ट्रेनी संगीतकार के तौर पर किसी संगीत कंपनी में काम कर रहे हैं, तो आप एक संगीतकार बन सकते हैं उसके बाद आप सीनियर संगीतकार (म्यूजिशियन) और फिर प्रमुख संगीतकार भी बन सकते हैं।

विश्वविद्यालय और कॉलेज में करियर से जुड़ा विकास असिस्टेंट प्रोफेसर के तौर पर शुरू होगा उसके बाद आप एसोसिएट प्रोफेसर, प्रोफेसर और प्रोफेसर एमेरिटस के पदों तक पहुंचेंगे।  प्रोफेसर्स डायरेक्टर /डीन /वाईस चांसलर, आदि जैसे प्रशासनिक पदों तक भी पहुंच सकते हैं।

अगर आप एक बैंड में काम कर रहे हैं, तो आप एक प्रमुख इंस्ट्रूमेंट प्लेयर या गायक बन सकते हैं।  आप उसी बैंड में काम करना जारी रख सकते हैं या अपना ख़ुद का बैंड भी शुरू कर सकते हैं।

स्कूलों में, आप संगीत शिक्षक के तौर पर शुरू करेंगे और उसके बाद आप विभाग के प्रमुख  बन जाएंगे। बाद में आप प्रशासनिक पक्ष को भी संभाल सकते हैं।

अगर आप असिस्टेंट साउंड इंजीनियर के तौर पर जुड़ते हैं, तो आप एक साउंड इंजीनियर बन सकते हैं; इसके बाद आप तरक्की पाकर सीनियर साउंड इंजीनियर और अंत में चीफ साउंड इंजीनियर भी बन सकते हैं।

How-to-Become-a-musician-in-hindi
How-to-Become-a-musician-in-hindi

शैक्षिक योग्यता (Musician education qualification)

एक संगीतकार  बनने के लिए, आप किसी भी विषय के साथ अपनी स्कूल की पढ़ाई पूरी करें और संगीत में डिग्री, डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्सेज कर सकते हैं इसके अलावा अगर आप साउंड इंजीनियरिंग करना चाहते हैं  तो आप किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन करना चाहते है तो 12वी में फिजिक्स होना जरुरी है।

Musician salary in india

  • एंट्री लेवल पर, आप किसी स्कूल में  एक शिक्षक के तौर पर जुड़ सकते हैं इसमें आपका वेतन 25,000 से 30,000 रूपये होगा। किसी बैंड में संगीतकार के तौर पर, आप 10,000 से 1,00,000 रूपये के बीच में कमाएंगे।  एक ट्रेनी संगीतकार के तौर पर, आप 5,000 से 50,000 रूपये हर महीना कमा सकते हैं।
  • जूनियर लेवल पर 2 -6 साल के काम के अनुभव के बाद, आप 40,000 से 5,00,000 रूपये हर महीना कमा सकेंगे। फिल्म उद्योग में एक प्रख्यात  संगीतकार के लिए कमाने की कोई सीमा नही है वह इसके अधिकतम पक्ष या उससे भी ज़्यादा कमा सकते हैं।
  • मिडिल लेवल पर 10 से 12 साल के अनुभव के बाद, आप 50,000 से 1,00,000 रूपये प्रतिमाह के बीच में कमा सकते हैं। फिल्म उद्योग में एक प्रख्यात  संगीतकार के लिए कमाने की कोई सीमा नही है वह इसके अधिकतम पक्ष या उससे भी ज़्यादा कमा सकते हैं। 

रोज़गार के अवसर (career in musicians)

आपको इस क्षेत्र में अधिकतर संगीत कंपनियों में काम मिलेगा या आप शिक्षण से जुड़ा काम भी कर सकते हैं।   

  • आप किसी विद्यालय में संगीत के शिक्षक या प्रशिक्षक  के तौर पर जुड़ सकते हैं। बहुत से विद्यालय वोकल के साथ-साथ इंस्ट्रुमेंटल शिक्षकों  को काम पर रखते हैं।
  • संगीत अकादमियों में प्रशिक्षकों और शिक्षकों के लिए बहुत से अवसर हैं (निजी और सार्वजनिक दोनों)
  • बहुत से कॉलेज संगीत से जुड़े कोर्स ऑफर करते हैं, इस तरह से आपके पास असिस्टेंट प्रोफेसर के रूप में शिक्षण से जुड़े अवसर भी  हैं।
  • संगीत कंपनियां जैसे टी-सीरीज, एचएमवी, सारेगामा, आदि प्रशिक्षित संगीतकारों को  काम करने के अवसर देती हैं।
  • रंगमच, म्यूजिक बैंड्स, आदि भी संगीतकारों  को बहुत से अवसर प्रदान करते हैं।
  • संगीत कार्यक्रम, इवेंट मैनजमेंट कंपनियों, आदि में संगीतकारों के लिए तकनीकी पक्ष में असिस्टेंट साउंड इंजीनियर के तौर पर काम करने के अवसर होते हैं।
musician work environment

फिल्म और संगीत उद्योग में काम करने वाले अधिकतर संगीतकार रचनात्मक माहौल में काम करते हैं।  आपमें से अधिकतर संगीतकार टीम में काम करेंगे। आपको रचनात्मक आइडियाज़, संगीत, थीम्स आदि को एक दूसरे के साथ साझा करना होगा। संगीत के क्षेत्र में अधिकतर काम प्रेरणा के द्वारा होता है। इस क्षेत्र में काम के घंटो पर कोई प्रतिबन्ध नही है, मगर इसमें समयसीमा के अनुसार काम करना होता है।  शिक्षण से जुड़े पक्ष में, अधिकतर आराम से भरे माहौल में काम करना होता है। इसमें आपको हर दिन कुछ निश्चित घंटों के लिए काम करना होता है, इसमें छात्रों के साथ रिलैक्स्ड और रचनात्मक सत्र  भी होते हैं।

