बैंक पीओ की तैयारी कैसे करें? – bank po ki taiyari kaise kare

बैंक पीओ की तैयारी कैसे करें? | bank ki taiyari kaise karen | sbi po ki taiyari kaise kare | ibps po ki taiyari kaise kare | bank po ki tayari kaise kare | sbi po ki taiyari kaise karen

Contents show

आज हमारे देश में अधिकतर विद्यार्थी बैंकिंग के क्षेत्र में जाने में रुचि रखते हैं, क्योंकि प्रतिष्ठित नौकरी होने के साथ बैंक में कार्यरत लोगों को अच्छी सैलरी प्राप्त होती है। हालांकि बैंकिंग की फील्ड में नौकरी पाने के लिए उन्हें ज्यादा मेहनत करने की भी आवश्यकता होती है, क्योंकि आज के टाइम में तो लगभग सभी नौकरी में काफी ज्यादा कंपटीशन बढ़ गया है।

 हमारे देश में हर साल लाखों विद्यार्थी बैंकिंग की परीक्षा देते हैं,परंतु उसमें से कुछ ही अभ्यर्थी सफल हो पाते हैं और जो विद्यार्थी असफल हो जाते हैं वह फिर से बैंकिंग की एग्जाम की तैयारी करना प्रारंभ कर देते हैं।

बैंक पीओ की तैयारी कैसे करें?

बैंकिंग के क्षेत्र में कई सारे पद होते हैं, परंतु उन सभी पदों में से कई लोग बैंक PO बनना चाहते हैं। bank po को प्रोबेशनरी ऑफिसर कहा जाता है। बैंक पीओ बनने के लिए आपको यह पता होना चाहिए कि bank poकी तैयारी कैसे करते हैं? क्योंकि जब आपको इस बारे में जानकारी होगी तभी आप बैंक पीओ बनने का अपना सपना साकार कर सकेंगे।

बैंक PO क्या होता है?

बैंक पीओ यानी कि प्रोबेशनरी ऑफिसर,जिसका उच्चारण हिंदी में परिविक्षाधीन अधिकारी के तहत किया जाता है,यह बैंक में काम करने वाला एक कर्मचारी होता है। जब कोई नया अभ्यर्थी बैंक में असिस्टेंट मैनेजर की पोस्ट प्राप्त करता है तो असिस्टेंट मैनेजर की पोस्ट प्राप्त करने के लगभग 2 साल पहले से उसका ट्रेनिंग पीरियड स्टार्ट हो जाता है और इसी ट्रेनिंग पीरियड के दरमियान उसे प्रोबेशनरी ऑफिसर कहकर बुलाया जाता है।

bank po ki taiyari kaise kare in hindi बैंक पीओ

किसी भी बैंक में यह पोस्ट बहुत ही जिम्मेदारी वाली पोस्ट होती है और इसीलिए इस पोस्ट को प्राप्त करने के लिए अभ्यर्थियों को काफी ज्यादा हार्ड स्टडी करनी पड़ती है।

बैंक पीओ बनने के लिए क्वालिफिकेशन क्या है?

ऐसे विद्यार्थी जो किसी भी बैंक में बैंक पीओ की पोस्ट प्राप्त करना चाहते हैं, उन्हें bank po बनने के लिए इंडिया के किसी भी सर्टिफाइड यूनिवर्सिटी से तकरीबन 55% अंकों के साथ अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री को हासिल करना जरूरी है। सरकार द्वारा मान्यताप्राप्त विश्वविद्यालय या संस्थान से किसी भी विषय में ग्रेजुएट युवा आइबीपीएस सीआरपी पीओ/ एमटी-X परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं. आयु 20 से 30 वर्ष के बीच होनी चाहिए.

अगर हम स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में बैंक पीओ की रिक्रूटमेंट के बारे में बात करें तो इसमें बैचलर ऑफ आर्ट, बीकॉम,बीएससी तथा इंजीनियरिंग ग्रैजुएट लोग भी अप्लाई कर सकते हैं। बैंक पीओ बनने के लिए कोर्स या सब्जेक्ट की बाध्यता नहीं होती है। आपने चाहे किसी भी कोर्स को करके अपनी डिग्री हासिल की हो,आप bank po के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

बैंक पीओ बनने के लिए उम्र सीमा क्या है?

