Diploma in Rural Health Care DRHC Course – डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर

diploma in rural health care course details in hindi | डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर कोर्स | diploma in rural health care hindi | डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर एडमिशन | diploma in rural health care salary | diploma in rural health care duration |

Contents hide
Diploma in Rural Health Care (DHRC) Course Importent Point

हर कोई अपनी जिंदगी में एक अच्छा मुकाम हासिल करना चाहता हैं और यह बात तो सभी जानते हैं कि, जिंदगी में अच्छा मुकाम हासिल करना मतलब जिंदगी में मान-सम्मान की प्राप्ति होना और अच्छे पैसे कमाना, क्योंकि कलयुग के इस जमाने में उसी व्यक्ति को लोग इज्जत देते हैं,जो किसी अच्छी पोस्ट पर होता है या फिर जिसके पास ज्यादा पैसा होता है। पैसे कमाने के लिए हमारे देश में सभी लोगों के पास अपॉर्चुनिटी के रास्ते हमेशा खुले रहते हैं परंतु ऐसे कम ही लोग होते हैं जो सही मौके को भाप करके उसे पकड़ लेते हैं और अपनी जिंदगी सवार लेते हैं।

Diploma in Rural Health Care (DHRC) Course Importent Point

Course NameDiploma in Rural Health Care (DHRC)
Level  Diploma
Duration of Course1 Year
Minimum QualificationClass 10th Pass
Admission ProcessMerit/ Entrance Exam
FeeINR 10,000 to INR 1,50,000/-
SalaryINR 2 LPA to INR 8 LPA

डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर कोर्स कैसे करें?

अगर आपके अंदर लोगों की सेवा भाव करने का जज्बा है या फिर आप लोगों के सुख दुख में शामिल होना चाहते हैं,तो आप डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर का कोर्स करके ग्रामीण हेल्थ केयर वर्कर बन सकते हैं और लोगों की सेवा कर सकते हैं तथा अच्छे पैसे भी कमा सकते हैं।

ग्रामीण हेल्थ केयर वर्कर की अधिकतर नियुक्ति देश के ग्रामीण इलाकों में ही होती है, इसलिए इसका नाम ग्रामीण हेल्थ केयर वर्कर रखा गया है और जो भी व्यक्ति ग्रामीण हेल्थ केयर वर्कर बनना चाहता है, वह Diploma in Rural Health Care का कोर्स करके यह कार्य कर सकता है।

Diploma in Rural Health Care (DRHC) कोर्स क्या है?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर कोर्स टोटल 1 साल का डिप्लोमा कोर्स होता है, जिसे हमारे देश के ग्रामीण इलाकों की स्वास्थ्य से संबधित जरूरतों को पूरा करने के लिए और हेल्थ की देखभाल करने के लिए तथा फर्स्ट ट्रीटमेंट, सैनिटाइजेशन और पेशेंट एजुकेशन की बेसिक इनफार्मेशन के बारे में विद्यार्थियों को ट्रेनिंग प्रदान करने के लिए तैयार किया गया है।

ग्रामीण हेल्थ केयर वर्कर क्या होता है?

 जो व्यक्ति ग्रामीण हेल्थ केयर वर्कर के पद पर काम करता है, वह एक मीडियम लेवल का वर्कर होता है, जिन्हें ट्रेनिंग के दरमियान  हेल्थ से जुड़ी सामान्य परेशानियों का निदान  अथवा इलाज कैसे किया जाता है।इसकी ट्रेनिंग दी जाती है।

ताकि जब वह ग्रामीण हेल्थ केयर वर्कर के पद पर पोस्टिंग प्राप्त करें, तो इमरजेंसी की स्थिति में वह मरीज को शुरुआती ट्रीटमेंट उपलब्ध करा सके और उसकी हाई ट्रीटमेंट के लिए उसे बड़े अस्पताल तक पहुंचा सके। ग्रामीण हेल्थ केयर वर्कर बनने के लिए डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर का कोर्स करना आवश्यक होता है।

ग्रामीण हेल्थ केयर वर्कर क्या काम करता है?

जैसा कि आप इस बात से भलीभांति परिचित हैं कि, हमारे भारत देश में अभी भी काफी भारी मात्रा में जो आबादी है, वह भारत के गांव में ही निवास करती है। ऐसे में इस कोर्स का मुख्य उद्देश्य भारत देश के ग्रामीण इलाकों की स्वास्थ्य से संबंधित समस्या से निपटना है।

अगर कोई अभ्यर्थी इस कोर्स को कर लेता है, तो इस कोर्स को कंप्लीट करने के बाद वह सेंट्रल या फिर स्टेट गवर्नमेंट में ग्रामीण स्वास्थ्य वर्कर के तौर पर नौकरी के लिए अप्लाई कर सकता है और नौकरी प्राप्त करने के बाद उनका काम गांव में रहने वाले लोगों को स्वच्छता, नॉर्मल हेल्थ टॉपिक और फैमिली प्लानिंग के बारे में बताना होता है।

