परिवार पहचान पत्र बनना शुरू – इन कागजातों से बनेगा परिवार पहचान पत्र

हर परिवार की अपनी पहचान के लिए परिवार पहचान पत्र बनाना जरुरी होगा इस परिवार पहचान पत्र का फायदा यह होता है की किसी भी सरकारी योजनाओं का लाभ उठाने के लिए सरकारी दफ्तरों का चक्कर नहीं लगाना होता है, बल्कि सरकार परिवार के योग्यता केअनुसार खुद पास आती है और सभी योजनाओ का लाभ देती है।

इतना ही नहीं अगर परिवार का कोई सदस्य 18 साल का होता है तो आटोमेटिक फोन पर मैसेज आएगा कि उसका मतदाता पहचान पत्र बन गया है। सिर्फ औपचारिकताएं पूरी कर दो। इसी तरह छात्रवृत्ति, सब्सिडी सहित अन्य योजनाओं का लाभ लेने के लिए आवेदन करने की जरूरत नहीं होगी। न कहीं कोई अलग से दस्तावेज जमा कराना होगा।परिवार पहचान पत्र में शामिल अगर कोई व्यक्ति का उम्र 60 साल हो जाते है तो अपने आप बुढ़ापा का पेंशन आना शुरू हो जाता है ।

सिंगापुर और ब्राजील जैसे देश में यह सुविधा वहाँ रह रहे परिवार को दिया जाता है यही व्यवस्था हरियाणा में लागु किया गया है जो अब हरियाणा के सभी परिवार की अपनी पहचान होगी। हरियाणा पहला ऐसा राज्य बन गया है जहां हरियाणा के सभी परिवारों को मेरा परिवार-मेरी पहचान योजना के तहत परिवार पहचान पत्र (पीपीपी) बनाकर दिए जा रहे हैं।

हरियाणा राज्य के 56 लाख परिवारों का डाटा जुटाया गया है जिसमे से 18 लाख 28 हजार परिवारों के परिवार पहचान पत्र बनाने का काम तेजी से जारी है। और अगस्त 2020 के अंत तक 20 लाख परिवारों को स्मार्ट कार्ड बनाकर दे दिया जायेगा।

पीपीपी के फायदे

  • सभी सरकारी योजनाओं का लाभ लोगों को उनके दरवाजे पर मिलेगा
  • सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे।
  • लोगो के लिए सरकारी योजनाओं में होने वाले फर्जीवाड़ा थमेगा। और सभी सही लाभार्थी को ही सरकारी योजनाओं का लाभ मिलेगा.
  • सरकार के पास पूरा रिकॉर्ड रहेगा कि किस परिवार के किस व्यक्ति को किस योजना का लाभ मिल रहा है और किसको नहीं
  • बुढ़ापा पेंशन सहित तमाम पेंशन मिलेंगी
  • सरकार को पता रहेगा कि परिवार किस क्षेत्र में रहता है। हर क्षेत्र के लिए अलग कोड बनाया गया है। शहर एवं गांवों के लिए अलग कोड होगा।

बनवाने के लिए जरुरी दस्तावेज:

  1. आधार कार्ड
  2. मोबाइल नंबर
  3. राशन कार्ड (अगर है तो)

कैसे बनवा सकते है परिवार पहचान पत्र?

परिवार पहचान पत्र बनाने के लिए फॉर्म सभी राशन डिपो, तहसील कार्यालयों, खंड विकास कार्यालय, गैस एजेंसी, सरकारी स्कूलों, अटल सेवा केंद्रों और सरल सेंटर से मुफ्त में मिल जायेगा। फार्म में अपनी और परिवार के सभी सदस्यों की जानकारी भरना होगा इसके अलावा जरूरी सभी कागजात का फोटोकॉपी लगाकर जमा करना होगा।

इस पहचान पत्र से संबंधित जो भी अधिकारी होगा वो फार्म की जांच पड़ताल करेगा और अगर सब कुछ पाया जाया है तो आवेदक करने वाले परिवार को स्मार्ट कार्ड के रूप में आठ अंकों की आइडी वाला परिवार पहचान पत्र दे दिया जाएगा। इसमें भी रासन कार्ड की तरह परिवार के मुखिया का नाम सबसे ऊपर होगा, जबकि बाकी के सदस्यों की जानकारी नीचे होगी।

आवेदक की सभी प्रक्रिया पूरी होने के बाद इसका स्टेटस या अपने आवेदन की स्थिति आधिकारिक पोर्टल या सरल सेवा केंद्र की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर भी देख सकते हैंं। रजिस्ट्रेशन के समय मिला आइडी नंबर और पासवर्ड डालकर लॉग इन करने के बाद परिवार की पूरी जानकारी स्क्रीन पर दिखाई देगी।

पहचान पत्र में मौजूद सभी जानकारी को समय-समय पर अपडेट भी कराया जा सकेगा। आवेदन करते समय मोबाइल नंबर एवं ईमेल आइडी देना अनिवार्य रूप से देना होगा, क्योंकि आवेदन की सभी स्थिति की जानकारी आपको इसी मोबाइल नंबर और ईमेल आइडी पर भेजी जाएगी।

वर्तमान में मौजूद योजना:

वर्तमान में चार योजनाएं- मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना, वृद्धावस्था सम्मान भत्ता योजना, दिव्यांग जन पेंशन योजना और विधवा एवं निराश्रित महिला पेंशन योजना को परिवार पहचान पत्र के साथ जोड़ा गया है। इसके अलावा अगले तीन महीनों के अंदर हरियाणा के सभी सरकारी योजनाओं को परिवार पहचान पत्र से जोड़ा जाएगा। जिसके बाद किसी भी सरकारी योजना का लाभ उठाने के लिए परिवार पहचान पत्र अनिवार्य होगा।

घर बैठे हरियाणा के किसी भी प्रॉपर्टी का टैक्स डिटेल्स निकले और खुद से प्रॉपर्टी टैक्स भरे

Haryana Higher Education Admission

EWS Certificate Haryana: Apply online for general reservation

Haryana Jamabandi : जमाबंदी,खाता,खतौनी,खेवट,खसरा और नक़ल निकाले

सभी Important News पाने के लिए ग्रुप को JOIN कर पेज को LIKE करें

Whatsapp GroupClick Here
Telegram GroupJOIN Now
Facebook PageClick Here

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!