  • जरनल वर्ग: 21-30 साल
  • ओबीसी: 21-33 साल
  • एससी एसटी: 21-35 साल

बैंक पीओ बनने की प्रक्रिया क्या है?

बैंक में प्रोबेशनरी ऑफिसर बनने के लिए सबसे पहले आपको इसकी प्रारंभिक परीक्षा में शामिल होना पड़ता है। प्रारंभिक परीक्षा को पास करने के बाद इसकी मुख्य परीक्षा में शामिल होना पड़ता है।

मुख्य परीक्षा को पास करने के बाद आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। इंटरव्यू को पास करने के बाद आपको ट्रेनिंग पर भेज दिया जाता है और ट्रेनिंग पूरी करने के बाद आपको बैंक में प्रोबेशनरी ऑफिसर की पोस्ट मिल जाती है।

परीक्षा पैटर्न के बारे में जानें

आइबीपीएस सीआरपी पीओ/एमटी-X परीक्षा को तीन चरणों- प्रारंभिक, मुख्य व इंटरव्यू में बांटा गया है.

  • प्रारंभिक परीक्षा – ऑनलाइन होगी, जिसमें बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जायेंगे. इस परीक्षा में अंग्रेजी भाषा के 30, क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड के 35 और रीजनिंग एबिलिटी के 35 प्रश्न पूछे जायेंगे. सभी प्रश्नों को हल करने के लिए एक घंटे का समय दिया जायेगा. प्रारंभिक परीक्षा पास करनेवाले उम्मीदवार मुख्य परीक्षा में शामिल हो सकेंगे.
  • मुख्य परीक्षा 200 अंक की होगी. इसमें रीजनिंग एवं कंप्यूटर एप्टीट्यूड के 45, जनरल/ इकोनॉमी और बैंकिंग अवेयरनेस के 40, इंग्लिश लैंग्वेज के 35, डेटा एनालिसिस एवं इंटरप्रिटेशन के 35 प्रश्न पूछे जायेंगे. साथ ही 25 अंकों के दो प्रश्न लेखन और निबंध पर होंगे. सभी प्रश्नों को हल करने के लिए उम्मीदवारों को 3 घंटे, 30 मिनट का समय दिया जायेगा.

प्रारंभिक व मुख्य दोनों ही परीक्षाओं में निगेटिव मार्किंग का प्रावधान है, अतः प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1/4 यानी 0.25 अंक काट लिये जायेंगे. प्रारंभिक व मुख्य परीक्षा पास करनेवाले उम्मीदवारों को प्राप्त स्कोर के आधार पर इंटरव्यू के लिए आमंत्रित किया जायेगा.

सिलेबस को बारीकी से समझें

आइबीपीएस सीआरपी पीओ/एमटी-X परीक्षा के लिए निर्धारित सिलेबस के अनुसार तैयारी पर जोर देकर आप सफलता की राह को आसान बना सकते हैं. 

अच्छे अंक दिला सकता है अंग्रेजी सेक्शनः

प्रारंभिक परीक्षा के अंग्रेजी सेक्शन में रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन, क्लोज टेस्ट, पैरा जंबल्स, मिसलेनियस, रिक्त स्थान की पूर्ति, मल्टीपल मीनिंग/ एरर स्पॉटिंग और पैराग्राफ कंप्लीशन आदि से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं. वहीं मुख्य परीक्षा में रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन, वोकैबलरी, ग्रामर व वर्बल एबिलिटी के प्रश्न होते हैं. नियमित अभ्यास एवं बेसिक जानकारी के साथ आप इसे परीक्षा का स्कोरिंग विषय बना सकते हैं.