Diploma in Rural Health Care (DRHC) Course Qualification

जो भी अभ्यर्थी Diploma in Rural Health Care कोर्स को करना चाहता है, उसे इसके लिए कुछ जरूरी एजुकेशन क्वालीफिकेशन को भी पूरा करना पड़ेगा, जिसकी जानकारी इस प्रकार है।

  • डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर कोर्स को करने के लिए महिला और पुरुष अभ्यर्थियों को इंडिया के किसी भी सर्टिफाइड स्कूल से दसवीं कक्षा को पास करना आवश्यक है।
  • दसवीं कक्षा में अभ्यर्थी के कम से कम टोटल 45 प्रतिशत अंक भी अवश्य होने चाहिए।

Diploma in Rural Health Care कोर्स में एडमिशन की प्रोसेस क्या है?

जो भी अभ्यर्थी डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर के कोर्स के लिए अप्लाई करना चाहता है उसे कुछ प्रक्रिया से गुजरना पड़ेगा, जिसकी जानकारी इस प्रकार है।

  • आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, Diploma in Rural Health Care के कोर्स में एडमिशन देने के लिए उम्मीदवार ने दसवीं की कक्षा में कैसा परफॉर्मेंस दिया है, इसे देखा जाता है, क्योंकि इसमें दसवीं की कक्षा में अभ्यर्थी के द्वारा दिए गए परफॉर्मेंस के आधार पर ही एडमिशन दिया जाता है।
  • Diploma in Rural Health Care के कोर्स में एडमिशन लेने के लिए एक मेरिट लिस्ट जारी की जाती है और जो अभ्यर्थी मेरिट लिस्ट के कटऑफ या फिर मेरिट को पूरा करते हैं, उन्हें ही एडमिशन दिया जाता है।

डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर कोर्स की फीस क्या है?

 बता दें हर इंस्टिट्यूट और हर कॉलेज में इसकी फीस अलग-अलग होती है। जैसे कि अगर आप प्राइवेट कॉलेज से इस कोर्स को करते हैं, तो आपको ज्यादा फीस भरनी पड़ेगी,वहीं अगर आप गवर्नमेंट कॉलेज से इस कोर्स को करेंगे, तो आपको कम फीस भरनी पड़ेगी। नीचे हम आपको प्राइवेट कॉलेज और गवर्नमेंट कॉलेज दोनों में डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर कोर्स की फीस कितनी होती है,इसकी इंफॉर्मेशन दे रहे हैं।

  • गवर्नमेंट कॉलेज : गवर्नमेंट कॉलेज में इस कोर्स की फीस कम से कम ₹5000 और अधिक से अधिक ₹35000 सालाना हो सकती है।
  • प्राइवेट कॉलेज : डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर कोर्स की फीस प्राइवेट कॉलेज में कम से कम 45,000 और अधिक से अधिक ₹1,50,000 सालाना तौर पर हो सकती है।
Institute TypeMinimum Annual FeeMaximum Annual Fee
Government CollegeRs 5000/- Rs 35,000/- 
Private CollegeRs 45,000 Rs 1,50,000/-

डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर कोर्स का सिलेबस क्या है?

इंडिया में जितने भी कॉलेज है उनमें डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर के कोर्स में जो सब्जेक्ट पढ़ाते हैं,उन सब्जेक्ट की जानकारी इस प्रकार है।

  • रूरल डेवलपमेंट: कॉन्सेप्ट एंड डाइमेंशंस
  • रूरल इकोनामी ऑफ इंडिया
  • सोशल सेक्टर ऑफ रूरल इंडिया
  • रूरल डेवलपमेंट इंस्टिट्यूशन एंड स्ट्रेटजी
  • rural development programmes in india
  • रूरल डेवलपमेंट: प्लैनिंग एंड मैनेजमेंट

Career After Diploma in Rural Health Care (DRHC) Course

आपकी इंफॉर्मेशन के लिए बता दें कि, जो भी महिला और पुरुष अभ्यर्थी डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर कोर्स को कंप्लीट कर लेते हैं, उन्हें अधिकतर स्टेट गवर्नमेंट और एनजीओ के द्वारा नौकरी पर रखा जाता है। रूरल हेल्थ केयर वर्कर सामान्य तौर पर योजना, प्रोजेक्ट और प्रोग्राम के लिए काम करते हैं, जिसे गवर्नमेंट के द्वारा या फिर गैर सरकारी संगठनों (NGO) के द्वारा डिजाइन किया जाता है।

 नीचे हम आपको कुछ ऐसे एंप्लॉयमेंट सेक्टर के बारे में इंफॉर्मेशन प्रदान कर रहे हैं, जिसे विद्यार्थी Diploma in Rural Health Care कोर्स को कंप्लीट करने के बाद आजमा सकते हैं।

  • गवर्नमेंट हेल्थ डिपार्टमेंट
  • non-government ऑर्गेनाइजेशन
  • कम्युनिटी हेल्थ सेंटर
  • नर्सिंग होम
  • गवर्नमेंट क्लिनिक
  • प्राइवेट क्लिनिक
  • गवर्नमेंट और प्राइवेट हॉस्पिटल
  • फैमिली प्लानिंग डिपार्टमेंट
  • फार्मा इंडस्ट्री

डिप्लोमा इन इन रूरल हेल्थ केयर कोर्स करने के बाद जॉब प्रोफाइल क्या है?