एक म्यूजिशियन (संगीतकार) वो शख्स होता है जो म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट (संगीत वाद्ययंत्र) को बजाता और गाता है । संगीतकारों के अलग- अलग प्रकार होते हैं। संगीतकार विभिन्न प्रकार के इंस्ट्रूमेंट्स जैसे तबला, गिटार, कीबोर्ड, ड्रम्स, आदि का इस्तेमाल कर अलग तरह का संगीत तैयार करते हैं।  वे समूह में काम कर सकते हैं जिसे बैंड कहते हैं या वे व्यक्तिगत रूप से काम करते हैं। कुछ संगीतकार रिकॉर्डिंग कंपनी जैसे टी-सीरीज़ में काम कर सकते हैं। दूसरे तरह के संगीतकारों में वोकल संगीतकार  शामिल होते हैं जो वोकल राजस्थानी, वोकल भारतीय शास्त्रीय, वोकल बॉलीवुड, वोकल हिप हॉप, आदि को गाते हैं। संगीतकार गानों और संगीत को कंपोज़ करते हैं, मंच पर परफॉर्म करते हैं, रैप संगीत तैयार करते हैं, आदि।

musician-job-description
musician-job-description

कुछ संगीतकार इस कला के तकनीकी पक्ष से जुड़े होते हैं।  वे साउंड इंजीनियर, साउंड रिकॉर्डर्स, साउंड टेक्नोलॉजिस्ट्स आदि के रूप में काम करते हैं।  वे मंच को तैयार करते हैं, साउंड की जाँच करते हैं, इंस्ट्रूमेंट्स को टेस्ट करते हैं, संगीत के स्तर को चेक करते हैं आदि।

Musician Main duties and responsibilities

एक संगीतकार के तौर पर, आपकी विशेषज्ञता के क्षेत्र में, आपकी नीचे बताई जा रही भूमिकाएं और ज़िम्मेदारियाँ होंगी:अगर आप वोकल्स (गायन) में हैं तो:

  • आप सोलो (एकल) के तौर पर या एक वोकल समूह के एक  हिस्से के तौर पर गा सकते हैं।
  • आप संगीत से जुड़े रूटीन को याद करेंगे, या आप छपे हुए  टेक्स्ट, म्यूजिकल नोटेशंस, आदि का पालन करेंगे और उसके हिसाब से गाएंगे।
  • आप मंच, रेडियो,  फिल्म निर्माण आदि से जुड़े लाइव दर्शकों के लिए परफॉर्म करेंगे।
  • आप रिकॉर्डिंग स्टूडियो में  परफॉर्म करेंगे।
  • संगीत में बदलाव लाने के लिए आप हारमनी, ताल, राग , आदि से जुड़े ज्ञान का उपयोग करेंगे।    
  • आने वाली परफॉरमेंसेज़ के लिए अपनी आवाज़ को बेहतर बनाने और स्किल्स को डेवेलप करने  के लिए आप अपनी आवाज़ पर वोकल कोच की मदद से या व्यक्तिगत रूप से काम करेंगे। आप लगातार रियाज़ और अभ्यास करेंगे।
अगर आप इंस्ट्रूमेंट्स में हैं तो:
  • आप अपनी संगीत की परफॉरमेंस का  व्यक्तिगत रूप से या दूसरे संगीतकारों के साथ अभ्यास  करेंगे ताकि व्यक्तिगत पीसेज़ को मास्टर किया जा सकें और आपकी स्किल्स में सुधार हो।   
  • आप मंच, रेडियो,  फिल्म निर्माण आदि से जुड़े लाइव दर्शकों के लिए परफॉर्म करेंगे।
  • आप सोलो म्यूजिशियन (एकल संगीतकार) के तौर पर या एक समूह के सदस्य के तौर पर या ऑर्केस्ट्रा, एन्सेम्बल्स या बैंड के गेस्ट मेंबर के तौर पर संगीत वाद्यों को बजाएंगे या प्रस्तुति देंगे।
अगर आप इंजीनियरिंग या टेक्नोलॉजी पक्ष में हैं तो:
  • फिल्म या संगीत की  रिकॉर्डिंग जैसे प्रोडक्शंस के लिए साउंड के वांछित स्तर को  निर्धारित करने के लिए आप निर्माताओं, कलाकारों, क्रिएटर्स आदि के साथ काम करेंगे।  
  • आप रिकॉर्डिंग की जगहों, वाद्ययंत्रों, माइक्रोफोन आदि को सेट करेंगे।  
  • आप संगीत के पीसेज़, गाने, भाषण, और दूसरी मीडिया से जुड़ी रिकॉर्डिंग्स को उचित उपकरण का इस्तेमाल करके रिकॉर्ड करेंगे।
  • आप साउंड रिकॉर्डिंग से जुड़े सभी उपकरणों  को संभालेंगे।
  • अगर आप कार्यक्रमों, खेल से जुड़े कार्यक्रमों के लिए काम कर रहे हैं  तो आप जगह की साउंड की व्यवस्था को जाँचेंगे और सेट करेंगे ।
  • लाइव कार्यक्रमों, रिकॉर्डिंग सत्र  आदि के दौरान आप साउंड के स्तर और गुणवत्ता को रेगुलेट करेंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.