क्वांटिटेटिव एबिलिटी का करें अभ्यास :

इसे पेपर का कठिन सेक्शन माना जाता है. सरलीकरण, संख्या श्रृंखला, अनुपात, प्रतिशत और व्यय, लाभ और हानि, मिश्रण और आरोप, साधारण ब्याज और चक्रवृद्धि ब्याज, काम और समय, समय और दूरी, अनुक्रम और श्रृंखला, द्विघात समीकरण, क्रमपरिवर्तन और संयोजन आदि चैप्टर्स की तैयारी कर इस विषय में अच्छे अंक प्राप्त किये जा सकते हैं. 

स्कोरिंग है रीजनिंग सेक्शन :

रीजनिंग में बैठने की व्यवस्था, सिलोलिज्म, इनपुटआउटपुट, कोडिंग-डिकोडिंग, अक्षरांकीय श्रृंखला, रैंकिंग/ दिशा/ वर्णमाला परीक्षण, डेटा पर्याप्तता, पहेली तार्किक तर्क आदि शामिल होते हैं. इन प्रश्नों की तैयारी का कोई सेट फॉर्मूला नहीं होता, बल्कि आपकी प्रैक्टिस ही इन प्रश्नों को आसान बनाती है. 

X-Ray Technician Course job salary syllabus college Details in Hindi

प्रतिदिन बढ़ाएं जनरल अवेयरनेस :

जनरल अवेयरनेस का गहरा ज्ञान परीक्षा में अच्छे अंक दिलाने के साथ-साथ आपको इंटरव्यू के लिए तैयार कर सकता है. इस सेक्शन में फाइनेंशियल अवेयरनेस, करेंट अफेयर्स, जनरल नॉलेज और स्टेटिक अवेयरनेस से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं. इतिहास और मुख्य घटनाओं की जानकारी एवं रोजाना अखबार पढ़ने की आदत से आप इस सेक्शन को मजबूत बना सकते हैं. 

कंप्यूटर एप्टीट्यूड में बुनियादी ज्ञान जरूरी :

इस सेक्शन में कंप्यूटर बेसिक प्रश्न, ऑपरेटिंग सिस्टम कार्य, बुनियादी इंटरनेट ज्ञान और प्रोटोकॉल, इनपुट और आउटपुट डिवाइस, नेटवर्किंग शॉर्टकट एवं बेसिक ज्ञान, एमएस वर्ड, एमएस एक्सेल, एमएस पावर प्वॉइंट, कंप्यूटर शॉर्टकट आदि से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं. इस सेक्शन के लिए कंप्यूटर का बुनियादी ज्ञान बेहद जरूरी है. 

डेटा इंटरप्रिटेशन के लिए सीखें ट्रिक्स :

डेटा एनालिसिस एवं इंटरप्रिटेशन में सारणीकरण, पाइ चार्ट, रेखा चार्ट, लाइन ग्राफ और बार चार्ट आदि के प्रश्न हल करने होते हैं. इन प्रश्नों को हल करने में आपको काफी समय लग सकता है. ऐसे में यदि आपको शॉर्टकट फॉर्मूले और ट्रिक्स का ज्ञान होगा, तो आप इस खंड के प्रश्नों को आसानी से समय पर हल कर लेंगे.

इन बातों पर दें ध्यान

  • आइबीपीएस सीआरपी पीओ/ एमटी-X परीक्षा ऑनलाइन होगी. बेहतर होगा कि आप इसकी तैयारी भी ऑनलाइन करें.
  • आप ऑनलाइन उपलब्ध पुराने प्रश्न पत्रों को हल करके भी अपनी तैयारी को मजबूत बना सकते हैं. पुराने पेपर को हल करके आप न सिर्फ परीक्षा के पैटर्न को समझ पायेंगे, बल्कि आपकी निर्धारित समयावधि के अंदर अधिक से अधिक प्रश्नों को हल करने की प्रैक्टिस भी हो जायेगी.
  • इस परीक्षा में निगेटिव मार्किंग का प्रावधान भी है, इसलिए परीक्षा में तुक्का लगाने का प्रयास न करें. पहले उन प्रश्नों को हल करें, जिन्हें आपने अच्छे से तैयार किया है. इसके बाद मुश्किल प्रश्नों को हर करने का प्रयास करें.
  • मुख्य परीक्षा पास करने के बाद आपको रेटिंग और रैंकिंग के आधार पर इंटरव्यू में शामिल होने का मौका मिल सकता है. लिखित परीक्षा के साथ इंटरव्यू की तैयारी भी करते रहें.

