क्या आप जानते हैं कि तेल और पानी आपस में क्यों नहीं मिलते हैं?

क्या आप जानते हैं कि तेल और पानी आपस में क्यों नहीं मिलते हैं?

हमारे चारों ओर सब कुछ अणुओं के रूप में जाने वाले छोटे कणों से बना है। जिस तरह से दो पदार्थ परस्पर क्रिया करते हैं,

हमारे चारों ओर सब कुछ अणुओं के रूप में जाने वाले छोटे कणों से बना है। जिस तरह से दो पदार्थ परस्पर क्रिया करते हैं,

तेल तरल रूप में एक हाइड्रोकार्बन है जो छूने पे चिकना होता है और प्राकृतिक संसाधनों या वसा के टूटने से बनता है।

तेल दहनशील है जो जलता है। इसका उपयोग ईंधन के रूप में किया जाता है अर्थात् पेट्रोल भी केवल तेल से बनाया जाता है।

तेल दहनशील है जो जलता है। इसका उपयोग ईंधन के रूप में किया जाता है अर्थात् पेट्रोल भी केवल तेल से बनाया जाता है।

घरों में तेल, खाना पकाने के लिए उपयोग किया जाता है और यह चिकनाई का काम भी करता है।

तेल के अणु पानी की तुलना में बड़े होते हैं और इसलिए आसानी से मिश्रण नहीं करते हैं।

तेल के अणु पानी की तुलना में बड़े होते हैं और इसलिए आसानी से मिश्रण नहीं करते हैं।

पानी के अणु दो हाइड्रोजन परमाणुओं और एक ऑक्सीजन परमाणु से बने होते हैं। चूंकि केवल विपरीत (ध्रुव ) आकर्षित होते हैं, पानी के अणु एक दूसरे से चिपकते हैं।

तेल और पानी के अणुओं को एमुल्सिफिकशन की मदद से जोड़ा जा सकता है ।

तेल और पानी के अणुओं को एमुल्सिफिकशन की मदद से जोड़ा जा सकता है ।

यह इमल्शन पानी का एक स्थिर मिश्रण बना देती है जिसमें तेल की बूंदें फैलती हैं

यह इमल्शन पानी का एक स्थिर मिश्रण बना देती है जिसमें तेल की बूंदें फैलती हैं

इसके माध्यम से फैलने वाली पानी की बूंदों के साथ तेल बाहर नहीं निकलता है।

ज्यादा जानकारी के लिए नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करें

Arrow