जो अभ्यर्थी डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर कोर्स को पूरा कर लेते हैं, उन्हें इस कोर्स को पूरा करने के बाद नीचे बताई गई जॉब प्रोफाइल प्राप्त होती है।

  • कम्युनिटी हेल्थ नर्स
  • इनफेक्शन कंट्रोल नर्स
  • इमरजेंसी नर्स
  • नरसिंग इंचार्ज

डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर कोर्स में एडमिशन के लिए कौन से डॉक्यूमेंट लगेंगे?

इस कोर्स में एडमिशन पाने के लिए आपको नीचे बताए गए डॉक्यूमेंट की आवश्यकता पड़ेगी।

  • आपकी कक्षा दसवीं पास की मार्कशीट
  • आपकी जन्म तारीख का सर्टिफिकेट
  • आपके स्कूल छोड़ने का सर्टिफिकेट यानी की टीसी अथवा एलसी
  • ट्रांसफर सर्टिफिकेट
  • डोमिसाइल सर्टिफिकेट
  • प्रोविजनल सर्टिफिकेट
  • कैरेक्टर सर्टिफिकेट
  • आरक्षण का सर्टिफिकेट
  • विकलांगता का सर्टिफिकेट
  • फोन नंबर
  • ईमेल आईडी
  • पासपोर्ट साइज की चार रंगीन फोटो
  • आपके सिग्नेचर
  • माइग्रेशन सर्टिफिकेट

नोट: हर कॉलेज के द्वारा डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ के कोर्स में एडमिशन पाने के लिए जो डॉक्यूमेंट लगते हैं, उसकी लिस्ट जारी की जाती है। इसलिए आप यह कंफर्म कर लें कि हमने आपको ऊपर लिस्ट में जिन डॉक्यूमेंट के बारे में जानकारी दी है, वह आपके पास है या नहीं। इसके अलावा इस बात का भी ध्यान रखें कि जब आप एडमिशन लेने के लिए जाएं, तब अपने साथ एडमिशन की फीस भी अवश्य लेकर जाएं।

Diploma in Rural Health Care Best College

नीचे डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर का कोर्स करने के लिए इंडिया के बेस्ट कॉलेज की इनफार्मेशन उपलब्ध है।

डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर कोर्स करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है?

अगर Diploma in Rural Health Care कोर्स को कंप्लीट कर लेने के बाद अभ्यर्थियों की मंथली सैलरी के बारे में बात करें तो यह हर राज्य में अलग-अलग होती है। हालांकि एक बात तो तय है कि शुरुआत में आपको इस फील्ड में कम सैलरी मिलती है,परंतु एक्सपीरियंस बढ़ने पर और काम के साल बढ़ने पर आपकी पदोन्नति भी होती है और आपकी सैलरी भी बढ़ाई जाती है। सामान्य तौर पर स्टार्टिंग में Diploma in Rural Health Care कोर्स को कंप्लीट कर चुके अभ्यर्थियों को ₹10,000 से लेकर ₹12,000 तक की सैलरी मंथली प्राप्त होती है, लेकिन भविष्य में इनकी सैलरी में इजाफा होता है।

Also read..

FAQ:

Q1: Diploma in Rural Health Care कोर्स कितने साल का कोर्स होता है?

Ans: यह कोर्स टोटल 1 साल का कोर्स होता है।

Q2: यह किस टाइप का कोर्स है?

Ans: यह डिप्लोमा सर्टिफिकेट टाइप का कोर्स है।

Q3: Diploma in Rural Health Care कोर्स को करने के लिए कम से कम शैक्षणिक योग्यता क्या है?

Ans: इसके लिए कम से कम शैक्षिक योग्यता 10वीं पास है।

Q4: क्या हिंदी मीडियम के विद्यार्थी डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर का कोर्स कर सकते हैं?

Ans: जी हां बिल्कुल हिंदी मीडियम ही नहीं अपितु किसी भी मीडियम से दसवीं कक्षा को पास करने के बाद विद्यार्थी Diploma in Rural Health Care का कोर्स कर सकते हैं।

Q5: DRHC का फुल फॉर्म क्या है?

Ans: डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर (Diploma in Rural Health Care)

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!