बैंक पीओ का सिलेबस क्या है?

  • इंग्लिश: बैंक पीओ एग्जाम में आपसे सामान्य अंग्रेजी, सेंटेंस करेक्शन, शब्दावली और स्पेलिंग सेक्शन से संबंधित क्वेश्चन पूछे जाते हैं।
  • कंप्यूटर: इस एग्जाम में अभ्यर्थियों से कंप्यूटर से संबंधित क्वेश्चन पूछे जाते हैं।जैसे कि कंप्यूटर की हिस्ट्री, एमएस वर्ड, एमएस ऑफिस, सॉफ्टवेयर,हार्डवेयर,पावर पॉइंट इत्यादि
  • करंट अफेयर्स: इसमें अभ्यर्थियों से करंट अफेयर से संबंधित क्वेश्चन पूछे जाते हैं‌। जैसे कि इंडियन और इंटरनेशनल अर्थव्यवस्था, इंडियन कॉन्स्टिट्यूशन, स्पोर्ट्स के बारे में, बैंक के नियम के बारे में, करंट अफेयर के बारे में
  • क्वानटेटिव एप्टीट्यूड: इसमें बैंक पीओ बनने की इच्छा रखने वाले अभ्यर्थियों से साधारण ब्याज, प्रतिशत, टाइम और दूरी, लाभ और हानि से रिलेटेड क्वेश्चन पूछे जाते हैं।

delhi to manali train ticket price – दिल्ली तो मनाली ट्रेन टिकट प्राइस

इंडिया में होने वाली बैंक एग्जाम के नाम-

अगर आपको बैंक में पीओ बनना है,तो इसके लिए आपको bank po की एग्जाम को अच्छे से पास करना पड़ेगा और इसके लिए आपको काफी ज्यादा हार्ड स्टडी करनी पड़ेगी। अगर आप कड़ी मेहनत नहीं करेंगे, तो आपको अपनी मेहनत का फल बैंक पीओ बनकर प्राप्त होगा।इंडिया में आयोजित होने वाले कुछ मुख्य बैंक एग्जाम के नाम इस प्रकार हैं।

SBI POSBI CLEAR
IBPS RRB POIBPS CLERK
RBI GRADE BRBI ASSISTANT
IBPS POSBI SO
IBPS RRB CLERKIBPS SO

बैंक पीओ की तैयारी करने का तरीका क्या है?

अगर आपको बैंक में प्रोबेशनरी ऑफिसर बनना है तो इसके लिए आपको यह भी पता होना चाहिए कि बैंक पीओ की तैयारी कैसे करते हैं या फिर बैंक में प्रोबेशनरी ऑफिसर बनने के लिए प्रिपरेशन कैसे करते हैं। नीचे हम आपको कुछ महत्वपूर्ण बिंदु बता रहे हैं, जिन्हें bank po बनने के लिए आपको फॉलो करना है। हमारे द्वारा बताई गई बातों को ध्यान में अगर आप रखते हैं, तो आप bank po की पोस्ट अवश्य प्राप्त कर सकेंगे।

Master in Occupational Therapy Course colleges salary Exam

1: एक टाइम टेबल बनाएं।

 बैंक में प्रोबेशनरी ऑफिसर की पोस्ट प्राप्त करने के लिए सबसे पहले तो आपको एक टाइम टेबल क्रिएट करना होगा और उस टाइम टेबल के अंदर आपको यह लिखना होगा कि आपको कौन से दिन किस सब्जेक्ट की कितने देर तक पढ़ाई करनी है।

ऐसा करने से आपको बैंक पीओ की एग्जाम में जितने भी सब्जेक्ट से रिलेटेड क्वेश्चन आते हैं, उन सभी की तैयारी करने में आसानी होगी और आगे चल कर आगे आपको bank po की एग्जाम में अच्छे अंक हासिल करने में सहायता प्रदान करेगी।

2: पुराने प्रश्न पत्र खोजें।

 बैंक पीओ बनने के लिए आपको बैंक पीओ के पिछले 5 साल के क्वेश्चन पेपर को इकट्ठा करना है। यह क्वेश्चन पेपर आपको ऑनलाइन आसानी से इंटरनेट पर मिल जाएंगे। इन प्रश्न पत्रों को प्राप्त करने के बाद आपको इनका प्रिंट आउट निकलवा लेना है और फिर आपको उसमें जो भी क्वेश्चन पूछे गए हैं, उनकी अच्छे से स्टडी करनी है।

क्योंकि बैंक पीओ में करंट अफेयर के अलावा ऐसे कई क्वेश्चन होते हैं, जो पिछले सालों के ही होते हैं, ऐसे में अगर आप इसके पिछले 5 साल के क्वेश्चन पेपर को इकट्ठा करके उसकी स्टडी करते हैं, तो आपको यह समझ में आ जाता है कि bank po के एग्जाम में किस टाइप के क्वेश्चन पूछे जाते हैं और कौन से क्वेश्चन कितने अंक के होते हैं?

3: यूट्यूब से ऑनलाइन तैयारी करें।

वर्तमान में तो यूट्यूब भी ऑनलाइन पढ़ाई करने के लिए बहुत ही अच्छा जरिया बन गया है‌। यूट्यूब के द्वारा आप बैंक पीओ की एग्जाम की अच्छे से प्रिपरेशन कर सकते हैं,क्योंकि यूट्यूब पर ऐसे कई एजुकेशनल चैनल मौजूद हो चुके हैं, जो bank po ही नहीं बल्कि अन्य सभी प्रकार की एग्जाम की तैयारी करवाते हैं।

ऐसे में आप घर बैठे ही अगर बैंक पीओ की एग्जाम की प्रिपरेशन करना चाहते हैं,तो आप यूट्यूब का सहारा ले सकते हैं।

Master of Pharmacy course details duration syllabus eligibility salary

4: शिक्षण संस्थान में दाखिला लें।

 बैंक पीओ की एग्जाम की तैयारी करने के लिए आप कोचिंग इंस्टिट्यूट भी ज्वाइन कर सकते हैं। हालांकि जब आप कोचिंग इंस्टिट्यूट ज्वाइन करें, तो इस बात को अवश्य कंफर्म कर लें कि आप जिस कोचिंग इंस्टिट्यूट को ज्वाइन करना चाहते हैं, वहां पर अनुभवी शिक्षक है या नहीं,क्योंकि जहां पर अनुभवी टीचर होंगे, वहीं से आपको बैंक पीओ बनने की तैयारी अच्छे से करने में सहायता मिलेगी।

5: अनुभवी लोगों से मिलें

बैंक पीओ की पोस्ट प्राप्त करने के लिए अथवा बैंक पीओ बनने के लिए आपको ऐसे लोगों से भी मिलना चाहिए,जो bank po के पद पर काम कर रहे हैं या फिर जो bank po बनने की एग्जाम में शामिल हो चुके हैं।आपको उनसे bank po बनने के लिए काफी महत्वपूर्ण टिप्स प्राप्त हो सकते हैं।

इसके अलावा बैंक पीओ बनने के लिए आपको एकाउंटिंग और गणित की अच्छी या फिर बेसिक इनफार्मेशन तो होनी ही चाहिए।

बैंक पीओ की सैलरी कितनी होती है?

बैंक प्रोबेशनरी ऑफिसर को शुरुआत में महीने की सैलरी के तौर पर तकरीबन ₹20,700 से लेकर ₹42000 तक प्राप्त होते हैं और एक्सपीरियंस बढ़ने पर इनकी सैलरी बढ़ाई जाती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *